जेब में नहीं है डेबिट कार्ड तो भी कर सकेंगे पेमेंट, ये बैंक लाने जा रहा नई सुविधा

यह डेबिट कार्ड मोबाइल ऐप से लिंक्ड होगा.
यह डेबिट कार्ड मोबाइल ऐप से लिंक्ड होगा.

IDFC First Bank ने अपने ग्राहकों के लिए मोबाइल ऐप से जुड़ा डेबिट कार्ड (Debit Card) लॉन्च करने वाला है. इस कार्ड के जरिए भुगतान करना आसान और तेज होगा. इसके बाद पेमेंट के लिए दुकानदार को कार्ड थमाने की कोई जरूरत नहीं. यहां तक की पेमेंट के लिए साथ में कार्ड रखने की भी जरूरत नहीं होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 24, 2020, 6:28 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. आईडीएफसी फर्स्ट बैंक (IDFC First Bank) सेफपे सुविधा लॉन्च करने वाला है. इस डिजिटल सुविधा के जरिए ग्राहक बिना संपर्क किए ही अपने स्मार्टफोन के जरिए प्वाइंट ऑफ सेल (PoS) टर्मिनल द्वारा मान्य नीयर फील्ड कॉन्युनिकेशन (NFC) पर भुगतान कर सकते हैं. सेफपे के जरिए आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के मोबाइल ऐप में ही NFC को शामिल किया जाएगा, जिसके जरिए बैंक द्वारा जारी डेबिट कार्ड से सुरक्षित भुगतान किया जा सकता है. इसके बाद आईडीएफसी फर्स्ट बैंक का कार्ड रखने वाले ग्राहकों को न तो पीओएस मशीन छूना पड़ेगा और न ही कार्ड का इस्तेमाल करना होगा. यह प्रक्रिया संपर्क रहित होने के साथ-साथ तेज और सुरक्षित भी होगी.

मोबाइल ऐप के जरिए होगी उपलब्ध
यह इस तरह की पहली ऐसी तकनीक है, जिसे मोबाइल ऐप के साथ जोड़ा जा रहा है. सेफपे के फीचर्स का सफल परीक्षण किया गया है और इसे वीज़ा द्वारा मान्यता दी गई है. अगले एक सप्ताह में यह बैंक के मोबाइल ऐप के जरिए ग्राहकों के लिए उपलब्ध होगी.

क्या होगी लिमिट?
सेफपे के जरिए 2,000 रुपये प्रति लेन-देन तक का भुगतान किया जा सकता है और इसकी दैनिक सीमा 20,000 रुपये तक की है. इसके जरिए रोजमर्रा की खरीददारी को सरल बनाया जा सकता है.



यह भी पढ़ें:  सोने की कीमतों में भारी गिरावट, चांदी भी 2000 रुपये से ज्यादा सस्ती हुई

कैसे कर सकेंगे इस्तेमाल
सेफपे को चालू करने के लिए ग्राहकों को एक बार अपने आईडीएफसी फर्स्ट बैंक डेबिट कार्ड को मोबाइल ऐप के लिए लिंक करना होगा. सक्रिय होने के बाद, ग्राहक मर्चेंट के एनएफसी द्वारा मान्य पीओएस टर्मिनल पर अपना फोन अनलॉक करने के बाद घुमा कर भुगतान कर सकते हैं. इसके जरिए, एन्क्रिप्टेड कार्ड की जानकारी टर्मिनल पर वायरलेस तरीके से प्रसारित की जाती है. डेबिट कार्ड को मोबाइल ऐप के जरिए जोड़ा जा सकता है और जरूरत पड़ने पर डिलीट भी किया जा सकता है. भुगतान करने के लिए एनएफसी मान्य स्मार्टफोन को अनलॉक करने के 30 सेकंड के भीतर ही टर्मिनल पर घुमाना होगा.

यह सुविधा बचत खाताधारकों के लिए उपलब्ध है, जिनके पास ओएस 5 और इसके बाद के एनएफसी सक्षम एंड्रॉइड डिवाइस पर वीज़ा कार्ड और आईडीएफसी फर्स्ट मोबाइल ऐप है.

सेफपे को सक्रिय करने का तरीका:
1. अपने डेबिट कार्ड को आईडीएफसी फर्स्ट बैंक मोबाइल ऐप के साथ लिंक करें
2. भुगतान करने के लिए एनएफसी सक्षम स्मार्टफोन को अनलॉक करें
3. एनएफसी मान्य पीओएस टर्मिनल के आगे धुमाएं, एन्क्रिप्टेड कार्ड की जानकारी टर्मिनल पर वायरलेस तरीके से प्रसारित की जाएगी.

यह भी पढ़ें: हवाई जहाज से सफर करने वालों के लिए बड़ी खबर- फ्लाइट में सामान ले जाने का नियम बदला

आईडीएफसी फर्स्ट बैंक की खुदरा देनदारी के प्रमुख अमित कमार ने कहा, "वायरलेस दुनिया में लोग भुगतान का तरीका बदलना चाहते हैं. अभी तक, सुविधा डिजिटल भुगतानों को अपनाने के लिए चला रही है. अब, महामारी ने इसकी रफ्तार बढ़ा दी है. डिजिटल दुनिया में हमें एनएफसी तकनीक की भूमिका विशेष रूप से महत्वपूर्ण होती नजर आ रही है." उन्होंने कहा, "सेफपे के जरिए भुगतान का अनुभव बेहतर और प्रतिरोधहीन बनता है. कार्ड गुम होने का चिंता भी खत्म हो जाती है. ग्राहक चंद पलों में भुगतान कर स्टोर्स से निकल सकते हैं."
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज