टैक्स वसूली में सख्ती करेगा IT विभाग, उठाएगा ये कदम

आयकर विभाग स्टे ऑर्डर हटवा कर टैक्सपेयर्स पर वसूली का दबाव बनाएगा.

News18Hindi
Updated: March 14, 2019, 8:06 PM IST
News18Hindi
Updated: March 14, 2019, 8:06 PM IST
आयकर विभाग (Income Tax Department) अब टैक्स वसूली के लिए सख्ती बढ़ाने वाला है. दरअसल, आयकर विभाग का टैक्स कलेक्शन के लक्ष्य को पूरा करने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगा रहा है. इसके तहत आम टैक्सपेयर के साथ बड़ी कंपनियों को भी एडवांस टैक्स जमा करने के लिए दबाव बना रहा है. आयकर विभाग का 12 लाख करोड़ रुपये का टैक्स कलेक्शन का लक्ष्य है, लेकिन दिसंबर 2018 तक 8.50 लाख करोड़ रुपये की वसूली हुई है. (ये भी पढ़ें: SBI की ग्राहकों को चेतावनी! इस वॉट्सऐप मैसेज को भूलकर भी ना खोलें, लग सकता है लाखों का चूना) स्टे हटवाकर की जाएगी वसूली टैक्स वसूली के लिए आयकर विभाग स्टे हासिल कर चुके टैक्सपेयर्स के खिलाफ स्टे हटवा सकती है. स्टे ऑर्डर हटवा कर टैक्सपेयर्स पर वसूली का दबाव बनाया जाएगा. एक सुप्रीम कोर्ट के हालिया फैसले के आधार पर इस स्टे को हटाया जाएगा ताकि उन पर टैक्स जमा कराने का दबाव बनाया जा सके. 31 मार्च से पहले डिविडेंड ऐलान करने की अपील

इसके अलावा आयकर विभाग कैश रिच और मजबूत बैलेंसशीट वाली कंपनियों जो सरकारी और गैर-सरकारी कंपनियां हैं, उनको भी जल्द से जल्द वो डिविडेंड दें ताकि डिविडेंड डिस्ट्रीब्यूशन के तौर पर उन्हें रेवेन्यू मिल सके.

ये भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव 2019: आसमान में भी चल रही है एक लड़ाई, BJP ने बुक कराए 60% हेलिकॉप्टर इसके साथ-साथ आयकर विभाग अपने सभी अधिकारियों को वीकली रिपोर्ट भी देने के लिए कहा है ताकि 12 लाख करोड़ रुपये का टैक्स कलेक्शन को पूरा किया जा सके. आयकर विभाग का कहना है कि वो इस लक्ष्य को प्राप्त कर लेगा.
Loading...

(आलोक प्रियदर्शी, संवाददाता- CNBC आवाज़) एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...