जानिए अगले हफ्ते कैसी रहेगी बाजार की चाल, ट्रेडर्स की रहेगी कहां पर नजर

अनिश्चितताओं के बीच अगले हफ्ते बाजार में उतार-चढ़ाव बना रहेगा

अनिश्चितताओं के बीच अगले हफ्ते बाजार में उतार-चढ़ाव बना रहेगा

जानकारों का कहना है कि कोरोना के बढ़ते मामलों और वैक्सीन से जुड़ी अनिश्चितताओं के बीच अगले हफ्ते बाजार में उतार-चढ़ाव बना रहेगा. ग्लोबल संकेतों और मार्च तिमाही के नतीजों के दौर के बीच बाजार में stock-specific action दिखाई देगा.

  • Share this:

नई दिल्ली. शेयर मार्केट (Share market) में निवेश करने वालों को कल से शुरू हो रहे नए सप्ताह के साथ कई उम्मीदें भी है. निवेशकों (Investors )को उम्मीद है कि आने वाला सप्ताह निवेश और उतार-चढ़ाव के हिसाब से उनके लिए अच्छा साबित हो सकता है. ऐसा इसलिए भी कहा जा रहा है क्योंकि लगातार 3 हफ्ते की गिरावट के बाद 30 अप्रैल को खत्म हुए पिछले हफ्ते में बाजार में रिबाउंड देखने को मिला. इसकी वजह उम्मीद से बेहतर चौथी तिमाही के नतीजे और US FDA की नीति में नरमी रही. हालांकि मंथली एक्सपायरी के बाद कोविड से जुड़ी चिंताओं की वजह से आए बिकवाली के दबाव ने बाजार की बढ़ोतरी पर सीमित रखा.



पिछले हफ्ते सेंसेक्स 903.91 पॉइंट यानी 1.89 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ 48,782.36 पर बंद हुआ. वहीं निफ्टी 289.75 पाइंट यानी 2.02 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ 14,631.10 पर बंद हुआ. पिछले हफ्ते BSE मिड कैप इंडेक्स में 1.9 फीसदी और स्माल कैप इंडेक्स में 3.2 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की.



अनिश्चितताओं के बीच बना रहेगा उतार-चढ़ाव



जानकारों का कहना है कि कोरोना के बढ़ते मामलों और वैक्सीन से जुड़ी अनिश्चितताओं के बीच अगले हफ्ते बाजार में उतार-चढ़ाव बना रहेगा. ग्लोबल संकेतों और मार्च तिमाही के नतीजों के दौर के बीच बाजार में stock-specific action दिखाई देगा. कल से शुरू होने वाले हफ्ते में हमें उतार-चढ़ाव और बढ़ता नजर सकता है. सैम्को सिक्योरिटीज (Samco Securities) की निराली शाह (Nirali Shah) का कहना है कि अगले हफ्ते बाजार पर 2 फैक्टर खास असर डालेंगे. इसमे पहला है तिमाही नतीजे और दूसरा है कोविड के बढ़ते मामले.


ये भी पढ़ें - कोरोना से जंग में आगे आई यह कंपनी, भारत को 10 लाख डॉलर दान करने का ऐलान!



  


जानिए कुछ खास फैक्टर्स





कल से शुरू होने वाले हफ्ते में बाजार रिलायंस के नतीजों पर अपना रिएक्शन देगा. इसके अलावा 1 मई से आने शुरू हुए अप्रैल के ऑटो बिक्री के आंकड़े भी बाजार के मूड पर अपना असर दिखाएंगे.  2 मई को 5 राज्यों के चुनावी नतीजों पर फोकस रहेगा और 3 मई से शुरू होने वाले कारोबारी हफ्ते पर इन नतीजों का असर दिखेगा. इसके अलावा 3 मई को मार्केट मैन्युफैकचरिंग PMI (Markit Manufacturing PMI) और 5 मई को मार्केट सर्विसेज PMI (Markit Services PMI) के डेटा आएंगे. ये बाजार सेंटिमेंट पर अपना असर दिखाएंगे. इन सबके अलावा अगले हफ्ते बाजार पर असर कोविड और इसकी वैक्सीन से जुड़ी खबरों का भी असर होगा. भारतीय बाजार की नजर ग्लोबल संकेतों पर टिकी रहेगी.

  

टेक्निकल व्यू  (Technical View)

निफ्टी 50 में शुक्रवार के कारोबार में 1.77 फीसदी की गिरावट दर्ज हुई और इसनें डेली चार्ट पर बेयरिस कैंडल (bearish candle) बनाया. हालांकि इस हफ्ते के दौरान निफ्टी में 2 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है और वीकली स्तर पर bullish candle बनता दिखा. वहीं जानकारों का मानना है कि अगर निफ्टी आने वाले दिनों में 14,600 के ऊपर टिके रहने में कामयाब रहता है तो फिर हमें इसमें और मजबूती आगे दिखाई देगी.  निफ्टी एक बार फिर 15,000 स्तर छू सकता है. लेकिन अगर किसी स्थिति में निफ्टी नीचे की तरफ 14,600 का स्तर पर ब्रेक होता है तो फिर इसमें और बिकवाली होगी. 



ये भी पढ़ें - अगले दो साल में 15 लाख करोड़ रुपये से बनेगी सड़क, गडकरी ने दी जानकारी, यहां पढ़ें इसके बारे में..







डिफेंसिव (defensive) शेयरों पर फोकस करें: मिश्रा



रेलीगेयर ब्रोकिंग के अजीत मिश्रा (Ajit Mishra) का कहना है कि अगले हफ्ते डिफेंसिव (defensive) शेयरों पर फोकस करें. और बहुत ज्यादा leveraged positions लें . अगले हफ्ते बाजार की कॉरपोरेट एक्कशन और IPO पर भी नजर बनी रहेगी.  3 मई तक पॉवर ग्रिड इनबिट (PowerGrid InvIT) IPO खुला रहेगा. अभी तक यह इश्यू 27 फीसदी भरा है.


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज