• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • क्रिप्टोकरेंसी को लेकर IMF ने दी फिर चेतावनी, खतरों को लेकर आगाह किया, जानिए पूरा मामला

क्रिप्टोकरेंसी को लेकर IMF ने दी फिर चेतावनी, खतरों को लेकर आगाह किया, जानिए पूरा मामला

क्रिप्टोकरेंसी मार्केट

क्रिप्टोकरेंसी मार्केट

इंटरनेशनल मॉनेटरी फंड (IMF) ने cryptocurrencies अपनाने वाले देशों को फिर से एक बार चेतावनी दी है. IMF ने क्रिप्टोकरेंसी अपनाने वाले देशों को इसके खतरों के बारे में आगाह किया है.

  • Share this:

    Cryptocurrency: क्रिप्टोकरेंसी को लेकर हमेशा कुछ न कुछ विवाद बना रहता है. इसकी माइनिंग से लेकर इस्तेमाल तक को लेकर हमेशा सवाल उठते रहते हैं. अब इंटरनेशनल मॉनेटरी फंड (IMF) ने फिर से इस मामले में चेतावनी दी है. IMF ने क्रिप्टोकरेंसी अपनाने वाले देशों को एक बार फिर इसके खतरों के बारे में आगाह किया है.

    IMF ने इन तमाम को देशों को चेतावनी देते हुए कहा कि क्रिप्टोकरेंसी को बड़े स्तर पर अपनाने से फाइनेंशियल मार्केट में कई खतरे पैदा हो सकते हैं. बता दें कि IMF इस पहले भी क्रिप्टोकरेंसी को कानूनी रूप से अपनाने के खिलाफ अपनी राय जाहिर कर चुका है.

    ग्लोबल फाइनेंशियल स्टैबिलिटी रिपोर्ट 
    IMF ने अपनी ग्लोबल फाइनेंशियल स्टैबिलिटी रिपोर्ट में कहा, “एक क्रिप्टो एसेट को मुख्य राष्ट्रीय करेंसी के रूप में अपनाने के महत्वपूर्ण खतरे हैं होते हैं और यह एक अनुचित शॉर्टकट है.” IMF ने क्रिप्टो को अपनाने के जिन खतरों को बताया कि उनमें “बड़े स्तर पर वित्तीय स्थिरता, फाइनेंशियल इंटिग्रिटी, कंज्यूमर प्रोटेक्शन और पर्यावरण” से जुड़े खतरे शामिल हैं.

    यह भी पढ़ें- Tata Motors के शेयरों में 5 दिन में 42% की तेजी, आज ही 20% चढ़े, जानिए आगे की निवेश रणनीति

    क्रिप्टोकरेंसी का  वास्तविक अर्थव्यवस्था से कोई जुड़ाव नहीं 
    IMF ने कहा, “फिलहाल ऐसी स्थिति पैदा होने की संभावना कम है क्योंकि अभी भी अधिकतर देशों में लोग और बिजनेस इससे दूर है. हालांकि गैर-स्टेबल क्रिप्टो करेंसी की वैल्यू में जो अचानक से भारी उतार-चढ़ाव आता है, वह बताता है कि इसका वास्तविक अर्थव्यवस्था से कोई जुड़ाव नहीं है.”

    IMF के एक ग्रुप की तरफ से तैयार रिपोर्ट में इस तथ्य के बारे में भी चेतावनी दी कि जैसे-जैसे क्रिप्टोकरेंसी और क्रिप्टो बाजार विकसित और बढ़ते जाएंगे, वैसे-वैसे अधिक जोखिम वाले कारक सामने आएंगे.
    IMF की यह रिपोर्ट ऐसे समय में सामने आई है, जब सेंट्रल अमेरिकी देश अल सल्वाडोर बिटकॉइन को लीगल टेंडर के रूप में अपनाने वाला दुनिया का पहला देश बन गया है. इस बीच बिटकॉइन में पिछले एक हफ्ते में 10 पर्सेंट से अधिक की तेजी आई है.

    क्रिप्टोकरेंसी मार्केट
    12 अक्टूबर 2021 यानी मंगलवार के दिन ग्लोबल क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में पिछले 24 घंटों में 1.09 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है और यह 175.02 लाख करोड़ रुपये पर ट्रेड कर रहा है. वहीं टोटल क्रिप्टो मार्केट Volume की बात करें तो वह 7,89,409 करोड़ पर ट्रेड कर रहा है. इसमें पिछले 24 घंटे में 7.92 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की जा रही है.

    दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन (Bitcoin) में पिछले 24 घंटों में तेजी देखी जा रही है. इसमें 0.84 प्रतिशत की बढ़त दर्ज देखी गई है और इसका मार्केट प्राइस 44,45,270 रुपये तक पहुंच गया है. इसका क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में करीब 45.58 प्रतिशत की हिस्सेदारी है. आपको बता दें कि बिटकॉइन में लगातार उठापटक का दौर जारी है. 21 सितंबर को यह 40,596 डॉलर तक पहुंच गया था. गौरतलब है कि 06 अक्टूबर 2021 के बाद से लगातार इसमें तेजी देखी जा रही है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज