अलर्ट! क्‍या आपके पास भी आया रिवॉर्ड पॉइंट का मैसेज, पहले सुन लें SBI की सलाह

पिछले कुछ दिनों से SBI लगातार अपने ग्राहकों को एस एसएमएस भेज रहा है. इसमें बताया जा रहा है कि कैसे रिवॉड पॉइंट के नाम पर ठगी हो रही है. ये जालसाज लोगों के क्रेडिट कार्ड के डिटेल हासिल उन्हें लाखों रुपये का चूना लगा रहे है. आइए जानें पूरा मामला...

News18Hindi
Updated: October 14, 2018, 6:20 AM IST
अलर्ट! क्‍या आपके पास भी आया रिवॉर्ड पॉइंट का मैसेज, पहले सुन लें SBI की सलाह
SBI ने ग्राहकों को SMS भेजकर किया अलर्ट! बाताया कैसे रिवॉर्ड पाइंट के नाम पर खाली हो रहे हैं अकाउंट
News18Hindi
Updated: October 14, 2018, 6:20 AM IST
सरकारी बैंक एसबीआई (स्टेट बैंक ऑफ इंडिया) अपने ग्राहकों को बेहतर सुविधा देने और उनके पैसों की सुरक्षा के लिए लगातार कदम उठाता रहता है. पिछले कुछ दिनों से बैंक लगातार अपने ग्राहकों को एक एसएमएस भेज रहा है. इसमें बताया जा रहा है कि कैसे रिवॉड पॉइंट के नाम पर ठगी हो रही है. ये जालसाज लोगों के क्रेडिट कार्ड के डिटेल हासिल उन्हें लाखों रुपये का चूना लगा रहे है. आइए जानें पूरा मामला...

ये भी पढ़ें-सावधान! SBI 1 दिसंबर के बाद बंद कर देगा आपकी इंटरनेट बैंकिंग सर्विस! जानें पूरा मामला

ग्राहकों को भेजा ये SMS- बैंक ने अपने भेजे एसएमएस में बताया है कि उन लोगों से सावधान रहना है जो आपकों रिवॉर्ड पाइंट के नाम पर गिफ्ट वाउचर देने का वादा करते है. बैंक का कहना है कि कभी भी आपको अपने क्रेडिट कार्ड की डिटेल नहीं देनी है. साथ ही, ओटीपी (वन टाईम पासवर्ड) शेयर नहीं करना है. बैंक ने इस मैसेज में एक वीडियो का लिंक पर भी शेयर किया है. इस वीडियो में बताया है कि कैसे जालसाज लोगों को ठग रहे है. (ये भी पढ़ें- सावधान! नए जमाने के चोर ऐसे रखतें है आपके पैसों पर नज़र, खाली कर देते हैं अकाउंट!)

ऐसे लगाते है लोगों को चूना- दिल्ली के मयूर विहार फेस -1 के पास रहने वाले अमित चौहान बताते है कि एक दिन उनके पास रिवार्ड पॉइंट्स रीडिम करने का SMS आया. यह रिवॉर्ड पॉइंट SMS फॉर्म पर लेकर गया. यहां उनसे उनकी निजी जानकारियां मांगी गई. इसमें ईमेल, डेबिट कार्ड नंबर आदि शामिल थे. इस फॉर्म के जरिए ही उनसे डेबिट कार्ड की जानकारियां भी मांगी गई.

जैसे ही उन्होंने पूरा फार्म भरा, वैसे ही कुछ मिनट में उनके कार्ड से बड़ी ट्राजेंक्शन (पैसों का लेन-देन) का मैसेज उन्हें मिला. इसके बाद उन्होंने इसकी शिकायत पुलिस थाने में की. एक्सपर्ट्स बताते हैं कि ये लोग ओटीपी ईमेल हैक कर पता कर लेते है.

ऐसे बचें- बैंक का कहना है कि न तो कभी भी बैंक के अधिकारी और न ही एसएमएस और ई-मेल भेजकर बैंक आपसे आपकी बैंक खाते की कोई जानकारी मांगता है. इसीलिए हमेशा ऐसे एसएमएस से बचकर रहना चाहिए. अगर आपके साथ कोई भी फ्रॉड हो जाए तो इसकी रिपोर्ट तुरंत पुलिस में करें. साथ ही, बैंक की वेबसाइट पर उपलब्ध नंबर के जरिए बैंक को भी इस बारे में बताएं.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर