ICICI बैंक-वीडियोकॉन केस: दीपक कोचर को मिली जमानत, जानिए क्या है मामला

दीपक कोचर

दीपक कोचर

दीपक कोचर को प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने पीएमएलए के तहत आईसीआईसीआई बैंक-वीडियोकोन मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पिछले साल सितंबर में गिरफ्तार किया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 25, 2021, 5:55 PM IST
  • Share this:
मुंबई. आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank) की पूर्व सीईओ चंदा कोचर के पति दीपक कोचर (Deepak Kochhar) को बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) ने गुरुवार को जमानत दे दी है. यह मामला आईसीआईसीआई बैंक-वीडियोकॉन मनी लॉन्ड्रिंग का है. इस मामले में दीपक कोचर को पिछले साल सितंबर में ईडी (ED) ने गिरफ्तार किया था.

पिछले साल दिसंबर में दीपक की जमानत याचिका को विशेष अदालत से खारिज कर दिया गया था जिसके बाद उन्होंने हाईकोर्ट का रुख किया था. बॉम्बे हाईकोर्ट के जस्टिस पी डी नायक ने उन्हें गुरुवार को जमानत दी.

ये भी पढ़ें- विदेशी ई-कॉमर्स कंपनियों को नहीं देना होगा 2 फीसदी डिजिटल टैक्‍स, जानें क्‍या है इसके लिए बड़ी शर्त

क्या है आईसीआईसीआई बैंक-वीडियोकॉन मनी लॉन्ड्रिंग मामला
सीबीआई ने कोचर दंपत्ति, वीडियोकॉन समूह के प्रमोटर वेणुगोपाल धूत और अन्य के खिलाफ, आईसीआईसीआई बैंक की पॉलिसी का उल्लंघन कर वीडियोकॉन समूह की कंपनियों के लिए लोन स्वीकृत कर आईसीआईसीआई बैंक को कथित नुकसान पहुंचाने को लेकर प्राथमिकी दर्ज की थी. इसके बाद ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया था.

ये भी पढ़ें- सप्‍ताह में 3 दिन छुट्टी पर श्रम मंत्री संतोष गंगवार की दो-टूक, अभी नहीं है इस तरह का कोई प्रस्‍ताव

चंदा कोचर और दीपक कोचर से कई बार पूछताछ कर चुकी है ईडी



चंदा और दीपक कोचर दोनों की सीबीआई और ईडी द्वारा कथित भ्रष्टाचार और मनी लॉन्ड्रिंग की जांच की जा रही है. दोनों से ईडी कई बार पूछताछ कर चुकी है. ईडी का आरोप है कि चंदा कोचर की अध्यक्षता वाली आईसीआईसीआई बैंक की एक समिति ने वीडियोकॉन इंटरनेशनल इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड को 300 करोड़ रुपये के लोन की मंजूरी दी. कर्ज जारी करने के अगले दिन ही आठ सितंबर 2009 को वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज ने 64 करोड़ रुपये न्यूपॉवर रिन्यूएबल प्राइवेट लिमिटेड (NRPL) को ट्रांसफर किए. NRPL के मालिक दीपक कोचर हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज