इन जगहों पर पहुंचा मानसून! अगले कुछ दिन यहां हो सकती हैं तेज बारिश

Monsoon Rain Update 2019: चक्रवाती तूफान वायु के बाद मानसून की धीमी पड़ गई गति अब फिर से तेज होने की उम्मीद है. भारतीय मौसम विभाग का कहना है कि 20 जून तक बंगाल की खाड़ी में फिर से निम्न दबाव का क्षेत्र बनेगा. ऐसे में मानसून के रफ्तार पकड़ने की उम्मीद बढ़ गई है.

News18Hindi
Updated: June 17, 2019, 3:55 PM IST
News18Hindi
Updated: June 17, 2019, 3:55 PM IST
चक्रवाती तूफान वायु के बाद मानसून की धीमी पड़ गई गति अब फिर से तेज होने की उम्मीद है. भारतीय मौसम विभाग का कहना है कि 20 जून तक बंगाल की खाड़ी में फिर से निम्न दबाव का क्षेत्र बनेगा. ऐसे में मानसून के फिर से रफ्तार पकड़ने की उम्मीद है. स्काईमेट के जेपी शर्मा ने सीएनबीसी आवाज़ को खास बातचीत में बताया कि सेंट्रल इंडिया में अभी तक बारिश ना के बराबर हुई है. लेकिन 20 जून के बाद मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ में तेज बारिश की उम्मीद है. रविवार को भी मानसून की गति में मामूली तेजी देखने को मिली. मानसून ने कर्नाटक, मैसूर और पूर्वोत्तर में गंगटोक तक दस्तक दे दी है. हालांकि, अब भी मानसून अपने सामान्य समय से लगभग दस दिन पीछे चल रहा है.

आपको बता दें कि मानूसन सीजन की बारिश में अब तक कुल कमी 43 फीसदी तक पहुंच गई है. मध्य प्रदेश, ओडिशा, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र और गोवा में अब तक सामान्य से 59 फीसदी तक कम बारिश दर्ज की गई है. जबकि पूर्व और पूर्वोत्तर में 47 फीसदी तक कम बारिश दर्ज हुई है. ऐसे में किसानों की चिंता बढ़ गई है. क्योंकि खरीफ फसल जैसे धान (चावल), मक्का, ज्वार, बाजरा, मूंग, मूंगफली, गन्ना, सोयाबीन की खेती करने वाले किसानों के लिए मुश्किलें बढ़ गई हैं. ये सभी फसलें मानसून की बारिश पर टिकी होती हैं.

ये भी पढ़ें-मोदी सरकार का तोहफा! किसानों के लिए लाएगी कैशबैक स्कीम

भारी बारिश का अनुमान- भारतीय मौसम विभाग ने अपने ताजा बुलेटिन में कहा है कि मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल, असम और मेघालय में भारी बारिश की चेतावनी है.

मौसम विभाग की ओर से जारी चेतावनी!


ये भी पढ़ें: मोदी सरकार खत्म करेगी किसानों की सबसे बड़ी टेंशन!

इन इलाकों में मिली गर्मी से राहत-मौसम विभाग के अनुसार, जम्मू-कश्मीर के ऊपर बन रहे एक साइक्लोनिक सर्कुलेशन और पहले से गुजरात के समुद्र में सक्रिय चक्रवाती तूफान वायु के चलते देश के कई हिस्सों में गर्मी का प्रभाव कम हुआ है. उत्तर भारत के कई हिस्सों में तेज हवाओं के साथ बूंदाबादी भी दर्ज की गई है.
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...