Home /News /business /

improvement in gray market premium of lic ipo before listing check how much gmp is now jst

लिस्टिंग से पहले एलआईसी आईपीओ के ग्रे मार्केट प्रीमियम में सुधार, चेक करें अब कितना है जीएमपी

एलआईसी का आईपीओ 9 मई को बंद हुआ था

एलआईसी का आईपीओ 9 मई को बंद हुआ था

देश का सबसे बड़ा आईपीओ 4 मई से 9 मई के बीच सब्सक्रिप्शन के लिए खुला था. इसे बाजार से सकारात्मक प्रतिक्रिया मिली यह 2.95 गुना सब्सक्राइब किया गया. आईपीओ का जीएमपी लगातार 5 दिन से नेगेटिव में है. हालांकि, शनिवार और रविवार को इसमें कुछ सुधार देखने को मिला.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. देश का सबसे बड़ा आईपीओ 4 मई से 9 मई के बीच सब्सक्रिप्शन के लिए खुला था. इसे बाजार से सकारात्मक प्रतिक्रिया मिली और यह 2.95 गुना सब्सक्राइब किया गया. हालांकि, कंपनी का ग्रे मार्केट प्रीमियम (जीएमपी) एक कमजोर लिस्टिंग का संकेत दे रहा है. शेयर आवंटन 12 मई को पूरा हो चुका है और 17 या 18 मई को कंपनी के शेयर सूचीबद्ध हो सकते हैं.

आईपीओ का जीएमपी लगातार 5 दिन से नेगेटिव में है. हालांकि, शनिवार और रविवार को इसमें कुछ सुधार देखने को मिला लेकिन ये अब भी पॉजिटिव क्षेत्र में नहीं आ पाया है. chanakyanipothi.com के अनुसार, रविवार को एलआईसी आईपीओ का जीएमपी 936 रुपये है जो इसके प्राइस बैंड के ऊपरी हिस्से (जिस पर शेयर अलॉट हुए हैं) से 13 रुपये कम है. यह शुक्रवार को -25 था जो सुधरकर शनिवार को -20 हुआ था.

ये भी पढ़ें- LIC IPO: सबकी निगाहें अब 17 मई की लिस्टिंग पर टिकीं, महत्वपूर्ण बातें जो आपको जाननी चाहिए

क्या है जीएमपी

आईपीओ ग्रे मार्केट वह है जहां एक कंपनी के शेयरों की बोली लगाई जाती है और ट्रेडर्स द्वारा अनौपचारिक रूप से शेयरों की पेशकश की जाती है. यह कंपनी के शेयरों के स्टॉक एक्सचेंजों में सूचीबद्ध होने से पहले होता है. ग्रे मार्केट प्रीमियम वह अतिरिक्त राशि है जो निवेशक कंपनी के शेयरों के लिए भुगतान करने के लिए तैयार हैं. हालांकि, एक नकारात्मक जीएमपी शेयरों के प्रति निवेशकों की नकारात्मक भावना को दर्शाता है. अगर शेयर अपने आईपीओ प्राइस बैंड से नीचे सूचीबद्ध होते हैं तो इसे डिस्काउंट की स्थिति कहा जाता है.

एलआईसी के आईपीओ के बारे में जानकारी

एलआईसी के आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) को सब्सक्रिप्शन के अंतिम दिन 2.95 गुना बोलियां प्राप्त हुईं. इसमें योग्य संस्थागत खरीदारों (क्यूआईबी) के लिए आरक्षित हिस्सा पूरी तरह से बुक हो गया. पॉलिसीधारकों के लिए आरक्षित हिस्सा 6.11 गुना अधिक, कर्मचारियों के लिए आरक्षित हिस्सा 4.39 गुना अधिक, खुदरा निवेशकों को हिस्सा 1.99 गुना अधिक और एनआईआई का हिस्सा 2.91 गुना अधिक सब्सक्राइब हुआ. एलआईसी आईपीओ को 16.21 करोड़ के ऑफर साइज के मुकाबले 47.83 करोड़ बोलियां प्राप्त हुई थीं. एलआईसी आईपीओ का प्राइस बैंड 902-949 रुपये प्रति शेयर तय किया गया था और कंपनी ने अपने पॉलिसीधारकों के लिए 60 रुपये प्रति शेयर और खुदरा निवेशकों और एलआईसी कर्मचारियों के लिए 45 रुपये की छूट की पेशकश की थी.

Tags: LIC IPO

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर