भारत में BS-VI लागू होने पर 20 प्रतिशत महंगे हो जाएंगे डीजल वाहन : टोयोटा

News18Hindi
Updated: September 8, 2019, 9:27 PM IST
भारत में BS-VI लागू होने पर 20 प्रतिशत महंगे हो जाएंगे डीजल वाहन : टोयोटा
टोयोटा किर्लोस्कर मोटर ने कहा कि इंडस्ट्री में बढ़ोतरी के लिए ज़रूरी है कि लंबे समय के इन्फ्रास्ट्रक्चर के समाधान के लिए माल एवं सेवा कर (जीएसटी) की दर में कटौती की जाए.

टोयोटा किर्लोस्कर मोटर ने कहा कि इंडस्ट्री में बढ़ोतरी के लिए ज़रूरी है कि लंबे समय के इन्फ्रास्ट्रक्चर के समाधान के लिए माल एवं सेवा कर (जीएसटी) की दर में कटौती की जाए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 8, 2019, 9:27 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. टोयोटा किर्लोस्कर मोटर (टीकेएम) ने कहा है कि अगले साल अप्रैल से बीएस-6 मानक लागू होने के बाद उसके डीजल वाहनों के दाम 15 से 20 फीसदी बढ़ जाएंगे. कंपनी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी. टीकेएम जापान की वाहन कंपनी टोयोटा और किर्लोस्कर समूह का ज्वाइंट वेंचर है. कंपनी ने कहा कि इंडस्ट्री में बढ़ोतरी के लिए ज़रूरी है कि लंबे समय के इन्फ्रास्ट्रक्चर के समाधान के लिए माल एवं सेवा कर (जीएसटी) की दर में कटौती की जाए.

टीकेएम के उप प्रबंध निदेशक एन. राजा ने कहा, 'बीएस-IV से बीएस-VI में जाने से हमारे डीजल वाहनों के दाम 15 से 20 प्रतिशत तक बढ़ जाएंगे.' उन्होंने कहा कि इसके अलावा प्रतिकूल विनिमय दरों की वजह से कंपनी अपने वाहनों के दाम बढ़ाने पर विचार कर रही है. अभी तक कंपनी ने कीमतों में बढ़ोतरी को रोका हुआ है.

यह भी पढ़ें- 'कंगाल' पाकिस्तान ने फिर फैलाए IMF के सामने हाथ, अब मांगी इस चीज के लिए मदद

कंपनी के ज्यादातर लोकप्रिय मॉडल मसलन इनोवा और फॉर्च्यूनर डीजल पावरट्रेन के साथ बेचे जाते हैं. जनवरी से जुलाई 2019 तक कंपनी के कुल वाहनों की बिक्री में डीजल-पेट्रोल का अनुपात 82:18 था. वहीं यदि यात्री वाहन सेगमेंट की बात की जाए, तो पेट्रोल-डीजल वाहनों का अनुपात 50:50 का है. राजा ने कहा कि बाजार में सुस्ती की वजह से विनिर्माता और डीलर ग्राहकों को अपनी ओर खींचने के लिए कई रियायतें दे रहे हैं.

यह भी पढ़ें- लोन नहीं चुकाने वालों के पास भी होते हैं ये 5 कानूनी अधिकार, यहां जानें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 8, 2019, 4:38 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...