IT Refund: इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने 1 अप्रैल से 3 मई के बीच टैक्सपेयर्स को भेजे 15,438 करोड़ रुपये

वित्त वर्ष 2019-20 का आईटीआर फाइल करने के लिए यह आखिरी मौका है. इसके बाद आपको भारी जुर्माना भरना पड़ सकता है.

वित्त वर्ष 2019-20 का आईटीआर फाइल करने के लिए यह आखिरी मौका है. इसके बाद आपको भारी जुर्माना भरना पड़ सकता है.

पिछले वित्त वर्ष 2020-21 में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने 2.38 करोड़ टैक्सपेयर्स को 2.62 लाख करोड़ रुपये का टैक्स रिफंड जारी किया था.

  • Share this:

नई दिल्ली. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट (Income Tax Department) ने चालू वित्त वर्ष 2021-22 (FY22) में 11.73 लाख टैक्सपेयर्स को 5,649 करोड़ रुपये की राशि रिफंड की. यह आंकड़ा 1 अप्रैल से 3 मई 2021 के बीच जारी रिफंड के हैं.

विभाग ने बुधवार को यह जानकारी देते हुए कहा कि 11.51 लाख टैक्सपेयर्स को 5,047  करोड़ रुपये का व्यक्तिगत इनकम टैक्स रिफंड किया गया है. वहीं कॉरपोरेट क्षेत्र के  21,487 टैक्सपेयर्स को 10,392 करोड़ रुपये का रिफंड किया गया है.

ये भी पढ़ें- Success Story : माता-पिता की देखभाल के लिए नौकरी छोड़ टीपीए बिजनेस किया, अब 3000 करोड़ का पोर्टफोलियो

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने ट्वीट किया, ''केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड ने 1 अप्रैल से 3 मई के दौरान 7.39 लाख टैक्सपेयर्स को 15,438  करोड़ रुपये का टैक्स रिफंड किया है.''


गौरतलब है कि पिछले वित्त वर्ष 2020-21 में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने 2.38 करोड़ टैक्सपेयर्स को 2.62 लाख करोड़ रुपये का टैक्स रिफंड जारी किया था. यह इससे पिछले वित्त वर्ष 2019-20 में जारी 1.83 लाख करोड़ रुपये के रिफंड से 43.2 फीसदी अधिक है.

ऐसे चेक करें रिफंड का स्टेटस



>> इसके लिए आपको इनकम टैक्स ई-फाइलिंग वेबसाइट पर जाना होगा. यहां आप आपना पोर्टल लॉग इन करेंगे. पोर्टल लॉगिन के लिए आपको अपना पैन नंबर, ई-फाइलिंग पासवर्ड और कैप्चा भरना होगा.

>> जैसे ही आपका पोर्टल प्रोफाइल खुलेगा, उसके बाद आपको ‘View returns/forms’ पर क्लि​क करना होगा.

>> अगले स्टेप में आप ड्रॉप डाउन मेन्यू से 'Income Tax Returns' पर क्लिक कर सबमिट करेंगे. हाइपरलिंक अकनॉलेजमेंट नंबर पर क्लि​क करने के बाद एक नई स्क्रिन खुलेगी.

>> इस स्क्रीन पर आपको फाइलिंग की टाइमलाइन, प्रोसेसिंग ​टैक्स रिर्टन के बारे में जानकारी मिलेगी. इसमें फाइलिंग की तारीख, रिटर्न वेरिफाइ करने की तारीख, प्रोसेसिंग के पूरा होने की तारीख, रिफंड जारी करने की तारीख और पेमेंट रिफंड के बारे में जानकारी होगी.

>> अगर आपका टैक्स रिफंड फेल हो जाता है तो इस स्क्रीन पर आपको वो कारण बताया जाएगा कि आखिर क्यों आपके द्वारा फाइल किया गया रिटर्न फेल हुआ है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज