पिछले पांच महीनों में जून में सबसे ज्यादा बढ़ी खुदरा महंगाई दर

केंद्रीय सांख्यिकीय कार्यालय ने जो आंकड़े जारी किए हैं उसके अनुसार खाद्य श्रेणी में मुद्रास्फीति मई के 3.1 प्रतिशत से कम होकर जून में 2.91 प्रतिशत पर आ गई


Updated: July 12, 2018, 7:55 PM IST
पिछले पांच महीनों में जून में सबसे ज्यादा बढ़ी खुदरा महंगाई दर
Image for representation only/Reuters

Updated: July 12, 2018, 7:55 PM IST
खाद्य पदार्थों के दाम में नरमी आने के बावजूद जून महीने में खुदरा मुद्रास्फीति पांच प्रतिशत पर पहुंच गई. खुदरा मुद्रास्फीति का पिछले पांच महीने में यह सबसे ऊंचा आंकड़ा है. आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) आधारित खुदरा मुद्रास्फीति इस साल मई में 4.87 प्रतिशत तथा पिछले साल जून में 1.46 प्रतिशत थी.

इससे पहले जनवरी 2018 में यह 5.07 प्रतिशत के उच्च स्तर पर थी.

केंद्रीय सांख्यिकीय कार्यालय ने जो आंकड़े जारी किए हैं उसके अनुसार खाद्य श्रेणी में मुद्रास्फीति मई के 3.1 प्रतिशत से कम होकर जून में 2.91 प्रतिशत पर आ गई.

हालांकि, ईंधन, विद्युत श्रेणी में मुद्रास्फीति मई के 5.8 प्रतिशत से बढ़कर जून में 7.14 प्रतिशत पर पहुंच गई.

सरकार ने रिजर्व बैंक को मुद्रास्फीति चार प्रतिशत के आसपास रखने का निर्देश दिया है. रिजर्व बैंक को इसे चार प्रतिशत से दो प्रतिशत अधिक या कम के दायरे का लचीलापन भी दिया गया है.

रिजर्व बैंक के गवर्नर की अध्यक्षता वाली मौद्रिक नीति समिति ब्याज दरों की समीक्षा के लिए इस महीने बाद में बैठक करने वाली है.

 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर