लाइव टीवी
Elec-widget

हाइवे टोल पर देने पड़ेंगे डबल पैसे! अगर नहीं किया इस नियम का पालन

News18Hindi
Updated: May 10, 2019, 12:23 PM IST
हाइवे टोल पर देने पड़ेंगे डबल पैसे! अगर नहीं किया इस नियम का पालन
टोल टैक्स के इस नियम में हुआ बदलाव

हाईवे पर चलने वालों के लिए चेतावनी, नॉन फ़ास्टटैग यूजर ने अगर गलती से FastTag लेन में मोड़ ली गाड़ी तो देना होगा डबल टोल. आइए आपको बताते हैं क्या हुआ है नियमों में बदलाव.

  • Share this:
हाईवे पर चलने वालों के लिए चेतावनी, नॉन फ़ास्टटैग यूजर ने अगर गलती से FastTag लेन में मोड़ ली गाड़ी तो देना होगा डबल टोल. अक्सर नॉन फ़ास्टटैग यूजर भी टोल प्लाजा पर लंबी-लंबी लाइन से बचने के लिए FasTag (फास्टेग) वाले बूथ पर चले जाते हैं. लेकिन अब ऐसा करने पर उन लोगों को दोगुना टोल टैक्स चुकाना पड़ेगा. इसलिए अब फ़ास्टटैग वाले बूथ पर तभी जाए जब आपकी गाड़ी में इसका डिवाइस लगा हो.

इस कवायद से जो लोग उन लोगों को को फायदा होगा जिनकी गाड़ी पर फास्टेग डिवाइस लगा है अब उन्हें टोल प्लाजा में इंतजार नहीं करना पड़ेगा. आपको बता दें कि केंद्र सरकार जल्द ही इसका सर्कुलर जारी कर सकती है.

क्या है फास्टेग?
FASTag एक वाहन की विंडस्क्रीन से जुड़ा हुआ एक उपकरण है. यह रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) तकनीक पर आधारित है. इससे गाड़ी यदि चल भी रही है तो टोल बूथ से गुजरने पर अपने आप ही रिकॉर्ड दर्ज हो जाएगा. टोल का किराया सीधे बैंक खाते से काट लिया जाता है जो कि FASTag से जुड़ा हुआ है. इसके चलते ड्राइवर को टोल प्लाजा पर रुकना नहीं पड़ता है. केंद्रीय भूतल परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय द्वारा चार साल पहले फास्टेग लागू किया गया था. आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार अप्रैल तक 47 लाख फास्टेग व्हीकल से 585 करोड़ रुपए टोल मिला है.

ये भी पढ़ें: मोदी सरकार का नया प्लान! अब बनेगा आपकी हेल्थ का डिजिटल लॉकर

जल्द NHAI कर सकती है इस नियम की घोषणा  
अब अपनी कार / वाहन में डिवाइस को स्थापित किए बिना फास्टेग लेन पर चलने वाले वाहनों के लिए उच्च टोल शुल्क के कार्यान्वयन पर चर्चा कर रहे हैं. हालांकि यह कब से लागू होगा इसके बारे में भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) द्वारा घोषणा की जाएगी.
Loading...

ये भी पढ़ें: रिटायरमेंट के बाद बैंक देगा आपको हर महीने पैसा! जानिए इस खास स्कीम के बारें में...

टोल प्लाजा पर ट्रैफिक जाम से निपटने में मिलेगी मदद
एक्सपर्ट्स का मानना ​​है कि राजमार्ग पर उच्चतर टोल एक अच्छा विचार है, लेकिन इसका इम्प्लीमेंटेशन  मुश्किल है. कई बार गलत लेन में प्रवेश करने की वजह से बेवजह के विवाद हो जाता हैं. इससे टोल प्लाजा पर ट्रैफिक जाम लग जाता है. जिससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है.

ये भी पढ़ें: इस बिजनेस में एक बार पैसा लगाकर, हर महीने करें लाखों की कमाई

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 10, 2019, 12:05 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com