Home /News /business /

HUL को मार्च तिमाही में हुआ 2,190 करोड़ का प्रॉफिट, कंपनी ने किया 17 रुपए/शेयर डिविडेंड का ऐलान

HUL को मार्च तिमाही में हुआ 2,190 करोड़ का प्रॉफिट, कंपनी ने किया 17 रुपए/शेयर डिविडेंड का ऐलान

NPS में 18 साल से लेकर 65 साल की उम्र तक का कोई भी शख्स निवेश कर सकता है.

NPS में 18 साल से लेकर 65 साल की उम्र तक का कोई भी शख्स निवेश कर सकता है.

कंज्यूमर कंपनी (HUL) ने मार्च तिमाही के शानदार नतीजे जारी किए हैं. साल दर साल आधार पर मार्च तिमाही में कंपनी का मुनाफा 44.8 फीसदी बढ़कर 2,190 करोड़ रुपए रहा. एक साल पहले इसी तिमाही में कंपनी का प्रॉफिट 1,512 करोड़ रुपए था.

    नई दिल्ली. कंज्यूमर कंपनी (HUL) ने मार्च तिमाही के शानदार नतीजे जारी किए हैं. साल दर साल आधार पर मार्च तिमाही में कंपनी का मुनाफा 44.8 फीसदी बढ़कर 2,190 करोड़ रुपए रहा. एक साल पहले इसी तिमाही में कंपनी का प्रॉफिट 1,512 करोड़ रुपए था. वित्त वर्ष 2021 की चौथी तिमाही में HUL की आय 12,433 करोड़ रुपए पर रही है जबकि इस अवधि में कंपनी की आय 12,020 करोड़ रुपए रहने का अनुमान था। बता दें कि वित्त वर्ष 2020 की चौथी तिमाही में HUL की आय 9,211 करोड़ रुपए रही थी.

    2,925 करोड़ मुनाफे का था अनुमान
    सालाना आधार पर चौथी तिमाही में HUL का EBITDA 3,043 करोड़ रुपए रहा है. इसके 2,925 करोड़ रुपए पर रहने का अनुमान किया गया था. वहीं, वित्त वर्ष 2020 की चौथी तिमाही में HUL का EBITDA 2,100 करोड़ रुपए पर रहा था. सालाना आधार पर चौथी तिमाही में HUL का EBITDA मार्जिन 24.5 फीसदी रहा है. जबकि इसके 24.3 फीसदी पर रहने का अनुमान किया गया था. वहीं, वित्त वर्ष 2020 की चौथी तिमाही में HUL का EBITDA मार्जिन 22.8 फीसदी पर रहा था.

    कंपनी ने किया 17 रुपए प्रति शेयर डिविडेंड का ऐलान
    HUL के बोर्ड ने 17 रुपए प्रति शेयर डिविडेंड का ऐलान किया है. यानी कि निवेशक इस कंपनी के प्रति शेयर 17 रुपए के हिसाब से खरीद कर कमा सकते हैं.

    ये भी पढ़ें- SBI, PNB और ICICI के ग्राहक जरूर ध्यान दें.. भूलकर भी न करें ये गलती, वरना खाते से निकल जाएंगे सारे पैसे

    जानें क्या होता है डिविडेंस
    इसमें 2 तरह से फायदा होता है. एक तो फायदा यह होगा कि कंपनी होने वाले मुनाफे का कुछ हिस्सा आपको देगी.दूसरी कि शेयर में तेजी आने से भी आपको मुनाफा होगा. मसलन किसी कंपनी के शेयर में आपने 10 हजार रुपए निवेश किए हैं और एक साल में शेयर की कीमत 25 फीसदी चढ़ती है तो आपका निवेश एक साल में बढ़कर 12500 रुपये हो जाएगा.ज्यादा डिविडेंड देने वाली कंपनियों में निवेश का एक फायदा यह है कि आप अपने शेयर बेचे बिना भी इनकम कर सकते हैं.

    ये भी पढ़ें-  बच्चों के नाम से यहां जमा करें 5000 रुपये, एडल्ट होते ही मिलेंगे 30 लाख, जानिए कैसे?

    मुनाफे वाली कंपनियां देती हैं डिविडेंड
    आमतौर पर पीएसयू कंपनियां डिविडेंड के लिहाज से अच्छी मानी जाती हैं. जानकारों का कहना है कि अगर कोई कंपनी डिविडेंड दे रही है तो इसका मतलब साफ है कि उस कंपनी को मुनाफा आ रहा है. कंपनी के पास कैश की कमी नहीं है. डिविडेंड देने के ऐलान से शेयर को लेकर भी सेंटीमेंट अच्छा होता है और उसमें तेजी आती है. हालांकि ऐसे शेयर चुनते समय यह ध्‍यान रखना चाहिए कि निवेश उसी कंपनी में करें जिनका ट्रैक रिकॉर्ड बेहतर ग्रोथ के साथ रेग्युलर डिविडेंड देने का हो.undefined

    Tags: Business news in hindi, Hindustan Unilever, Share market

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर