पीएम किसान स्कीम, केसीसी और कृषि बजट के आंकड़ों से नाराज किसानों को मनाने में जुटी मोदी सरकार

किसानों के लिए मोदी सरकार के महत्वपूर्ण काम कौन-कौन से हैं?
किसानों के लिए मोदी सरकार के महत्वपूर्ण काम कौन-कौन से हैं?

न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर घिरी मोदी सरकार ने किसानों को रिझाने के लिए निकाला नया तरीका, बता रही है कि उसने किसानों पर कितना पैसा खर्च किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 14, 2020, 7:19 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नए कृषि कानून पर किसान संगठनों और कांग्रेस ने मोदी सरकार (Modi Government) को ऐसा घेर लिया है कि अब नए-नए तरीके से किसानों को मनाना पड़ रहा है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने किसान संगठनों के प्रतिनिधियों को बुलाकर उन्हें रिझाने के लिए मोर्चा संभाला हुआ है. सरकार आम किसानों को अपनी उपलब्धियों को भी बताने में जुटी हुई है, हालांकि उसके पास मंडी से बाहर बनाए गए ट्रेड एरिया में न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) को बाध्यकारी न बनाने को लेकर कोई जवाब नहीं है.

सरकार ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी के ट्रैक्टर वाले किसान आंदोलन का जवाब देने के लिए बीजेपी के बैनर तले हरियाणा में ट्रैक्टर रैली भी करवा ली, लेकिन उसका भी खास लाभ नहीं मिला. ऐसे में अब वो बता रही है कि पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम (PM-Kisan Scheme) और किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) के विस्तार सहित उसके कई काम ऐसे हैं जिनकी वजह से उन्हें सरकार पर भरोसा करना चाहिए कि किसानों के साथ कुछ गलत नहीं होगा. अब किसानों पर इसका कितना असर होगा ये तो वक्त ही बताएगा लेकिन वो अपने काम बताने से नहीं चूक रही है.

 Important work of Modi government for farmers, Empowering kisan, PM Kisan scheme, KCC, kisan credit card, agriculture budget, किसानों के लिए मोदी सरकार के महत्वपूर्ण काम, किसान सशक्तिकरण, पीएम किसान योजना, केसीसी, किसान क्रेडिट कार्ड, कृषि बजट
कृषि कानून के खिलाफ जारी है आंदोलन, 'ट्रैक्टर रैली' में शामिल राहुल गांधी (File Photo-Congress)




इसे भी पढ़ें: एमएसपी विवाद के बीच देश में 35 प्रतिशत बढ़ी धान की खरीद, पंजाब नंबर वन
किसानों के लिए मोदी सरकार के बड़े काम

>>स्वामीनाथन कमेटी की एमएसपी को तय करने संबंधी सिफारिशों को लागू किया गया. जिससे उत्पादन लागत पर कम से कम 50 प्रतिशत लाभ हुआ.

>>2020-21 के दौरान कृषि बजट 1,34,399 करोड़ रहा जोकि 2009-10 में सिर्फ 12,000 करोड़ था.

>>आत्मनिर्भर भारत पैकेज के तहत 1 लाख करोड़ रुपये का कृषि इन्फ्रा फंड बनाया गया है, जिससे ढांचागत विकास होगा.

>>प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम से 10 करोड़ से ज्यादा किसान लाभान्वित हुए. किसानों को डीबीटी के जरिए 94,000 करोड़ रुपये से ज्यादा रकम दी गई.

इसे भी पढ़ें: जहां MSP पर ज्यादा हुई खरीद वहां किसानों की आय सबसे अच्छी

>>कोविड महामारी के दौरान पीएम किसान योजना के तहत 9 करोड़ किसानों को 38,000 करोड़ से ज्यादा दिया गया.

>>फरवरी 2019 से मत्स्य पालक और पशुपालक किसानों को भी केसीसी कार्ड का लाभ दिया गया. उन्हें 2 लाख रुपये तक का लोन सिर्फ 4 फीसदी की दर पर मिलता है.

>>पिछले छह माह में 1.29 करोड़ किसानों को नए केसीसी कार्ड दिए गए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज