गुजरात में आज बारिश का अलर्ट, दिल्ली में इस दिन हो सकती है भारी बारिश

मौसम विभाग के मुताबिक 5 अगस्त के देश कुछ हिस्सों में भारी से बहुत ज्यादा भारी बारिश हो सकती है. 2 अगस्त को दिल्ली में भारी बारिश की संभावना है.

News18Hindi
Updated: August 1, 2019, 4:20 PM IST
गुजरात में आज बारिश का अलर्ट, दिल्ली में इस दिन हो सकती है भारी बारिश
IMD अलर्ट! दिल्ली में इस दिन हो सकती है भारी बारिश
News18Hindi
Updated: August 1, 2019, 4:20 PM IST
भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने अपने ताजा अनुमान में आज वडोदरा समेत गुजरात में भारी बारिश का अनुमान जताया है. मौसम विभाग के मुताबिक 5 अगस्त के देश कुछ हिस्सों में भारी से बहुत ज्यादा भारी बारिश हो सकती है. 2 अगस्त को दिल्ली में भारी बारिश की संभावना है. 4 अगस्त को बंगाल की खाड़ी में लो प्रेशर एरिया बनने की उम्मीद है. अगले 3-4 दिन में हिमालयन रीजन, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में जमकर बारिश होगी.

वडोदरा समेत गुजरात में भारी बारिश
भारी बारिश के चलते वडोदरा के कई इलाकों में रात से बिजली काट दी गई है. वहीं रात में वडोदरा एयरपोर्ट भी बंद करना पड़ा है. मौसम विभाग ने आज गुजरात के कुछ इलाकों और पूर्वी राजस्थान में भारी से बहुत ज्यादा भारी बारिश का अनुमान जताया है.

अगस्त, सितंबर में मानसून सामान्य रहने की संभावना

मौसम विभाग ने चार महीने के बारिश के मौसम के दूसरे भाग के पूर्वानुमान में कहा कि मानसून अगस्त और सितंबर में सामान्य रहने की उम्मीद है. गणना के रूप में, दो महीने की समयावधि में बारिश कुल मिलाकर देशभर में दीर्घावधि औसत (LPA) की 100 फीसदी रहने की संभावना है जिसमें 8 फीसदी अधिक या कम की आदर्श गलती हो सकती है.



अगस्त में बारिश एलपीए की 99 फीसदी रहने की संभावना है जिसमें 9 प्रतिशत अधिक या कम की गलती हो सकती है. विभाग ने कहा कि पूर्वानुमान कहता है कि दक्षिण पश्चिम मानसून सत्र के दूसरे भाग के दौरान देशभर में बारिश सामान्य (एलपीए का 94-106 प्रतिशत) रहने की संभावना है.
Loading...

जुलाई में सामान्य से अधिक बारिश हुई
मौसम विभाग के मुताबिक जुलाई के महीने में सामान्य से अधिक बारिश हुई जिससे देश के कई हिस्सों में काफी राहत मिली है. जुलाई में सामान्य अनुमान के 285.3 मिलीमीटर के मुकाबले 298.3 मिलीमीटर बारिश हुई. आईएमडी ने कहा कि अगले दो सप्ताह में भी अच्छी बारिश होने की संभावना है और बारिश के उसके आकलन में नौ फीसदी की बढ़ोत्तरी हुई है. जुलाई में सामान्य से पांच फीसदी अधिक लॉन्ग पीरियड एवरेज (एलपीए) की 105 प्रतिशत बारिश हुई. आईएमडी ने 95 प्रतिशत बारिश होने का अनुमान जताया था.

इन इलाकों में हुई कम बारिश
हालांकि, झारखंड, कर्नाटक के दक्षिण हिस्सों, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश के रायससीमा क्षेत्र, अंडमान और निकोबार द्वीप, हिमाचल प्रदेश, गांगेय पश्चिम बंगाल में जुलाई में सामान्य से कम बारिश हुई.
बिहार, असम, तटीय महाराष्ट्र के कई हिस्सों में बाढ़ आ गई. जून में एलपीए की 87 फीसदी बारिश दर्ज की गई.

इस साल देरी से पहुंचा मानसून
इस साल मानसून केरल में एक सप्ताह की देरी से आठ जून को पहुंचा था. उसकी शुरुआत धीमी रही और 19 जुलाई को चार दिन की देरी से वह पूरे देश में पहुंच गया. भारत में बारिश के आधिकारिक मौसम जून से सितंबर तक होते हैं. आगामी दो महीने में अच्छी बारिश होने की संभावना है.

ये भी पढ़ें: अगस्त में कब-कब बंद रहेंगे बैंक, देख लें ये लिस्ट वरना रुक जाएंगे आपके जरूरी काम

ये भी पढ़ें: मोदी सरकार की नई स्कीम 'वन नेशन-वन राशनकार्ड' आज से इन 4 राज्यों में हुई शुरू

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 1, 2019, 4:09 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...