Home /News /business /

how to prepay rs 50 lakh home loan of 20 years in 10 years and save nearly rs 31 lakh in interest arnod

50 लाख का होम लोन 20 साल की बजाय 10 साल में ऐसे चुकाएं, बचेंगे 31 लाख रुपये ब्याज

रेगुलर प्री-पेमेंट के जरिये कम समय में ही लोन चुकता कर सकते हैं.

रेगुलर प्री-पेमेंट के जरिये कम समय में ही लोन चुकता कर सकते हैं.

प्री-पेमेंट के जरिये आप कम समय में अपना होम लोन चुका सकते हैं. इसके तहत बैंक एवं फाइनेंस कंपनी ग्राहकों को ये सुविधा देती हैं कि वे लोन अवधि के दौरान जब चाहें ईएमआई (मासिक किस्त) के अलावा जितनी चाहें उतनी राशि का प्री-पेमेंट कर सकते हैं. यह राशि होम लोन के प्रिसिंपल अमाउंट से कट जाता है यानी आपका प्रिसिंपल अमाउंट कम होता जाता है. इसका फायदा यह होता है कि न सिर्फ लोन की अवधि कम हो जाती है बल्कि ब्याज के रूप में भी एक बड़ी राशि आप बचा सकते हैं.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. रिजर्व बैंक ने महंगाई को नियंत्रित करने के लिए 2 साल बाद ब्याज दरों में बढ़ोतरी का सिलसिला शुरू कर दिया है. मई की शुरुआत में केंद्रीय बैंक ने रेपो रेट में 40 बेसिस प्वाइंट की वृद्धि की है. इस वजह से होम लोन सहित सभी तरह के कर्ज महंगे हो गए हैं. आने वाले दिनों में आरबीआई ब्याज दरों में और बढ़ोतरी करेगा, इस बात के पूरे संकेत मिल चुके हैं.

नए जमाने के होम लोन ग्राहक बेहतर सुविधा चाहते हैं. होम लोन के लिए बैंक या वित्तीय कंपनी चुनते समय वे ब्याज दरों से ज्यादा दूसरी सुविधाओं को देखते हैं. उनकी कोशिश होती है कि प्री-पेमेंट के जरिये जल्द से जल्द लोन खत्म कर दिया जाए. इसलिए वे इस बारे में बैंकों से ज्यादा जानकारी हासिल करते हैं. हम आपको यहां बता रहे हैं कि कैसे ज्यादा से ज्यादा लोन की राशि को कम समय में चुका दिया जाए. इसके लिए आप इन विकल्पों का इस्तेमाल कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें- जून में बदल जाएंगे लोन- बीमा सहित ये 5 नियम, आपकी जेब पर डालेंगे सीधा असर

प्री-पेमेंट करें
प्री-पेमेंट के जरिये आप कम समय में अपना होम लोन चुका सकते हैं. इसके तहत बैंक एवं फाइनेंस कंपनी ग्राहकों को ये सुविधा देती हैं कि वे लोन अवधि के दौरान जब चाहें ईएमआई (मासिक किस्त) के अलावा जितनी चाहें उतनी राशि का प्री-पेमेंट कर सकते हैं. यह राशि होम लोन के प्रिसिंपल अमाउंट से कट जाता है यानी आपका प्रिसिंपल अमाउंट कम होता जाता है. इसका फायदा यह होता है कि न सिर्फ लोन की अवधि कम हो जाती है बल्कि ब्याज के रूप में भी एक बड़ी राशि आप बचा सकते हैं.

कैसे करें प्री-पेमेंट
इसके तहत आप दो तरीके से प्री-पेमेंट कर सकते हैं. होम लोन ग्राहक अपनी आर्थिक क्षमता के हिसाब से इसका चुनाव कर सकते हैं. या तो बीच-बीच में एकमुश्त प्री-पेमेंट करते रहें या फिर थोड़े-थोड़े अंतराल पर या हर महीने कुछ-कुछ राशि का प्री-पेमेंट करते रहें. जब भी आपके पैसा बड़ा अमाउंट आए या खर्च से अतिरिक्त राशि बचे तो प्री-पेमेंट कर दें. अगर हर साल बोनस मिलता है तो उसका भी इस्तेमाल प्री-पेमेंट में कर सकते हैं.

प्री-पेमेंट करते समय इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि आपने फ्लोटिंग रेट पर लोन लिया है या फिक्स्ड रेट पर. फिक्स्ड रेट पर लोन लेने वाले ग्राहकों द्वारा प्री-पेमेंट करने पर बैंक प्री-पेमेंट चार्ज वसूलते हैं. अगर आप सिस्टमेटिक पार्ट पेमेंट यानी हर महीने थोड़ा-थोड़ा प्री-पेमेंट का विकल्प चुनते हैं तो इसके आपको काफी आसानी होगी. इससे आप पर ज्यादा आर्थिक बोझ भी नहीं पड़ेगा और आप भविष्य में बड़ी राशि भी बचा सकेंगे.

ये भी पढ़ें-  Job Alert! 39 हजार युवाओं की भर्ती करेगा डाक विभाग, जल्‍दी करें आवेदन, बचें हैं सिर्फ कुछ ही दिन

उदाहरण के तौर पर अगर आपने 50 लाख रुपये का होम लोन 7 फीसदी ब्याज पर 20 साल के लिए लिया है तो आपकी ईएमएआई 38,765 रुपये बनेगी. पहले महीने की ईएमआई में से 9,598 रुपये मूलधन और बाकी 29,167 रुपये ब्याज की राशि होगी. धीरे-धीरे मूलधन की राशि बढ़ती जाएगी और ब्याज की राशि घटती जाएगी. शुरुआती कुछ सालों में ईएमआई में ज्यादातर हिस्सा ब्याज का ही होता है. ऐसे में अगर आप प्री-पेमेंट का विकल्प चुनते हैं और हर महीने 19,600 रुपये प्री-पेमेंट करते हैं तो 10 साल में आपका पूरा लोन चुकता हो जाएगा. साथ ही आप 30,87,266 रुपये का ब्याज बचा सकेंगे.

Tags: Bank Loan, Home loan EMI, Housing loan, Taking a home loan

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर