ड्रीम बॉस हैं अरुण जेटली, देश सेवा के लिए हमेशा रहूंगा तैयार- अरविंद सुब्रमण्यन

(फाइल फोटो- अरविंद सुब्रमण्यन)

सुब्रमण्यन अपनी पारिवारिक जिम्मेदारियों के चलते अमेरिका लौट रहे हैं. सुब्रमण्यन का कार्यकाल अक्टूबर 2018 में खत्म हो रहा था.

  • Share this:
    मुख्य आर्थिक सलाहकार (सीईए) अरविंद सुब्रमण्यन ने बुधवार को व्यक्तिगत कारणों का हवाला देते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. इस्तीफा देने के बाद सुब्रमण्यन ने मीडिया को संबोधित किया. उन्होंने कहा कि चीफ इकोनॉमिक एडवाइजर की जिम्मेदारी उनके करियर की बेस्ट जिम्मेदारियों में से एक रही. उन्होंने कहा, ''इससे बेहतर जॉब न मैंने की है न ही कभी कर पाऊंगा. मैं अपना कार्यकाल खत्म होने के बाद खुशी से वापस जाऊंगा. मैं आने वाले दिनों में देश सेवा के लिए हमेशा प्रतिबद्ध रहूंगा.''

    सुब्रमण्यन ने कहा कि वह एक-दो महीने में वित्त मंत्रालय से विदाई ले लेंगे. हालांकि उन्होंने कहा कि अभी वित्त मंत्रालय छोड़ने के लिए उन्होंने कोई तारीख तय नहीं की है. अरुण जेटली को अपना ड्रीम बॉस बताते हुए उन्होंने कहा कि वह अच्छी यादों के साथ वापस जाएंगे और देश सेवा के लिए हमेशा तैयार रहेंगे.

    वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बुधवार दोपहर फेसबुक पोस्ट के जरिए जानकारी दी कि जरूरी पारिवारिक कारणों की वजह से सुब्रमण्यन वित्त मंत्रालय छोड़ रहे हैं और अमेरिका वापस लौट रहे हैं. (पढ़ेंः कौन हैं अरविंद सुब्रमण्यन, मोदी सरकार में क्या है उनकी भूमिका)

    सुब्रमण्यम को 16 अक्टूबर, 2017 को वित्त मंत्रालय में तीन साल के लिए मुख्य आर्थिक सलाहकार नियुक्त किया गया था. बाद में उन्हें एक साल का विस्तार दिया गया. यह पूछे जाने पर कि वह वित्त मंत्रालय से कब विदाई ले रहे हैं , सुब्रमण्यम ने कहा कि उन्होंने अभी तारीख तय नहीं की है. मैं एक या दो महीने में विदाई लूंगा. ’’ उन्होंने बताया कि सितंबर में वह दादा बनने वाले हैं.

    सुब्रमण्यम ने कहा कि उनके उत्तराधिकारी की तलाश जल्द शुरू की जाएगी.

    इससे पहले जेटली ने बताया, ‘‘कुछ दिन पहले सुब्रमण्यम ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये मुझसे बात की. उन्होंने बताया कि वह पारिवारिक प्रतिबद्धताओं की वजह से अमेरिका लौटना चाहते हैं. उनके कारण व्यक्तिगत हैं, लेकिन उनके लिए काफी महत्वपूर्ण हैं. मेरे पास उनसे सहमत होने के अलावा कोई विकल्प नहीं था.’’

    जेटली ने कहा कि पिछले साल अक्तूबर में सुब्रमण्यम का तीन साल का कार्यकाल पूरा हुआ था. इसके बाद उन्होंने सुब्रमण्यम से कुछ समय और पद पर बने रहने का आग्रह किया था. जेटली ने कहा, ‘‘यहां तक उन्होंने अभी मुझे बताया है कि वह पारिवारिक प्रतिबद्धताओं और मौजूदा नौकरी के बीच फंसे हुए हैं. यह उनकी अब तक की यह सबसे संतोषजनक नौकरी है.’’

    (इनपुट भाषा से)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.