लाइव टीवी

ICICI बैंक ग्राहकों को 16 अक्टूबर से अपने खाते में पैसा जमा करने पर देना होगा चार्ज! जानें नियमों के बारे में सबकुछ

News18Hindi
Updated: September 16, 2019, 12:51 PM IST
ICICI बैंक ग्राहकों को 16 अक्टूबर से अपने खाते में पैसा जमा करने पर देना होगा चार्ज! जानें नियमों के बारे में सबकुछ
ICICI बैंक ग्राहक ध्यान दें! अब 16 अक्टूबर से पैसे जमा करने पर देने होंगे चार्जेस, जानिए इससे जुड़ी सभी बातें

ICICI बैंक के 'जीरो बैलेंस' खाताधारकों को 16 अक्टूबर से शाखा से हर कैश विदड्रॉल के लिए 100 रुपये से 125 रुपये का शुल्क देना होगा. अगर ग्राहक बैंक की शाखा में मशीन के जरिये पैसे जमा करते हैं तो इसके लिए भी उन्हें चार्ज देने होंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 16, 2019, 12:51 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश के बड़े प्राइवेट बैंक ICICI बैंक (ICICI Bank) में आपका खाता है तो ये खबर बेहद महत्वूपर्ण है क्योंकि बैंक ने पैसों के जमा (Cash Deposit) और निकलाने (Cash Withdrawal) पर चार्ज वसूलने का फैसला किया है. बैंक के 'जीरो बैलेंस' खाताधारकों को 16 अक्टूबर से शाखा से हर कैश विदड्रॉल के लिए 100 रुपये से 125 रुपये का शुल्क देना होगा. अगर ग्राहक बैंक की शाखा में मशीन के जरिये पैसे जमा करते हैं तो इसके लिए भी उन्हें चार्ज देने होंगे. बैंक ने अपने खाताधारकों को जारी एक नोटिस में कहा है कि हमने डिजिटल बैंकिंग को बढ़ावा देने के लिए यह कदम उठाया है.

16 अक्टूबर से ICICI बैंक लागू करेगा नया नियम- इस नियम के तहत मशीन के जरिए बैंक में पैसा जमा करते हैं तो उन्हें शुल्क देना होगा. इसके साथ ही बैंक ने अपने 'जीरो बैलेंस' अकाउंट होल्डर्स को खाते को किसी अन्य बेसिक सेविंग्स खाते में बदलने या खाता बंद करने की सलाह भी दी है.

ये भी पढ़ें:  क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल करने का ये है स्मार्ट तरीका, होगा फायदा



मोबाइल और इंटरनेट बैंकिंग के लिए नहीं देना होगा कोई भी चार्ज- ICICI बैंक ने मोबाइल बैंकिंग व इंटरनेट बैंकिंग के जरिए होने वाले नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर ( NEFT ), रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट ( RTGS ) और यूपीआई लेन-देन पर लगने वाले तमाम तरह के शुल्क को खत्म कर दिया है.

>> मौजूदा समय में 10,000 रुपए से लेकर 10 लाख रुपए तक के एनईएफटी लेन-देन पर 2.25 रुपए से लेकर 24.75 रुपए (जीएसटी अतिरिक्त) का चार्ज देना पड़ता है.

>> शाखाओं से दो लाख रुपए से लेकर 10 लाख रुपए तक किए जाने वाले आरटीजीएस लेन-देन के लिए 20 रुपए से लेकर 45 रुपए (जीएसटी अतिरिक्त) का चार्ज देना पड़ता है.
Loading...

>> इसके साथ ही बैंक ने अपने जीरो बैलेंस अकाउंट होल्डर्स को खाते को किसी अन्य बेसिक सेविंग्स खाते में बदलने या खाता बंद करने की सलाह भी दी है.

>> बैंक ने अपने जीरो बैलेंस अकाउंट होल्डर्स से रिक्वेस्ट किया है कि वे अपने अकाउंट को किसी अन्य बेसिक अकाउंट में बदल लें, यदि वे ऐसा नहीं कर सकते तो वो अपना अकाउंट बंद कर लें.

>> आपको बता दें कि जहां एक ओर केंद्र सरकार बैंकिंग नियमों को ग्राहकों की सुविधानुसार आसान बना रही है वहीं निजी क्षेत्र के बड़े बैंक आईसीआईसीआई ने अपने ग्राहकों को जोर का झटका दिया है.

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 16, 2019, 12:38 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...