ऑक्सीजन की जरूरत है तो इस नंबर पर लगाए फोन, कंपनी मुफ्त में उपलब्ध कराएगी ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर

हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड (HUL, एचयूएल) ने विदेश से मंगाए 5,000 से ज्यादा ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर

हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड (HUL, एचयूएल) ने विदेश से मंगाए 5,000 से ज्यादा ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर

नई दिल्ली और बेंगलुरू में मरीज और उनकी देखभाल कर रहे लोग 08068065385 पर मिस्ड कॉल देकर ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर बुला सकते हैं

  • Share this:

नई दिल्ली. एफएमसीजी सेक्टर की कंपनी हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड (HUL, एचयूएल) ने दिल्ली और बेंगलुरू में ऑक्सीजन की कमी को दूर करने के लिए विदेश से 5,000 से ज्यादा ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर बुलाए हैं. नई दिल्ली और बेंगलुरू में मरीज और उनकी देखभाल कर रहे लोग 08068065385 पर मिस्ड कॉल देकर ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर के लिए अनुरोध कर सकते हैं.

एचयूएल ने नई दिल्ली और बेंगलुरू में मिशन होप (HOPE) की शुरुआत की है. मिशन होप के अंतर्गत केवीएन फाउंडेशन और देश की सबसे बड़ी होम हेल्थकेयर कंपनी पोर्टिया के साथ हाथ मिलाया है. इस साझेदारी से दोनों शहर में जरूरतमंद मरीजों को तत्काल प्रभावी तरीके से ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर मुफ्त में उपलब्ध कराया जा सकेगा. इसमें ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर इस्तेमाल करे, वापस करे, फिर इस्तेमाल करे मॉडल को अपनाया जाएगा.

यह भी पढ़ें : नौकरी की बात : महामारी में साइकोमेट्रिक्स टेस्ट और वर्चुअल इंटरव्यू की ट्रिक से पक्की करें अपनी जॉब

इस तरह मिलेगी मदद
नई दिल्ली और बेंगलुरू में मरीज और उनकी देखभाल कर रहे लोग 08068065385 पर मिस्ड कॉल देकर ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर के लिए अनुरोध कर सकते हैं. मिशन होप की टीम इसमें उनकी मदद करेगी. जरूरत के सही पाए जाने पर कॉन्सेंट्रेटर मरीज के घर पर डिलिवर कर दिया जाएगा. एक प्रशिक्षित वॉलंटियर भी मदद के लिए मरीज और देखभाल करने वालों के पास जाएगा और ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर को चलाने में और उसके काम करने के तरीका समझाने में मदद करेगा.

यह भी पढ़ें : Success Story : कचरा बीनने वालों के साथ काम कर हैंडबैग बनाए, आज 100 करोड़ का टर्नओवर 

इस्तेमाल किए जाने के बाद कॉन्सेंट्रेटर सैनिटाइज होगा



इस्तेमाल किए जाने के बाद कॉन्सेंट्रेटर को सैनिटाइज किया जाएगा. फिर, इसकी सर्विस करने के बाद उन लोगों तक पहुंचाया जाएगा जिन्हें इसकी ज़रूरत होगी, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि कॉन्सेंट्रेटर ज़्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंच सकें और अधिक से अधिक लोगों की ज़िंदगियां बचाने में इनकी मदद ली जा सके. एचयूएल के चेयरमैन एवं मैनेजिंग डायरेक्टर संजीव मेहता ने कहा कि पूरा यूनिलीवर परिवार इस संकट की घड़ी में भारत की मदद के लिए एक साथ खड़ा है. इसके लिए हम ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर मंगा रहे हैं जिनकी देश में भारी कमी है. हमें उम्मीद है कि पोर्टिया के साथ अपने गठबंधन के साथ हम ऐसे लोगों का जीवन बचा सकेंगे जिन्हें मेडिकल ऑक्सीजन की ज़रूरत है, साथ ही हम स्वास्थ्य प्रणाली पर पड़ रहे दबाव को कम भी कर सकेंगे.

यह भी पढ़ें : Success Story : माता-पिता की देखभाल के लिए नौकरी छोड़ टीपीए बिजनेस किया, अब 3000 करोड़ का पोर्टफोलियो

दूसरे शहरों में लागू होगा मिशन होप

कंपनी ने बताया कि मिशन होप को बेंगलुरू, कोलकाता, लखनऊ, चेन्नई, हैदराबाद, चंडीगढ़ जैसे अन्य शहरों में भी लागू किया जा रहा है जो बुरी तरह प्रभावित है. एचयूएल पूरे देश में करीब 20 जगहों के अस्पतालों में भी कॉन्सेंट्रेटर्स दान देगी. इस गठजोड़ के अलावा, कंपनी अपने सप्लायर्स, डिस्ट्रिब्यूटर्स के लिए काम करने वालों और ग्रामीण इलाकों में शक्ति अम्मा समेत अप्रत्यक्ष तौर पर जुड़े करीब 3,00,000 लोगों के टीकाकरण का खर्च भी उठाएगी. एचयूएल ने अपनी 30 से अधिक विनिर्माण इकाइयों के आसपास आइसोलेशन केंद्र भी बनाए हैं जिनमें से ज़्यादातर देश के ग्रामीण इलाकों में हैं. ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर के अलावा एचयूएल ग्रामीण इलाकों समेत अस्पतालों में वेंटिलेटर्स और अन्य मेडिकल उपकरण भी उपलब्ध कराएगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज