निष्क्रिय Paytm, Freecharge और Mobikwik वॉलेट को कैसे करें रीएक्टिवेट, जानिए पूरा प्रोसेस

यदि आप ऐप का उपयोग करके नियमित रूप से खर्च करते हैं, तो आपको चिंता करने की आवश्यकता नहीं है.

यदि आप ऐप का उपयोग करके नियमित रूप से खर्च करते हैं, तो आपको चिंता करने की आवश्यकता नहीं है.

भारतीय रिजर्व बैंक के दिशानिर्देशों के अनुसार, एक साल तक कोई लेनदेन नहीं होने पर ई-वॉलेट को इनएक्टिव माना जाता है.

  • Share this:
नई दिल्ली. हाल ही में देश के बड़े डिजिटल वॉलेट में से एक मोबिक्विक (MobiKwik) ने अपने यूजर्स के लिए रीएक्टिवेशन प्रोग्राम की घोषणा की थी. इनएक्टिव यानी निष्क्रिय यूजर्स को फिर से सक्रिय होने के लिए मैसेज भेजे गए थे. जिन लोगों ने पिछले एक साल से मोबिक्विक ऐप का इस्तेमाल कर कोई लेनदेन नहीं किया, उन्हें अपने ई-वॉलेट को फिर से सक्रिय करने के लिए एक नोटिफिकेशन भेजी गई थी.

मोबिक्विक के को-फाउंडर उपासना टाकू ने कहा, ''जो यूजर्स फिर से एक्टिव नहीं होते हैं उन्हें अपनी वॉलेट सेवाओं को जारी रखने के लिए नाममात्र वॉलेट मेंटेनेंस चार्ज (Wallet Maintenance Charge) देना पड़ सकता है.'' गौरतलब है कि पेटीएम और फ्रीचार्ज जैसी बड़े ई-वॉलेट कंपनी ने अभी तक अपने इनएक्टिव यूजर्स के लिए अभी तक ऐसा कोई चार्ज लागू नहीं किया है.

ये भी पढ़ें- LPG Gas Subsidy Status: क्या आपके अकाउंट में आ रही है गैस सब्सिडी, ऐसे आसानी से करें पता



क्या है इनएक्टिव वॉलेट
भारतीय रिजर्व बैंक के दिशानिर्देशों के अनुसार, एक साल तक कोई लेनदेन नहीं होने पर ई-वॉलेट (मोबाइल वॉलेट) जैसे प्रीपेड इंस्ट्रूमेंट को इनएक्टिव माना जाता है. इनएक्टिव होने पर ई-वॉलेट कंपनी आपको नोटिफिकेशन भेज सकते हैं.

ये भी पढ़ें- बहुत आसान है Credit Card Statement समझना, जानें किन-किन चीजों की मिलती है जानकारी

यदि आप अपने ई-वॉलेट में पैसा जोड़ते हैं या ऐप का उपयोग करके नियमित रूप से खर्च करते हैं, तो आपको चिंता करने की आवश्यकता नहीं है. जब आपका वॉलेट इनएक्टिव होता है, तो आपको फिर से लेन-देन शुरू करने के लिए इसे फिर से एक्टिव करने की आवश्यकता होती है.

Mobikwik यूजर्स को देना होगा वॉलेट मेंटेनेंस चार्ज
मोबिक्विक अपने इनएक्टिव यूजर्स से 100 रुपये से 140 रुपये के बीच वॉलेट मेंटेनेंस चार्ज वसूल करेगा. अगर यूजर 7 दिन की नोटिस के अंदर अपने वॉलेट को एक्टिव नहीं करते हैं तो वॉलेट मेंटेनेंस चार्ज लगेगा. हालांकि मेंटेनेंस चार्ज के डेबिट होने के बाद भी कोई यूजर्स वॉलेट को 40 दिन के अंदर फिर से एक्टिव करता है तो यह पैसे वापस कर दिए जाएंगे.

यदि आपका फ्रीचार्ज ई-वॉलेट इनएक्टिव है, तो आपको अपने पैन और वॉलेट से जुड़े रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर का उपयोग करके ऐप के माध्यम से वेरिफिकेशन करने की जरूरत होगी. यदि आप अपने मोबिक्विक वॉलेट को फिर से एक्टिव करना चाहते हैं, तो आपको कस्टमर केयर से संपर्क करना होगा और निर्धारित मानदंडों का पालन करना होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज