होम /न्यूज /व्यवसाय /आईसीआईसीआई बैंक ने पेश की स्पेशल एफडी, मिलेगा अतिरिक्त ब्याज, बस कुछ दिन है निवेश का मौका

आईसीआईसीआई बैंक ने पेश की स्पेशल एफडी, मिलेगा अतिरिक्त ब्याज, बस कुछ दिन है निवेश का मौका

वरिष्ठ नागरिकों को 0.50 फीसदी के अतिरिक्त ब्याज के ऊपर 0.10 फीसदी ब्याज मिलेगा.

वरिष्ठ नागरिकों को 0.50 फीसदी के अतिरिक्त ब्याज के ऊपर 0.10 फीसदी ब्याज मिलेगा.

आईसीआईसीआई बैंक ने आरबीआई द्वारा रेपो रेट बढ़ाने के एक बाद एक लिमिटेड पीरियड स्पेशल एफडी लॉन्च की गई है. इसमें ग्राहकों ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

आईसीआईसीआई बैंक ने लॉन्च की लिमिटेड पीरियड स्पेशल एफडी 'गोल्डन इयर्स'
इसमें वरिष्ठ नागरिकों को अतिरिक्त 0.10 फीसदी का ब्याज मिलेगा.
यह स्कीम 30 सितंबर को लॉन्च हुई और 6 अक्टूबर तक चलेगी.

नई दिल्ली. निजी क्षेत्र के बैंक आईसीआईसीआई ने आरबीआई द्वारा रेपो रेट में वृद्धि के बाद लिमिटेड पीरियड स्पेशल एफडी लॉन्च की है. ‘गोल्डन इयर्स एफडी’ 30 सितंबर को लॉन्च हुई है और 6 अक्टूबर तक ग्राहक इसमें निवेश कर सकेंगे. नई एफडी में आपको अतिरिक्त ब्याज मिलेगा इसलिए यह एक लिमिटेड पीरियड एफडी है.

इस एफडी का मेच्योरिटी टेन्योर 5 साल 1 दिन से लेकर 10 साल तक का है. इसमें वरिष्ठ नागरिकों को अतिरिक्त 0.10 फीसदी का ब्याज मिलेगा. ये ब्याज उन्हें पहले से दिया जा रहे 0.50 फीसदी के अतिरिक्त ब्याज के ऊपर होगा. बता दें कि आईसीआईसीआई बैंक वरिष्ठ नागरिकों को 2 करोड़ रुपये से कम की 5 से 10 साल की एफडी रप 6.60 फीसदी ब्याज देता है. इसका मतलब है कि नई एफडी में वरिष्ठ नागरिकों को 6.70 फीसदी का ब्याज मिलेगा.

ये भी पढ़ें- भारत के विदेशी मुद्रा भंडार में गिरावट का सिलसिला जारी, 2 साल के न्यूनतम स्तर पर पहुंचने के आसार

रिन्यू की गई एफडी पर भी मिलेगा ब्याज
बैंक की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के अनुसार, इस स्कीम का लाभ नई एफडी खोलने वाले लोगों को तो मिलेगा ही साथ ही जो लोग इस दौरान अपनी एफडी रिन्यू करा रहे हैं उन्हें भी अतिरिक्त 0.10 फीसदी ब्याज मिलेगा. इस स्कीम का फायदा एक नाम पर खुली एक ही एफडी पर मिलेगा.

प्रीमेच्योर विड्रॉल पर जुर्माना
इस लिमिटडे पीरियड स्कीम के तहत अगर एफडी को 5 साल 1 दिन पर या उससे उसके बाद (10 साल से पहले) बंद किया जाता है तो 1.10 फीसदी का जुर्माना लगेगा. वहीं, 5 साल 1 दिन से पहले इस स्कीम को विड्रॉ करने पर प्रीमेच्योर विड्रॉल पॉलिसी के तहत जुर्माना लागू होगा. इस एफडी के अन्य सभी शर्तें सामान्य एफडी के जैसी ही हैं.

रेपो रेट की वृद्धि का असर
आरबीआई ने 30 सितंबर को एक बार रेपो रेट 0.50 फीसदी बढ़ा दी है. ये लगातार चौथी बार है जब केंद्रीय बैंक ने नीतिगत दरों में इजाफा किया है. इससे लोन लेना तो महंगा होगा ही लेकिन एफडी, आरडी व बचत योजनाओं की ब्याज दर बढ़ने की उम्मीद भी है. इससे आम ग्राहकों को सीधा लाभ पहुंचेगा. बता दें कि आरबीआई ने रेपो रेट को बढ़ाकर 5.90 फीसदी कर दिया है. आरबीआई महंगाई को काबू करने के लिए रेपो रेट में वृद्धि कर रहा है. अगस्त में खुदरा महंगाई दर 7 फीसदी पर पहुंच गई थी जो केंद्रीय बैंक के संतोषजनक दायरे से काफी बाहर है.

Tags: Bank FD, Business news in hindi, FD Rates, ICICI bank, Investment

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें