Home /News /business /

ITR नहीं भरने के कारण आपको देना पड़ रहा अधिक TDS? तो यहां जानिए इस मुसीबत से कैसे निकले?

ITR नहीं भरने के कारण आपको देना पड़ रहा अधिक TDS? तो यहां जानिए इस मुसीबत से कैसे निकले?

अगर आपने इनकम टैक्स रिटर्न (Income Tax Return) फाइल कर दिया है लेकिन दोगुना टीडीएस (TDS) देना पड़ रहा है तो आपके लिए यह काम की खबर है.

अगर आपने इनकम टैक्स रिटर्न (Income Tax Return) फाइल कर दिया है लेकिन दोगुना टीडीएस (TDS) देना पड़ रहा है तो आपके लिए यह काम की खबर है.

अगर आपने इनकम टैक्स रिटर्न (Income Tax Return) फाइल कर दिया है लेकिन दोगुना टीडीएस (TDS) देना पड़ रहा है तो आपके लिए यह काम की खबर है.

    नई दिल्ली. अगर आपने इनकम टैक्स रिटर्न (Income Tax Return) फाइल कर दिया है लेकिन दोगुना टीडीएस (TDS) देना पड़ रहा है तो आपको घबराने की जरूरत नहीं है. दरअसल, आयकर विभाग (IT Department) ने 21 जून, 2021 को एक सर्कुलर जारी किया है, जिसमें यह स्पष्ट किया गया है कि यदि कोई व्यक्ति वित्त वर्ष 2020-21 के लिए आईटीआर फाइल (ITR Filing) करता है, तो उसका नाम सूची से हटा दिया जाएगा और हाई TDS / TCS अब उस पर लागू नहीं होगा.

    बता दें कि अगर किसी टैक्सपेयर (Taxpayers) ने पिछले 2 वर्षों में TDS दाखिल नहीं किया है और प्रत्येक वर्ष TDS की कटौती 50,000 रुपये से अधिक है, तो इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ITR दाखिल करते समय अधिक शुल्क वसूल रहा है. यह नियम 1 जुलाई से ही लागू कर दी गई है. नए नियमों के अनुसार जिन लोगों ने ITR फाइल नहीं किया है उनके लिए 1 जुलाई से TDS और TCS की दरें 10 से 20 फीसदी होंगी, तो पहले 5 से 10 फीसदी थी.

    ये भी पढ़ें- Bank Holidays: कल से अगले 4 दिन इन शहरों में बंद रहेंगे बैंक, आज ही निपटा लें जरूरी काम, देखें छुट्टियों की लिस्ट

    लिस्ट से नाम कैसे हटाएं?
    क्या कोई व्यक्ति जिस पर अधिक टीडीएस लागू है, उसका नाम निर्दिष्ट व्यक्तियों की सूची से हटा सकता है? जी हां, ऐसा व्यक्ति अपना नाम सूची से हटा सकता है और वित्तीय वर्ष के बाकी महीनों में उच्च टीडीएस/टीसीएस से बच सकता है. यह वित्त वर्ष 2020-21 के लिए आईटीआर दाखिल करके किया जा सकता है. सर्कुलर के अनुसार, “यदि कोई निर्दिष्ट व्यक्ति निर्धारण वर्ष 2021-22 के लिए आय की वैध रिटर्न (फाइल और सत्यापित) दाखिल करता है, तो उसका नाम निर्दिष्ट व्यक्तियों की सूची से हटा दिया जाएगा. यह दाखिल करने की नियत तारीख पर किया जाएगा. निर्धारण वर्ष 2021-22 के लिए आय की वापसी या वैध रिटर्न (फाइल और वेरिफिकेशन) के एक्चुअल फाइलिंग डेट के बाद उसे हटा दिया जाएगा.

    ये भी पढ़ें- यह बैंक दे रहा बचत खाते पर हर महीने ब्याज, 1 करोड़ की ये सुविधा भी फ्री, साथ में मुफ्त चेकबुक समेत अन्य बेनेफिट्स

    ITR फाइलिंग की लास्ट डेट 30 सितंबर, 2021
    वित्त वर्ष 2020-21 के लिए ITR दाखिल करने की अंतिम तिथि 30 सितंबर, 2021 है. एक्सपर्ट की मानें तो अगर कोई व्यक्ति को दो वित्त वर्ष के बाद, आयकर रिटर्न दाखिल करने और वेरिफिकिशन या समाप्ति के बाद ही निर्दिष्ट सूची से बाहर रखा जाएगा. इस तरह एक बार जब आपने वित्त वर्ष 2020-21 के लिए अपना आईटीआर दाखिल कर दिया है, तो आप उसे वेरिफाइड कर लें. अगर आपने उस समय तक अपना आईटीआर दाखिल और सत्यापित कर लिया है तो आपका नाम 30 सितंबर, 2021 के बाद हटा दिया जाएगा.

    Tags: Business news in hindi, Income tax department, Income tax latest news, Income tax return, ITR filing, New ITR form, TDS

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर