Home /News /business /

Income Tax Return: टैक्सपेयर को ऑनलाइन ही भरना होगा आईटीआर, अब फिजिकल फाइलिंग संभव नहीं - CBDT

Income Tax Return: टैक्सपेयर को ऑनलाइन ही भरना होगा आईटीआर, अब फिजिकल फाइलिंग संभव नहीं - CBDT

टैक्‍सपेयर्स अभी भी पेनाल्‍टी का भुगतान कर आईटीआर फाइल कर सकते हैं.

टैक्‍सपेयर्स अभी भी पेनाल्‍टी का भुगतान कर आईटीआर फाइल कर सकते हैं.

Physical Filing of ITR: इनकम टैक्स पोर्टल में दिक्कतों को देखते हुए गुजरात हाईकोर्ट ने केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) को व्यवहारिक तरीका अपनाने का निर्देश दिया. इस पर सीबीडीटी ने साफ किया कि अब टैक्‍स ऑडिट रिपोर्ट की फिजिकल फाइलिंग संभव नहीं है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. इनकम टैक्स पोर्टल (Income Tax Portal) में दिक्कतों के कारण अब तक इनकम टैक्‍स रिटर्न दाखिल (ITR Filing) नहीं कर पाए टैक्सपेयर्स 31 मार्च 2022 तक 5000 रुपये जुर्माने के साथ इस प्रक्रिया को पूरा कर सकते हैं. इस बीच, केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) ने कहा है कि टैक्स ऑडिट ‌रिपोर्ट (Tax Audit Reports) और इनकम टैक्स रिटर्न की फिजिकल फाइलिंग (Physical Filing of ITR) अब व्‍यवहारिक नहीं रह गई है.

ग‌ुजरात हाईकोर्ट (Gujarat High Court) ने इनकम टैक्स पोर्टल की तकनीकी दिक्कतों को देखते हुए केंद्र सरकार (Central Government) से रिटर्न की फिजिकल फाइलिंग की अनुमति देने पर विचार करने को कहा था. सदर्न गुजरात इनकम टैक्स बार एसोसिएशन ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर टैक्स ऑडिट रिपोर्ट और आईटीआर की फिजिकल कॉपी जमा करने की मांग की थी.

ये भी पढ़ें – नौकरी बदलने में लड़कों से आगे निकल रही हैं लड़कियां, कारण जानेंगे तो कहेंगे- बनता है!

कोर्ट ने कहा, व्यवहारिक तरीका अपनाए CBDT

गुजरात हाई कोर्ट के जस्टिस जेबी पारदीवाला और जस्टिस निशा एम ठाकोर की बेंच ने मामले में सुनवाई करते हुए कहा कि इनकम टैक्स पोर्टल की खामियों के मद्देनजर सरकार फिजिकल फाइलिंग की अनुमति दे. साथ ही कहा कि सरकार के केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड को आईटीआर दाखिल करने के लिए कोई व्यवहारिक तरीका अपनाना चाहिए. वहीं, विशेषज्ञों का कहना है कि अगर सरकार इनकम टैक्स पोर्टल की खामियों के मद्देनजर फिजिकल फाइलिंग की अनुमति देती है तो इससे टैक्सपेयर्स को फायदा ही होगा.

ये भी पढ़ें- Budget 2022 : एनपीएस सब्‍सक्राइबर्स को टैक्स में मिल सकती है बड़ी छूट! फंड पर आपको पूरा अधिकार दे सकती है सरकार

रिटर्न दाखिल करने की तारीख बढ़ाने की मांग

चार्टर्ड अकाउंटेंट समूहों की ओर से भी इस संबंध में जनहित याचिका दाखिल की गई थी. इसमें कहा गया था कि नया इनकम टैक्स पोर्टल ठीक से काम नहीं कर रहा है. इसलिए असेसमेंट ईयर 2021-22 के लिए टैक्स ऑडिट रिपोर्ट और रिटर्न दाखिल करने की तारीख (ITR Filing Deadline) बढ़ाई जानी चाहिए. इस पर दो जजों की बेंच ने कहा कि इनकम टैक्स अधिकारियों को रिटर्न फाइलिंग में आ रही समस्याओं का समाधान करना चाहिए. इस पर सीबीडीटी की ओर से कहा गया कि टैक्‍सपेयर्स को अब आईटीआर ऑनलाइन ही दाखिल करना होगा. फिजिकल फाइलिंग अब संभव नहीं है.

Tags: CBDT, Filing income tax return, Gujarat High Court, ITR filing

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर