लाइव टीवी

'कंगाल' पाकिस्तान की IMF ने फिर की मदद, देगा 6 अरब डॉलर का क़र्ज़

News18Hindi
Updated: May 13, 2019, 11:10 AM IST
'कंगाल' पाकिस्तान की IMF ने फिर की मदद, देगा 6 अरब डॉलर का क़र्ज़
इमरान खान

पाकिस्तान और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के बीच रविवार को एक समझौता हुआ जिसके तहत आईएमएफ खस्ताहाल अर्थव्यवस्था वाले इस देश को तीन वर्षों में 6 अरब डॉलर का ‘बेलआउट पैकेज’ देगा.

  • Share this:
पाकिस्तान और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के बीच रविवार को आखिरकार समझौता हो गया, जिसके तहत आईएमएफ खस्ताहाल अर्थव्यवस्था वाले इस देश को तीन वर्षों में 6 अरब डॉलर का ‘बेलआउट पैकेज’ देगा. ‘डॉन न्यूज’ ने वित्त, राजस्व एवं आर्थिक मामलों पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के सलाहकार डॉ. अब्दुल हफीज शेख के हवाले से अपनी एक खबर में कहा कि स्टाफ स्तर पर हुए इस समझौते को अभी वाशिंगटन में आईएमएफ बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की औपचारिक मंजूरी मिलनी बाकी है.

मीडिया से बातचीत के दौरान वित्तीय सलाहकार हफीज शेख ने आगे कहा, 'व्यापार घाटा 20 बिलियन डॉलर तक पहुंच गया है और पिछले दो सालों में हमारे विदेशी मुद्रा भंडार में 50 प्रतिशत की गिरावट आई है. इसलिए पाकिस्तान वार्षिक भुगतान में 12 बिलियन डॉलर का अंतर है और हमारे पास उन्हें भुगतान करने की क्षमता नहीं है.'

ये भी पढ़ें: ...तो क्या अब ईरान में एक ब्रेड खरीदने के लिए नोट गिनकर नहीं तोलकर देने होंगे!

आईएमएफ़ ने कहा कि पाकिस्तान की सरकार ने महंगाई, उच्च कर्ज़ और सुस्त विकास की समस्याओं से निबटने की ज़रूरत को स्वीकार किया है. आईएमएफ़ ने कहा है कि वो देश में कर सुधारों का समर्थन करती है और इससे खर्च में बढ़ोतरी होगी.

ये भी पढ़ें: सिर्फ 50 हजार रुपये में शुरू करें ये बिजनेस, सरकार देगी 90 फीसदी तक लोन

8 अरब डॉलर राहत पैकेज मिलने की उम्मीद
आपको बता दे कि पाकिस्तान को आईएमएफ से करीब 8 अरब डॉलर का राहत पैकेज मिलने की उम्मीद थी. आईएमएफ से पाकिस्तान लगभग आठ अरब डॉलर के कोश की मांग कर रहा था.तीन मुद्दों पर नहीं बन रही थी बात
आईएमएफ के साथ तीन मुद्दों के कारण बातचीत का निष्कर्ष नहीं निकल पा रहा था. हालांकि, आईएमएफ द्वारा कार्यक्रम में कुछ नई शर्तें जोड़ने से बातचीत पटरी से उतर गई.

ये भी पढ़ें: LIC पॉलिसी पसंद नहीं आने पर ऐसे वापस पाएं अपना पैसा, जानिए क्या है नियम और शर्तें

लगातार बढ़ रहा है कर्ज का बोझ
पाकिस्तान पर कर्ज का बोझ लगातार बढ़ता जा रहा है. वहीं विदेशी भुगतान के लिए धन की कमी से जूझ रहे पाकिस्तान ने राहत पैकेज के लिए अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (IMF) के प्रतिनिधिमंडल के साथ तकनीकी रूप की चर्चा शुरू की थी. बैंक के प्रतिनिधियों व पाकिस्तान के अधिकारियों के बीच यह वार्ता करीब एक सप्ताह तक चलेगी. पाकिस्तान भुगतान संतुलन के संकट से जूझ रहा है, जिससे देश की अर्थव्यवस्था के डगमगाने का खतरा है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 13, 2019, 10:50 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर