Home /News /business /

IT Refund: इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने FY22 में अब तक टैक्सपेयर्स को भेजे 1.02 करोड़ रुपये

IT Refund: इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने FY22 में अब तक टैक्सपेयर्स को भेजे 1.02 करोड़ रुपये

यह रिफंड 77.92 लाख से ज्यादा टैक्सपेयर्स को जारी किया गया है.

यह रिफंड 77.92 लाख से ज्यादा टैक्सपेयर्स को जारी किया गया है.

Tax Refund Refund: इनकम टैक्स डिपार्टमेंट (Income Tax Department) ने टैक्सपेयर्स को चालू वित्त वर्ष में अब तक एक लाख करोड़ रुपये से ज्यादा का रिफंड जारी कर दिया है.

    नई दिल्ली. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट (Income Tax Department) ने चालू वित्त वर्ष (2021-22) में 25 अक्टूबर तक 77.92 लाख से ज्यादा टैक्सपेयर्स को 1,02,952 करोड़ रुपये से ज्यादा राशि रिफंड की है. यह आंकड़ा 1 अप्रैल 2021 से 25 अक्टूबर 2021 के बीच हुए रिफंड का है. इसमें से पर्सनल इनकम टैक्स रिफंड 27,965 करोड़ रुपये था, जबकि कॉरपोरेट्स का टैक्स रिफंड 74,987 करोड़ रुपये था.

    इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने ट्वीट कर कहा, ”सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस (CBDT) ने एक अप्रैल, 2021 से 25 अक्टूबर 2021 के बीच 77.92 लाख से ज्यादा टैक्सपेयर्स को 1,02,952 करोड़ रुपये से ज्यादा की वापसी की है. 76,21,956 मामलों में 27,965 करोड़ रुपये का आयकर रिफंड जारी किया गया है और 1,70,424 मामलों में 74,987 करोड़ रुपये का कॉर्पोरेट टैक्स रिफंड जारी किया गया है.”

    इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने कहा, ”इसमें 6,657.40 करोड़ रुपये के 46.09 लाख रिफंड आकलन वर्ष 2021-22 (AY 2021-22) के हैं.”

    गौरतलब है कि पिछले वित्त वर्ष 2020-21 में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने 2.38 करोड़ टैक्सपेयर्स को 2.62 लाख करोड़ रुपये का टैक्स रिफंड जारी किया था. यह वित्त वर्ष 2019-20 में जारी 1.83 लाख करोड़ रुपये के रिफंड से 43.2 फीसदी ज्यादा था.

    इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने अपने पोर्टल पर टैक्स ऑडिट यूटिलिटी फॉर्म को किया सक्षम 
    गौरतलब है कि इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने अपने पोर्टल पर वित्त वर्ष 2019-20 और 2020-21 के लिए कर ऑडिट उपयोगिता फार्म को सक्षम किया है. यदि वित्त वर्ष 2020-21 (आकलन वर्ष 2021-22) में व्यापार की बिक्री, टर्नओवर या सकल प्राप्तियां 10 करोड़ रुपये से अधिक हैं, तो इनकम टैक्स कानून के तहत टैक्सपेयर्स को अपने खातों का ऑडिट करवाना जरूरी है. पेशेवरों के मामले में यह सीमा 50 लाख रुपये है. वित्त वर्ष 2019-20 के लिए यह सीमा क्रमश: 5 करोड़ रुपये और 50 लाख रुपये है.

    वित्त वर्ष 2020-21 के लिए टैक्स ऑडिट रिपोर्ट दाखिल करने की अंतिम तारीख 15 जनवरी 2022 है. वित्त वर्ष 2019-20 के लिए इसे 15 जनवरी 2021 तक दाखिल करना था, हालांकि कंपनियां अभी भी संशोधित टैक्स ऑडिट रिपोर्ट दाखिल कर सकती हैं.

    Tags: Income tax, Income tax department

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर