कोई भी काम नहीं करने के लिए यहां मिल रहा 1.41 लाख रुपये, शर्त जान आप भी...

जर्मनी की एक यूनिवर्सिटी कोई भी काम नहीं करने के​ लिए पैसे दे रही है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

जर्मनी की एक यूनिवर्सिटी कोई भी काम नहीं करने के​ लिए पैसे दे रही है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Idlness Grant: जर्मनी की एक यूनिवर्सिटी कोई भी काम नहीं करने के​ लिए 1.41 लाख रुपये दे रही है. दरअसल यह यूनिवर्सिटी प्रोजेक्ट पर काम कर रही, जिसके 'सक्रिय निष्क्रियता' पर स्टडी किया जाएगा. 15 सितंबर तक इसके लिए आवेदन किया जा सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 23, 2020, 12:33 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अगर आपको बिना किसी काम किए है पैसे मिले तो कैस महसूस होगा? ​निश्चित ही आप सोचेंगे कि ऐसा नहीं हो सकता कि कोई काम किए ही बिना करीब 1.41 लाख रुपये ​तक मिले. लेकिन, अगर जर्मनी में बिल्कुल ऐसी ही है. द गार्जियन ने अपनी एक रिपोर्ट में जर्मनी की एक यूनिवर्सिटी के हवाले से कहा है कि यह आवेदनकर्ताओं को कुछ भी नहीं करने के लिए पेमेंट करेगा.

खाली बैठे रहने पर मिलेंगे 1.41 लाख रुपये

जर्मनी के हैमबर्ग की यूनिवर्सिट ऑफ फाइन आर्ट्स (University of Fine Arts, Hamburg) ने “idleness grant” ऑफर देने की प्लान बना रहा है. इसके तहत यूनिवर्सिटी ​बिना किसी काम के बैठे रहने के लिए आवेदनकर्ताओं को 1,600 यूरो देगा. भारतीय करंसी में यह रकम करीब 1.41 लाख रुपये होगा.

एप्लीकेशन में पूछे जाएंगे ऐसे सवाल
लेकिन, यूनिवर्सिटी आपसे एप्लीकेशन फॉर्म पूछेगा. जैसे आप क्या नहीं करना चाहते हैं, ​आप कितनी देर तक कोई काम नहीं करना चाहते हैं, आपको क्यों नहीं लगता कि किसी काम को​ विशेषतौर पर नहीं करना चाहिए और आप कोई काम करने के लिए सबसे उचित व्यक्ति क्यों हैं आदि.

यह भी पढ़ें: LIC आपको घर बैठे देगा शानदार कमाई का मौका, सरकार ने उठाया ये कदम

आखिर क्यों कुछ नहीं करने के लिए मिलेंगे पैसे



दरअसल, यह यूनिवर्सिटी जिस कॉन्सेप्ट के बारे में जानकारी जुटाना चाहती है और शोध करना चाहती है वो डिजाइन थियरिस्ट फ्रेडरिक वॉन बोरिस (Friedrich von Borries) का कॉन्सेप्ट है. फ्रेडरिक का कहना है कि इसका उद्देश्य यह समझना है कि किस प्रकार स्थिरता और उच्च प्रशंसा एक साथ मौजूद हो सकती है.

इस कॉन्सेप्ट को आगे समझाते हुए फ्रे​डरिक कहते हैं, “हम 'सक्रिय निष्क्रियता' पर फोकस करना चाहते हैं. अगर आप कहते हैं कि एक सप्ताह तक अपनी जगह से​ नहीं हिलेंगे तो यह प्रभावशाली बात होगी. अगर आप न हिलना और न ही सोचना चाहते हैं तो यह शानदार होगा.”

यह भी पढ़ें: एक दिन में 83 करोड़ का Sanitizer इस्‍तेमाल कर रहे भारतीय, तेजी से फैला बाजार

​यूनिवर्सिटी ने कहा है कि इस प्रोजेक्ट के लिए 15 सितंबर तक एप्लीकेशन भरा जा सकता है. अगर कोई जनवरी 2021 तक इस क्वॉलिफाई करता है तो उन्हें रकम का भुगतान किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज