अर्थव्यवस्था को लगा बड़ा झटका: IIP ग्रोथ गिरकर 2% हुई, 4 महीने के निचले स्तर पर

देश में आर्थिक सुस्ती लगातार बढ़ती जा रही है. जून 2019 में इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन (IIP) की ग्रोथ घटकर चार महीने के निचले स्तर पर आ गई है.

News18Hindi
Updated: August 9, 2019, 7:37 PM IST
अर्थव्यवस्था को लगा बड़ा झटका: IIP ग्रोथ गिरकर 2% हुई, 4 महीने के निचले स्तर पर
देश में आर्थिक सुस्ती लगातार बढ़ती जा रही है. जून 2019 में इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन (IIP) की ग्रोथ घटकर चार महीने के निचले स्तर पर आ गई है.
News18Hindi
Updated: August 9, 2019, 7:37 PM IST
देश में आर्थिक सुस्ती लगातार बढ़ती जा रही है. जून 2019 में इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन (IIP) की ग्रोथ घटकर चार महीने के निचले स्तर पर आ गई है. जून 2019 में IIP की ग्रोथ घटकर 2 फीसदी रही जो मई 2019 में 3.1 फीसदी थी. जून में मैन्युफैक्चरिंग की ग्रोथ सिर्फ 1.2 फीसदी रही. इससे एक महीना पहले मैन्युफैक्चरिंग की ग्रोथ 2.5 फीसदी थी. हालात यह है कि मांग और उत्पादन में सामंजस्य बैठाने के लिए महिंद्रा को वाहनों का उत्पादन दो सप्ताह के लिए बंद करने को मजबूर होना पड़ रहा है.यही हाल जून में उद्योगों की रफ्तार का भी रहा है. खनन और मैन्युफैक्चरिंग क्षेत्र के खराब प्रदर्शन के कारण जून महीने में औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर गिरकर दो प्रतिशत पर आ गई.

एक्सपर्ट्स का कहना है कि कई सेक्टर्स में उत्पादन घटने से औद्योगिक उत्पादन में गिरावट आई है. आपको बता दें कि औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (आईआईपी) का किसी भी देश की अर्थव्यवस्था में खास महत्व होता है. इससे पता चलता है कि उस देश की अर्थव्यवस्था में औद्योगिक वृद्धि किस गति से हो रही है.

ये भी पढ़ें-अचानक हो पैसों की जरूरत, SBI की ये सुविधा आएगी काम)

अब क्या होगा- मार्केट एक्सपर्ट्स अजय बग्गा का कहना है कि आईआईपी ग्रोथ के गिरने का अनुमान पहले से था. लेकिन ये नंबर्स अनुमान से बेहद खराब है. ऑटो सेल्स में आई गिरावट का असर भी इन आंकड़ों पर है. अगले कुछ महीनों में ग्रोथ में रिकवरी की उम्मीद है.

ये भी पढ़ें-जम्मू-कश्मीर में 8 लाख लोगों को इसलिए भेजे गए 4-4 हजार रुपये

इस दौरान माइनिंग ग्रोथ 1.6 फीसदी रही. एक महीना पहले मई 2019 में माइनिंग ग्रोथ 3.2 फीसदी थी. जून 2019 में इलेक्ट्रिसिटी की ग्रोथ में बढ़ोतरी देखने को मिली है. जून में यह ग्रोथ 8.2 फीसदी रही दो मई में 7.4 फीसदी थी. हालांकि इस दौरान प्राइमरी गुड्स की ग्रोथ में काफी गिरावट रही है.

Image
Loading...

जून 2019 में इसकी ग्रोथ सिर्फ 0.5 फीसदी रही जो मई 2019 में 2.5 फीसदी थी. जून 2019 में कैपिटल गुड्स की ग्रोथ में बड़ी गिरावट आई है. मई 2019 के 0.8 फीसदी के मुकाबले यह घटकर जून में -6.5 फीसदी पर आ गया है. इस दौरान इंटरमीडिएट गुड्स की ग्रोथ मई 2019 के 0.6 फीसदी के मुकाबले बढ़कर 12.4 फीसदी हो गई.

Image

जून में कंज्यूमर ड्यूरेबल्स की ग्रोथ की काफी कमजोर रही. मई 2019 में इसकी ग्रोथ -0.1 फीसदी थी जो जून 2019 में घटकर -5.5 फीसदी पर आ गए. कंज्यूमर नॉन-ड्यूरेबल्स की ग्रोथ में कुछ खास बदलाव नहीं रहा. मई 2019 के 7.7 फीसदी के मुकाबले जून में मामूली बढ़ोतरी के साथ यह 7.8 फीसदी रहा.

चिंतित करने वाले आंकड़े -जून में कैपिटल गुड्स की ग्रोथ घटकर -6.5 फीसदी रही, जो मई में 0.8 फीसदी रही थी. जून में कंज्यूमर ड्यूरेबल्स ग्रोथ घटकर -5.5 फीसदी रही, जो मई में 0.1 फीसदी रही थी.जून में कंज्यूमर नॉन-ड्यूरेबल्स ग्रोथ घटकर मामूली बढ़कर 7.8 फीसदी रही, जो मई में 7.7 फीसदी रही थी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 9, 2019, 7:11 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...