होम /न्यूज /व्यवसाय /

खुशखबरी! ये कंपनी अपने कर्मचारियों को देगी दोगुनी सैलरी के साथ ₹2044 करोड़ का बोनस

खुशखबरी! ये कंपनी अपने कर्मचारियों को देगी दोगुनी सैलरी के साथ ₹2044 करोड़ का बोनस

कवर्धा में सरपंच ठगी का शिकार हुआ है. (सांकेतिक फोटो).

कवर्धा में सरपंच ठगी का शिकार हुआ है. (सांकेतिक फोटो).

दुनिया की दूसरी बड़ी स्मार्टफोन निर्माता कंपनी हुवावे अपने कर्मचारियों की टीम को 28.6 करोड़ डॉलर (2044 करोड़ रुपए) का बोनस देगी. ये बोनस कंपनी अमेरिकी प्रतिबंध की मुश्किलों से उबारने की कोशिश में जुटे अपने कर्मचारियों को देगी.

    नई दिल्ली. दुनिया की दूसरी बड़ी स्मार्टफोन निर्माता कंपनी (Smartphone Manufacturing Company)  हुवावे (Huawei) अपने कर्मचारियों की टीम को 28.6 करोड़ डॉलर (2044 करोड़ रुपए) का बोनस (Bonus) देगी. ये बोनस कंपनी अमेरिकी प्रतिबंध की मुश्किलों से उबारने की कोशिश में जुटे अपने कर्मचारियों को देगी. मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो पैसे कंपनी की रिसर्च एंड डेवलपमेंट (R&D Team) टीम को मिल सकती है. बता दें कि ये टीम कंपनी की यूएस पर निर्भरता को शिफ्ट करने के प्रयासों पर काम कर रही है. न्यूज एजेंसी रॉयटर्स ने मंगलवार को ये जानकारी दी, इसमें यह भी कहा गया है की हुवावे अपने सभी 1.90 लाख कर्मचारियों को इस महीने दोगुना वेतन भी देगी.

    अमेरिका ने हुवावे को मई में कर दिया था ब्लैकलिस्ट, जानिए क्या था मामला?
    >> हुवावे का कहना है कि वह अमेरिकी हार्डवेयर के विकल्प तलाश रही है. अमेरिका ने हुवावे को मई में ब्लैकलिस्ट कर वहां की कंपनियों से कारोबार करने पर रोक लगा दी थी. इससे हुवावे को दिक्कतें होने लगीं, क्योंकि वह अपने उपकरणों के प्रमुख पार्ट्स की सप्लाई के लिए अमेरिकी फर्मों पर निर्भर थी.

    ये भी पढ़ें: 3000 रु की पेंशन स्कीम में क्यों दिलचस्पी नहीं ले रहे ये लोग, क्या है मामला?

    >> अमेरिका ने हुवावे पर बैन लगाने के पीछे दलील दी थी कि उसके उपकरणों से सुरक्षा को खतरा है. यूएस का मानना है कि हुवावे के फाउंडर रेन झेंगफे की चीन की सरकार से नजदीकियां हैं. अमेरिका हुवावे के उपकरणों से जासूसी का खतरा भी बता चुका है. हालांकि, कंपनी इस तरह की आशंकाओं से इनकार कर चुकी है.

    >> हुवावे दुनिया की दूसरी बड़ी स्मार्टफोन निर्माता कंपनी भी है. स्मार्टफोन की बिक्री बढ़ने से उसका रेवेन्यू जुलाई-सितंबर तिमाही में 27% बढ़ा था. कंपनी ने पिछले महीने नतीजों की जानकारी दी थी.

    ये भी पढ़ें: दुनिया का सबसे ज्यादा कच्चा तेल रखने वाला देश आखिर गरीब क्यों?

    Tags: Employees salary, Private sector employees

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर