फ्रीज हो गया है NPS अकाउंट तो ऐसे करें चालू, रिटायरमेंट के बाद भी नहीं होगी पैसों की दिक्कत

फ्रीज हो गया है NPS अकाउंट तो ऐसे करें चालू, रिटायरमेंट के बाद भी नहीं होगी पैसों की दिक्कत
सरकार की इस योजना का लें लाभ

आपको अपने नेशनल पेंशन सिस्टम (National Pension System) अकाउंट में ऑनलाइन लॉग-इन करने में दिक्कत हो रही है तो इसका मतलब यह फ्रीज हो गया है. आज हम आपको बता रहें हैं इसे कैसे दोबारा चालू किया जा सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 3, 2020, 5:54 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. NPS सरकारी व प्राइवेट सेक्टर के कर्मचारियों के लिए सरकार और पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (PFRDA) की एक निवेश स्कीम है. NPS से जुड़े हर तरह के फायदे लेने के लिए इसका चालू रहना जरूरी है यानी अकाउंट फ्रीज नहीं होना चाहिए. दरअसल NPS अकाउंट में एक वित्त वर्ष में मिनिमम अमाउंट जमा करना जरूरी है. अगर ऐसा नहीं होता है तो अकाउंट फ्रीज हो जाता है. आपको अपने नेशनल पेंशन सिस्टम (National Pension System) अकाउंट में ऑनलाइन लॉग-इन करने में दिक्कत हो रही है तो इसका मतलब यह फ्रीज हो गया है.

इसमें नौकरी काल के दौरान निवेश करने पर व्यक्ति को 60 साल की उम्र पर पहुंचने पर एकमुश्त रिटायरमेंट फंड और बाद में एन्युटी बेनिफिट उपलब्ध होता है. इसके साथ ही NPS में जमा पर टैक्स छूट भी मिलती है.

एनपीएस अकाउंट क्यों फ्रीज होता है?
NPS के तहत दो तरह के अकाउंट खुलते हैं टियर-1 और टियर-2. टियर-1 एक रिटायरमेंट अकाउंट होता है, वहीं टियर-2 एक वॉलंटरी अकाउंट है, जिसमें कोई भी वेतनभोगी अपनी तरफ से निवेश शुरू कर सकता है. टियर-1 अकाउंट खुलने के बाद ही टियर-2 खाता खुलता है. एनपीएस टियर-1 को सक्रिय रखने के लिए सालाना कॉन्ट्रिब्यूशन पहले ही 6,000 रुपये घटाकर 1,000 रुपये कर दिया गया है. यदि न्यूनतम सालाना निवेश नहीं किया जाता है तो खाते को फ्रीज कर उसे निष्क्रिय कर दिया जाता है.
ये भी पढ़ें : लोन मोरेटोरियम पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा- ब्याज पर ब्याज लेकर ईमानदार कर्जदारों को दंडित नहीं कर सकते



NPS ऑनलाइन ऐसे करें चालू
आप एनपीएस अकाउंट को ऑनलाइन भी दोबारा चालू कर सकते हैं. इसके लिए र्इ-एनपीएस पोर्टल के जरिए 500 रुपये का अनिवार्य निवेश करना होगा. यह काम आप ऐसे कर सकते हैं. पहले र्इएनपीएस पोर्टल पर जाएं. वहां 'कॉन्ट्रिब्यूशन' पर क्लिक करें. पर्मानेंट रिटायरमेंट अकाउंट नंबर (पीआरएन) और जन्मतिथि दर्ज करने पर आपको अगले पेज में कॉन्ट्रिब्यूशन करने की अनुमति मिलेगी. 500 रुपये का न्यूनतम कॉन्ट्रिब्यूशन हो जाने पर आपको सीआरए से र्इमेल मिलेगा. इसके बाद एनपीएस अकाउंट में निवेश शुरू किया जा सकता है.

कैसे बंद एनपीएस अकाउंट को चालू करें?
किसी वित्त वर्ष के दौरान कम से कम 500 रुपये के निवेश के साथ एनपीएस अकाउंट को दोबारा चालू किया जा सकता है. आप इसे या तो पीओपी-एसपी (पॉइंट ऑफ परचेज सर्विस प्रोवाइड) या र्इएनपीएस के जरिये ऑनलाइन चालू कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें : 50 साल से ज्यादा उम्र के कर्मचारियों के काम पर सरकार रखेगी नजर, गड़बड़ होने पर करेगी छुट्टी

पीओपी-एसपी (ऑफलाइन) के जरिए कैसे चालू करें?
खाते को ऑफलाइन दोबारा चालू करने के लिए आप पीओपी के दफ्तर में जाएं. पीओपी की अधिकृत ब्रांचें कलेक्शन पॉइंट के तौर पर काम करती हैं. इन्हें पॉइंट ऑफ प्रेजेंस सर्विस प्रोवाइडर्स (पीओपी-एसपी) भी कहा जाता है. पीओपी-एसपी के जरिए कॉन्ट्रिब्यूशन करने के लिए आपको एनसीआर्इएस (एनपीएस कॉन्ट्रिब्यूशन इंस्ट्रक्शन स्लिप) भरना होगा. इसमें पेमेंट का विवरण, पीआरएएन इत्यादि शामिल होते हैं.

NPS अकाउंट अनफ्रीज करने के लिए एप्लीकेशन, कॉन्ट्रीब्यूशन व पेनल्टी प्राप्त होने के बाद डिटेल्स को सिस्टम में रिकॉर्ड कर दिया जाता है. सेंट्रल रिकॉर्डकीपिंग एजेंसी (CRA) में योगदान की सूचना अपलोड होने के बाद और वेरिफिकेशन पूरा होने के बाद एनपीएस अकाउंट को फिर से एक्टिवेट कर दिया जाता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading