VIDEO: पाकिस्तान में छप रहे हैं 2000 रुपये के नकली नोट, ऐसे पहचानें असली

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने 2000 रुपये के नकली नोटों की एक खेप बरामद की है. ऐसे में आम आदमी की 2000 रुपये के नोट को लेकर टेंशन बढ़ गई है. इसीलिए आज हम आपको असली और नकली नोट के बीच का अंतर बता रहे है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 12, 2018, 7:18 AM IST
  • Share this:
दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने 2000 रुपये के नकली नोटों की एक खेप बरामद की है. स्पेशल सेल के कब्जे में आए बिल्कुल असली दिखने वाले ये दो-दो हजार के नोट नकली हैं. कुल साढ़े सात लाख रुपये मूल्य के दो हजार के ये नकली नोट छपे तो पाकिस्तान में हैं, लेकिन भारतीय अर्थव्यवस्था को तोड़ने के लिए दिल्ली तक पहुंच गए. ऐसे में लोगों को अभी तक भी यह जानकारी नहीं है कि नए नोटों के असली होने की पहचान कैसे की जाए. बैंकों से मिलने वाले नोट जाली होने की आशंका बिल्कुल नहीं है. लेकिन बाजार में चलन में मौजूद नए नोटों के क्लोन जरूर हो सकते हैं. ऐसे में आपको नए नोटों की पहचान होना जरूरी है.

ऐसे पहचानें 2000 के असली नोट
>> नोट को लाइट के सामने रखने पर यहां 2000 लिखा दिखेगा.
>> आंख के सामने 45 डिग्री के एंगल पर रखने पर यहां 2000 लिखा दिखेगा.
>> देवनागरी में 2000 लिखा दिखेगा.
>> सेंटर में महात्मा गांधी की तस्वीर है.


>> छोटे-छोटे अक्षरों में RBI और 2000 लिखा है.

ये है दुनिया का सबसे एडवांस्ड नोट, अब गीले होने और फटने का नहीं है डर


>> सिक्योरिटी थ्रीड है इसपर भारत, RBI और 2000 लिखा है. नोट को हल्का से मोड़ने पर इस थ्रीड का कलर हरा से नीला हो जाता है.
>> गारंटी क्लॉज, गवर्नर के सिग्नेचर, प्रॉमिस क्लॉज और आरबीआई का लोगो दाहिनी तरफ है.
>> यहां महात्मा गांधी की तस्वीर और इलेक्ट्रोटाइप (2000) वाटरमार्क है.ऑ
>> ऊपर में सबसे बाईं तरफ और नीचे में सबसे दाहिने तरफ लिखे नंबर बाएं से दाएं तरफ बड़े होते जाते हैं.
>> यहां लिखे नंबर 2000 का रंग बदलता है. इसका कलर हरा से नीला हो जाता है.
>> दाहिनी तरफ अशोक स्तम्भ है.

दृष्टिहीनों के लिए
महात्मा गांधी की तस्वीर, अशोक स्तम्भ के प्रतीक, ब्लीड लाइन और पहचान चिन्ह खुरदरे से हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज