अगर कोरोना वायरस का खौफ लंबा चला तो जानिए कौन-कौन सेक्टर्स हो जाएंगे तबाह!

अगर कोरोना वायरस का खौफ लंबा चला तो जानिए कौन-कौन सेक्टर्स हो जाएंगे तबाह!
भारत में कोरोना वायरस की वजह से अर्थव्यवस्था पर तेजी से असर पड़ रहा है.

चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में जीडीपी विकास दर 4.7 प्रतिशत रही है, जो थोड़ा राहत देने वाली खबर है. दूसरी तिमाही में यह दर 4.5 प्रतिशत रही थी, जो बीते छह वर्षों में सबसे कम थी. जीडीपी विकास दर में भी मामूली सुधार हुआ है, लेकिन इस बीच कोरोना वायरस के खौफ ने मार्केट का हाल और खास्ता कर दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 15, 2020, 7:16 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) के खौफ से दुनिया के कई देशों की अर्थव्यवस्था (Economy) तबाह हो रही है. भारत में भी कोरोना वायरस का खौफ इतना है कि सरकार दिन-रात कोरोना वायरस से निपटने की तैयारियों में लगी हुई है. सरकार पूरी कोशिश कर रही है कि कोरोना वायरस से जल्द ही देश को मुक्ति मिले. पिछले सप्ताह भारतीय शेयर बाजार कोरोना वायरस के चपेट में आ गई थी. हालांकि, बाद में बाजार संभल गई. इसके बावजूद यह वायरस अब भी भारतीय अर्थव्यवस्था (Indian Economy) के लिए बड़ा खतरा बनी हुई है. भारत में पिछले एक सप्ताह से कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों की संख्या में लगातार तेजी आ रही है. रविवार को यह आंकड़ा 107 तक पहुंच गई है. ऐसे में सवाल उठता है कि अगर यह बीमारी लंबा खींचता है तो भारतीय अर्थव्यवस्था के किन-किन सेक्टर्स को नुकसान पुहंचा सकती है.

कई सेक्टर्स में मंदी आ सकती है
बता दें कि कोरोना वायरस के चलते पिछले सप्ताह भारतीय शेयर बाजार लड़खड़ाने के बाद संभली जरूर है, लेकिन यह कब तक संभलेगी इसको लेकर जानकार तरह-तरह के कयास लगा रहे हैं. हालांकि, चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में जीडीपी विकास दर 4.7 प्रतिशत रही है, जो थोड़ा राहत देने वाली खबर है. दूसरी तिमाही में यह दर 4.5 प्रतिशत रही थी, जो बीते छह वर्षों में सबसे कम थी. जीडीपी विकास दर में भी मामूली सुधार हुआ है, लेकिन इस बीच कोरोना वायरस के खौफ ने मार्केट का हाल और खास्ता कर दिया है. अगर कोरोना वायरस को लेकर सतर्कता नहीं बरती गई तो यह भारतीय अर्थव्यवस्था को बड़ा नुकसान उठाना पड़ सकता है.

दुनिया की 10 बड़ी अर्थव्यवस्था है चपेट में
चीन के बुहान शहर से फैली यह बीमारी दुनिया के 100 से भी ज्यादा देशों को चपेट में ले लिया है. भारत सहित दुनिया की 10 बड़ी अर्थव्यवस्था भी इस बीमारी के चपेट में आ गई है. अमेरिका, चीन, जापान, स्पेन, इंग्लैंड जैसे देशों का तो बुरा हाल है. रेटिंग एजेंसी मूडीज ने तो इन देशों की विकास दर के अनुमान में कटौती कर दी है. इन देशों में पर्यटन, ट्रांसपोर्ट, होटल और मॉल्स जैसी इंडस्ट्री तो चौपट हो ही गई है. हेल्थ, ऐजुकेशन और कई उद्योग धंधे को भी इस महामारी नहीं बख्शा है.



भारत में भी असर देखा जा रहा है


भारत में कोरोना वायरस की वजह से अर्थव्यवस्था पर तेजी से असर पड़ रहा है. जानकार मान रहे हैं कि चीन में इस बीमारी के फैलने के कई सेक्टर्स के कच्चा माल के उत्पादन में कमी आ गई है. इसका असर भारत के व्यापार पर भी सीधा पड़ा है. इस बीमारी के कारण भारत की अर्थव्यवस्था को करीब 100 करोड़ डॉलर तक का नुक़सान उठाना पड़ सकता है. भारत की ऑटोमोबाइल सेक्टर्स, पर्यटन, ट्रांसपोर्ट, थोक और खुदरा बाजार, फूड इंडस्ट्री का मार्केट, शॉपिंग कॉम्पलेक्स, होटल, ज्वैलरी और हीरा कारोबार बुरी तरह प्रभावित हुआ है.

अभी पिछले दिनों ही कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए भारत सरकार ने विदेशी पर्यटकों पर आने पर प्रतिबंध लगा दिया है. सरकार के इस फैसले का बद अब यह माना जा रहा है कि इसका असर पहले से मार झेल रही भारतीय अर्थव्यवस्था पर पड़ेगा. बुधवार को ही भारत की सरकार ने 13 मार्च से 15 अप्रैल तक राजनयिक, सरकारी, संयुक्त राष्ट्र और अन्य अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं, एम्प्लॉयमेंट और प्रोजेक्ट वीजा को छोड़कर सभी प्रकार के वीजा को निलंबित कर दिया था.

ये भी पढ़ें: 

क्या कोरोना टेस्ट को राजनीतिक दांव के तौर पर इस्तेमाल करेंगे कमलनाथ?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading