लाइव टीवी

सरकार ने IT रिटर्न में किया बड़ा बदलाव, 1 लाख का बिजली बिल भरने वालों को अब नहीं भरना होगा ये फॉर्म

News18Hindi
Updated: January 6, 2020, 8:48 PM IST

नए नियमों के मुताबिक, सालाना 1 लाख रुपये का बिजली बिल दे रहे टैक्सपेयर्स इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) फॉर्म-1 सहज से नहीं भर सकेंगे. इसके अलावा घर के संयुक्त मालिकाना हक वाले टैक्सपेयर्स अगले वित्त वर्ष के लिए ITR-1 या ITR-IV में रिटर्न नहीं भर सकेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 6, 2020, 8:48 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अगर आप इनकम टैक्स रिटर्न (Income Tax Return) फाइल करते हैं तो यह खबर आपके लिए महत्वपूर्ण है. क्योंकि सरकार ने इनकम टैक्स रिटर्न (IT Return) फॉर्म में कुछ बदलाव किए हैं. नए नियमों के मुताबिक, सालाना 1 लाख रुपये का बिजली बिल दे रहे टैक्सपेयर्स इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) फॉर्म-1 सहज से नहीं भर सकेंगे. इसके अलावा घर के संयुक्त मालिकाना हक वाले टैक्सपेयर्स अगले वित्त वर्ष के लिए ITR-1 या ITR-IV में रिटर्न नहीं भर सकेंगे.

एक नियम यह भी बदला है कि बैंक खाते में 1 करोड़ रुपये जमा कराने वाले, विदेश यात्रा पर 2 लाख खर्च करने वाले टैक्सपेयर्स भी इस बार ITR-1 का प्रयोग नहीं कर सकेंगे. इनके लिए नए फॉर्म की जानकारी बाद में दी जाएगी. ऐसे टैक्सपेयर्स को अब दूसरे फॉर्म के जरिए रिटर्न फाइल करना होगा. इन नए फॉर्म की जानकारी आगे आने वाले समय में मिलेगी.

ये भी पढ़ें: UIDAI ने शुरू की नई सर्विस Aadhaar Card को लेकर है कोई सवाल तो मिनटों में मिलेगा जवाब, जानिए सबकुछ

सरकार आमतौर पर हर साल अप्रैल में इनकम टैक्स रिटर्न के फॉर्म से जुड़ी जानकारियां देती है. हालांकि इस बार सरकार ने असेसमेंट ईयर 2020-21 (इनकम अर्निंग ईयर 1 अप्रैल 2019 से 31 मार्च 2020 तक) के लिए 3 जनवरी को ही नए फॉर्म नोटिफाई कर दिया.



इनके लिए है ITR-1 फॉर्म
ITR-1 फॉर्म के जरिए रिटर्न फाइल करना आसान है. लिहाजा जिन टैक्सपेयर की सालाना आमदनी 50 लाख रुपये से कम है वो इस फॉर्म के जरिए इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करते हैं. जबकि ITR-4 सुगम फॉर्म HUF (हिंदू यूनाइटेड फैमिली) और कंपनियों (LLP को छोड़कर) के लिए है. जिन लोगों को बिजनेस या किसी प्रोफेशन से आमदनी होती है उन्हें भी ITR-4 फॉर्म भरना पड़ता है. हालांकि यह फॉर्म भरने के लिए भी जरूरी है कि सालाना आमदनी 50 लाख रुपये से कम हो.क्या हैं बदलाव?
नए नोटिफिकेशन के मुताबिक, ITR फॉर्म में इस बार दो बदलाव हुए हैं. पहला, अगर कोई टैक्सपेयर हाउस प्रॉपर्टी में ज्वाइंट मालिकाना हक रखता है तो वे लोग ना ही ITR-1 फॉर्म और ना ही ITR-4 भर सकते हैं.

ये भी पढ़ें: 8 करोड़ PF खाताधारकों को लग सकता है झटका! PF पर घट सकता है ब्याज

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 6, 2020, 1:15 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर