ये सेविंग बैंक लॉकडाउन में भी दे रहा है एफडी से डबल ब्याज, अब वीडियो के जरिए खुलवाएं खाता

ये सेविंग बैंक लॉकडाउन में भी दे रहा है एफडी से डबल ब्याज, अब वीडियो के जरिए खुलवाएं खाता
आईडीएफसी फर्स्ट बैंक ने भी शुरू की वीडियो केवाईसी प्रोसेस.

IDFC First Bank ने भी पेपरलेस वीडियो केवाईसी की प्रक्रिया को शुरू कर दिया है. कोरोना वायरस महामारी ने ग्राहकों के अपने बैंकों के साथ संपर्क करने के तरीके को बदल रहे हैं, जिसके बाद बैंक डिजिटल बैंकिंग के क्षेत्र में यह कदम उठा रहे हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. ग्राहकों की सुरक्षा को प्राथमिकता पर रखते हुए, आईडीएफसी फर्स्ट बैंक (IDFC First Bank) ने भी अपने ऑनलाइन बचत खाते खोलने के लिए वीडियो केवाईसी (Video KYC Process) शुरू करने की घोषणा की. स्टार्ट-टू-फिनिश डिजिटल यात्रा बचत खाते के ​लिए पेपरलेस केवाईसी की प्रक्रिया को महज दो मिनट में ही पूरा कर किया जा सकता है.

डिजिटल सुविधा ग्राहक के मनचाहे समय पर बैंकरों से उसके आभासी मुलाकात को संभव बनाते हुए ग्राहकों को घर बैठे ही शाखा जैसा अनुभव प्रदान करती है. शून्य संपर्क विधि कागजी कार्य या बायोमेट्रिक सत्यापन को पूरी तरह से दूर कर देती है, जिससे केवाईसी प्रक्रिया बैंक और ग्राहक के बीच भौतिक संपर्क की आवश्यकता खत्म हो जाती है.

यह भी पढ़ें: RBI के पूर्व गवर्नर ने की मोदी सरकार तारीफ, अर्थव्यवस्था को लेकर कही ये बात



कोरोना वायरस महामारी ने ग्राहकों के अपने बैंकों के साथ संपर्क करने के तरीके को बदल दिया है. ग्राहक अब लेन-देन के लिए तेजी से डिजिटल और मोबाइल चैनलों पर भरोसा करने लगे हैं.
आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के रिटेल लायबिलिटीज के प्रमुख अमित कुमार ने कहा, “एक ग्राहक-केंद्रित बैंक के रूप में, हम डिजिटल अनुभवों का निर्माण कर रहे हैं, जो शाखा के अनुभव को ज़िंदा रखते हुए ग्राहक को सुरक्षित और संलग्न महसूस कराते हैं. वीडियो केवाईसी बचत खाता खोलने की ऑनलाइन यात्रा को सरल और तेज़ बनाता है क्योंकि ग्राहकों को अपने घरों के बाहर कोई काम नहीं करना पड़ता या प्रक्रिया पूरी करने के लिए बैंक में किसी से नहीं मिलना पड़ता है.

ग्राहक 7% ब्याज कमाना शुरू कर सकते हैं और कहीं और रखे गये या निवेश किये गये धन पर अपने रिटर्न को अधिकतम कर सकते हैं. यह अधिकांश अन्य विकल्पों द्वारा प्रस्तावित आय के नुकासन और कम रिटर्न के मौजूदा दौर को देखते हुए विशेष रूप से प्रासंगिक है.”

ऑनलाइन बचत खाता खोलने के लिए आरबीआई द्वारा स्वीकृत वीडियो आधारित केवाईसी प्रक्रिया से ग्राहक को खाते में अधिकतम राशि पर बिना किसी सीमा के पूर्ण बचत खाता खोलने की अनुमति मिलती है.

यह भी पढ़ें: इन 3 सरकारी बैंकों को बड़ा झटका! RBI ने लगाया 6 करोड़ रु से ज्यादा का जुर्माना

क्या होगी वीडियो केवाईसी प्रक्रिया?
जब बचत खाता ऑनलाइन खोला जाता है, तो ग्राहकों को एक यूजर-विशिष्ट वीडियो केवाईसी लिंक भेजा जाता है और बैंक का प्रतिनिधि वीडियो कॉल पर केवाईसी पूरा करता है. नियमों के अनुरूप ग्राहक डेटा की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए बैंक का नियंत्रण सख्त है.

बचत खाते पर मिलता है 7 फीसदी ब्याज
आईडीएफसी फर्स्ट बैंक बचत खाता ऑफरों से भरा डेबिट कार्ड, यूजर-अनुकूल मोबाइल ऐप और नेटबैंकिंग, व्हाट्सएप बैंकिंग, और 1 लाख रुपये से अधिक की बचत राशि पर 7% की उद्योग में सर्वश्रेष्ठ दर जैसे ढेर सारे लाभ देता है.

यह भी पढ़ें: लॉकडाउन के दौरान आपके PF खाते में कितने पैसे आए घर बैठे ऐसे करें पता
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading