लाइव टीवी

आपने भी कराई है एफडी तो जान लें ये 7 बड़ी बातें, हमेशा रहेंगे फायदे में...

News18Hindi
Updated: October 15, 2019, 1:28 PM IST
आपने भी कराई है एफडी तो जान लें ये 7 बड़ी बातें, हमेशा रहेंगे फायदे में...
फिक्स्ड डिपॉजिट को निवेश का सबसे बेहतर निवेश विकल्प माना जाता है.

कोई भी व्यक्ति अपने बैंक या NBFC में Fixed Deposit करा सकता है, जिसकी अवधि 7 दिनों से लेकर 10 साल तक के लिए होती है. इसपर पूर समय के लिए फिक्स दर से ब्याज मिलता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 15, 2019, 1:28 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सभी तरह के सेविंग्स स्कीम्स (Savings Schemes) में फिक्सड डिपॉजिट (Fixed Deposits) लोगों का सबसे पसंदीदा निवेश विकल्प होता है. बचत करने के लिए यह तरीका हर उम्र के लोगों को पसंद आता है. इसका सबसे बड़ा कारण है कि दूसरे स्कीम्स के मुकाबले यह सुरक्षित और सबसे कम जोखिम वाला स्कीम होता है. छोटी से लेकर लंबी अवधि के लिए भी इसमें निवेश किया जा सकता है. आमतौर पर दो तरह का FD होता है. पहला क्युमुलेटिव एफडी और दूसरा नॉन-क्युमुलेटिव एफडी होता है. इसमें तिमाही और सालाना आधार पर ब्याज मिलता है. हालांकि, आप रेगुलर इंटरवल पर भी ब्याज का लाभ ले सकते हैं.

FD की सुविधा का लाभ किसी भी बैंक से लेकर नॉन-बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनियों (Non-Banking Financial Companies) में लिया जा सकता है, जहां 7 दिन से लेकर 10 साल तक के लिए निवेश किया जा सकता है. आज हम आपको एफडी जुड़े नियमों, टैक्स समेत कई जानाकरियां देने जा रहा, जिसे ध्यान में रखते हुए आप आसानी से इस सेविंग स्कीम का बेहतर लाभ ले सकते हैं.





ये भी पढ़ें: ऑटो से लेकर हवाई यात्रा तक हो सकती है बेहद सस्ती! पेट्रोलियम मंत्री ने सरकार से की ये खास गुजारिश




एफडी में निवेश के ये हैं फायदे

1. फिक्सड डिपॉजिट को सबसे सुरक्षित निवेश विकल्प माना जाता है.

2. इसमें जमा किए गए मूल धन पर कोई जोखिम नहीं होता. साथ में आपको एक तय अवधि में रिटर्न भी मिल सकता है.

3. इसमें निवेश किया गया मूल धन इसलिए सुरक्षित रहता है क्योंकि एफडी पर बाजार में उतार—चढ़ाव को कोई सीधा असर नहीं पड़ता है.

4. इस स्कीम में निवेशक मासिक तौर पर ब्याज का लाभ ले सकते हैं.

5. आमतौर पर एफडी पर मिलने वाला ब्याज दर अधिक है. वरिष्ठ नागरिकों के लिए तो यह सबसे अधिक रिटर्न देता है.

6. किसी भी एफडी में एक ही बार निवेश करना होता है. अगर निवेशक को इसके बाद अधिक डिपॉजिट करना है तो उन्हें अलग एफडी अकाउंट खोलना होगा.

7. तय अवधि के लिए एफडी फिक्स करने के बाद मैच्योरिटी से पहले निवेशक विड्रॉ नहीं कर सकता है. हालांकि, अगर समय से पहले एफडी की रकम निकालना है तो इसके लिए पेनाल्टी देनी होगी.

ये भी पढ़ें: अगले 5 साल में सरकार को होगी 1 लाख करोड़ की कमाई, बनाया ये खास प्लान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पैसा बनाओ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 15, 2019, 6:46 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading