घर खरीदारों को मिली बड़ी राहत! पजेशन में देरी होने पर बिल्डर वापस करेगा पूरा पैसा

अगर आप घर खरीदने की प्लानिंग कर रहे हैं या घर खरीद चुके हैं लेकिन आपको उसका पजेशन नहीं मिला तो ये खबर आपके लिए बहुत बड़ी खुशखबरी हो सकती है.

News18Hindi
Updated: May 17, 2019, 12:02 PM IST
घर खरीदारों को मिली बड़ी राहत! पजेशन में देरी होने पर बिल्डर वापस करेगा पूरा पैसा
अगर बिल्डर ने देरी से दिया पजेशन, करने होंगे पूरे पैसे वापस
News18Hindi
Updated: May 17, 2019, 12:02 PM IST
अगर आप घर खरीदने की प्लानिंग कर रहे हैं या घर खरीद चुके हैं लेकिन आपको उसका पजेशन नहीं मिला तो ये खबर आपके लिए बहुत बड़ी खुशखबरी हो सकती है. टाइम्स ऑफ़ इंडिया के मुताबिक राष्ट्रीय विवाद निवारण आयोग  (NCDRC) ने ऐलान किया है कि अगर बिल्डर घर सौंपने के वादे की तारीख से एक साल बाद तक घर नहीं दे पाता तो खरीदार पैसे वापसी की मांग कर सकते हैं.

पजेशन में 1 साल से देरी पर रिफंड  
आपको बता दें कि शीर्ष उपभोक्ता आयोग ने फ्लैट तैयार करने की देरी की सीमा निर्धारित कर दी है. आयोग कहना है कि अगर बिल्डर एक साल से ज्यादा देरी करता है तो खरीदार रीफंड का दावा कर सकता है. बता दें कि कई न्यायिक संस्थाएं और सुप्रीम कोर्ट भी बार बार कह चुका है कि ग्राहक रिफंड का दावा कर सकता है लेकिन अब तक यह स्पष्ट नहीं किया गया था कि आखिर कितनी देर होने पर रिफंड दिया जाए.ये भी पढ़ें: बर्बादी की कगार पर पाकिस्तान, कभी भी ध्वस्त हो सकता है सारा सिस्टम

इस शख्स ने दायर की थी याचिका

दिल्ली के रहने वाले शलभ निगम ने इस मामले में याचिका दायर की थी. उन्होंने 2012 में अल्ट्रा लग्जरी हाउजिंग प्रॉजेक्ट ग्रीनपोलिस गुड़गांव में अपना घर बुक किया था. इसे ओरिस इन्फ्रास्ट्रक्चर कंपनी बना रही थी. उन्होंने 90 लाख के आसपास भुगतान कर दिया था और इसकी कुल कीमत एक करोड़ थी. अग्रीमेंट के मुताबिक 36 महीने यानी तीन साल में फ्लैट मिल जाना चाहिए था लेकिन बिल्डर फ्लैट का काम पुरा नहीं करा सका. इसके बाद निगम ने आयोग का रुख किया.

आयोग ने दिया ये आदेश
>> हालांकि बिल्डर ने कहा कि बायर लगातार किस्त भर रहे हैं और रिफंड का आदेश दे दिया गया है तो खरीदार को बयाना के रूप में 10 प्रतिशत राशि छोड़नी होगी.
Loading...

ये भी पढ़ें: कभी दोनों दोस्तों ने IndiGo को बनाया नंबर-1, अब छिड़ी जंग!

>> आयोग ने इस बात को खारिज करते हुए कहा कि सातवें चरण तक किस्त दी गई है और इसके बाद निर्माण रुक गया इसलिए कोई राशि नहीं छोड़ी जाएगी.

>> आयोग ने कहा कि अगर खरीदार फ्लैट की पजेशन लेना चाहते हैं तो सितंबर 2019 तक इसे पूरा करके देना होगा.

ये भी पढ़ें: 25 हजार रुपये में शुरू हो जाएगा ये बिजनेस, 1.40 लाख तक हो सकती है कमाई

>> अगर पजेशन में और देरी होती है तो बिल्डर को छह प्रतिशत प्रति वर्ष की दर से मुआवजा देना होगा.

>> अगर बिल्डर समय से पजेशन नहीं दे पाती है तो 10 प्रतिशत ब्याज के साथ राशि वापस करनी होगी.

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

वोट करने के लिए संकल्प लें

बेहतर कल के लिए#AajSawaroApnaKal
  • मैं News18 से ई-मेल पाने के लिए सहमति देता हूं

  • मैं इस साल के चुनाव में मतदान करने का वचन देता हूं, चाहे जो भी हो

    Please check above checkbox.

  • SUBMIT

संकल्प लेने के लिए धन्यवाद

जिम्मेदारी दिखाएं क्योंकि
आपका एक वोट बदलाव ला सकता है

ज्यादा जानकारी के लिए अपना अपना ईमेल चेक करें

डिस्क्लेमरः

HDFC की ओर से जनहित में जारी HDFC लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (पूर्व में HDFC स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड). CIN: L65110MH2000PLC128245, IRDAI R­­­­eg. No. 101. कंपनी के नाम/दस्तावेज/लोगो में 'HDFC' नाम हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HDFC Ltd) को दर्शाता है और HDFC लाइफ द्वारा HDFC लिमिटेड के साथ एक समझौते के तहत उपयोग किया जाता है.
ARN EU/04/19/13626

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार