लॉकडाउन हटा फिर भी बंद हुआ मुंबई का 5 स्टार अमेरिकी होटल Hyatt Regency! जानिए वजह

होटल के पास स्ट़ॉफ को देने के लिए सैलरी ही नहीं है

होटल के पास स्ट़ॉफ को देने के लिए सैलरी ही नहीं है

अमेरिकी मल्टीस्पेशियलिटी हॉस्पिटेलिटी चेन Hyatt Regency मुंबई का कारोबार कोरोना वायरस महामीरी के कारण लगे लॉकडाउन से काफी प्रभावित हुआ है. जिसके चलते इसके इंडियन ऑनर एशियन होटल्स वेस्क (Asian Hotels West) अपने स्टाफ को सैलरी भी नहीं दे पाई है.

  • Share this:

नई दिल्ली. देश में पिछले एक साल से जारी कोरोना वायरस (Corona virus) के प्रकोप और दूसरी बार लगभग सभी राज्यों में लगे लॉकडाउन (Lockdown) ने अर्थव्यवस्था को किस तरह प्रभावित किया इसके बारे में सभी जानते है. लेकिन क्या आप यकीन कर पाएंगे कि इसके चलते अमेरिकी फाइव स्टार होटल (America Five Start Hotel) भी बंद सोमवार से बंद हो गया है. जिसका नाम है हयात रिजेंसी (Hyatt Regency) और इस होटल की मुंबई स्थित यूनिट को लॉकडाउन के चलते फंड्स की कमी और स्टाफ को सैलरी नहीं दे पाने के कारण फिलहाल बंद करना पड़ा . अमेरिकी मल्टीस्पेशियलिटी हॉस्पिटेलिटी चेन Hyatt Regency मुंबई का कारोबार कोरोना वायरस महामीरी के कारण लगे लॉकडाउन से काफी प्रभावित हुआ है. 


इस वजह से इसके इंडियन ऑनर एशियन होटल्स वेस्क (Asian Hotels West) अपने स्टाफ को सैलरी भी नहीं दे पाई है. Hyatt Regency के जनरल मैनेजर ने एक नोटिस जारी करके कहा कि होटल को टेम्पररी तौर पर बंद किया गया है और अगले आदेश तक यह बंद रहेगा. 


मुंबई के टॉप 10 होटल में शुमार है Hyatt Regency


इस नोटिस में कहा गया कि Hyatt Regency की तरफ से फंड नहीं आया है, इस वजह से अगले आदेश तक होटल के सभी ऑपरेशंस बंद रहेंगे. Hyatt Regency ने अपना ऑपरेशन ऐसे समय में बंद किया है जब एक दिन पहले ही मुंबई में लॉकडाउन में कुछ छूट दी गई है. मतलब जिस वक्त से लोग वापस बिजनस आने की उम्मीद में तैयारी कर अपना व्यापार शुरू करने लगे उस वक्त इस होटल को बंद करना पड़ गया.  आपको बता दें कि यह 5 स्टार होटल मुंबई एयरपोर्ट के पास शहर एयरपोर्ट रोड पर स्थित है। इस होटल के पास ही ITC Maratha और Hilton Mumbai International होटल है. वहीं इसके एक किमी के दायरे में दूसरे कई 5 स्टार होटल जैसे JW Marriott, The Lalit और The Leela स्थित हैं. Hyatt Regency की गिनती आर्थिक राजधानी मुंबई के टॉप 10 होटल्स में होती है.  


ये भी पढ़ें - अगर लगवा ली हैं कोरोना वैक्‍सीन की दोनों डोज तो हवाई यात्रा में मिलेगी खास सुविधा! जानें सबकुछ






होटल टूरिज्म को हुआ है तगड़ा नुकसान 


मालूम हो कोरोना वायरस और लॉकडाउन के चलते होटल व टूरिज्म इंडस्ट्री को तगड़ा नुकसान उठाना पड़ा है. आलम ये है कि होटलों सहित अन्य पर्यटन संस्थानों में काम करने वाले सैकड़ों ही लोगों को कारोबारियों ने घर भेज दिया है. यानी उन्हें इस साल भी वेतन न मिलने से परिवार का भरण-पोषण करना मुश्किल हो गया. इसके अलावा नए बने होटलों और अन्य नए शुरू किए गए काम-धंधों वाले लोगों को भी बैंक लोन और अन्य कर्जे भरने का बड़ा डर सताने लगा है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज