लाइव टीवी

इस महीने शुरू करें 2 सालों की प्लानिंग- ऐसे करें तैयारी, हो जाएंगे टेंशन फ्री

News18Hindi
Updated: March 2, 2020, 11:21 AM IST

आइए जानते हैं चेकलिस्ट में क्या-क्या होना चाहिए और आखिरी वक्त में किस तरह की प्लानिंग करनी चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 2, 2020, 11:21 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. मौजूदा वित्त वर्ष (Financial Year) खत्म होने वाला है और 1 अप्रैल से नए वित्त वर्ष (New Financial Year) की शुरुआत हो जाएगी. ऐसे में सबसे जरूरी काम यह है कि आप अपने टैक्स की प्लानिंग को लेकर किन-किन बातों का ख्याल रखें. इसके लिए आपको एक चेकलिस्ट तैयार करना चाहिए. अक्सर लोग ऐसा करना भूल जाते हैं और आखिरी समय में तैयार करने पर टैक्स छूट का पूरा फायदा नहीं लेते पाते हैं. आइए जानते हैं चेकलिस्ट में क्या-क्या होना चाहिए और आखिरी वक्त में किस तरह की प्लानिंग करनी चाहिए.

टैक्स एक्सपर्ट गौरी चड्ढा के मुताबिक, आखिरी वक्त में मार्च के महीने में टैक्स की प्लानिंग दोनों सालों के लिए करनी चाहिए. एक जो साल चल रहा है और दूसरा साल जो आने वाला है.

>> फॉर्म 26AS को जरूर चेक करें
सबसे पहले आपको अपना 26AS चेक करना चाहिए, जहां आपका टैक्स क्रेडिट रिफ्लेक्ट होता है. आपको यह देखना है कि जिसने भी आपका टीडीएस (TDS) काटा है, वो फॉर्म 26AS में आ रहा है या नहीं. अगर वो टीडीएस वहां नजर नहीं कर रहा तो उसका आपको क्रेडिट नहीं मिलेगा और बाद में आपको बहुत परेशानी होगी. फॉर्म 26AS में गलत जानकारी पर क्रेडिट अटक सकता है. इसको आप अभी से चेक करें और टीडीएस काटने वाले को इसे जमा करने को कहें.



ये भी पढ़ें: LPG Cylinder Price: रसोई गैस सिलेंडर के दाम 53 रुपये घटे, यहां चेक करें अपने शहर के नए दाम



>> 31 मार्च 2020 तक पुराना रिटर्न जरूर फाइल करें
अगर आपने पिछले साल का इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) अभी तक नहीं भरा है तो 31 मार्च, 2020 तक पेनाल्टी के साथ ITR जरूर फाइल करें. ऐसा नहीं करने आप पिछले साल का रिटर्न नहीं भर पाएंगे. अभी भी वक्त है कि आप पेनाल्टी के साथ रिटर्न भर दें.

>> टैक्स सेविंग के इंस्ट्रूमेंट्स का पूरा इस्तेमाल करें
तीसरी चीज जो आपको ध्यान रखनी है वो है टैक्स प्लानिंग. कहीं भी टैक्स बचाने की गुंजाइश हो तो जरूर निवेश करें. 80C, 80CCD, 80D में टैक्स प्लानिंग के हिसाब से निवेश करना बाकी रह गया है तो उसे जरूर पूरा कर लें. इसके जरिए आप अपना टैक्स बचा सकते हैं.

>> साल में कुछ बचत खातों में न्यूनतम राशि करनी होती है जमा
कुछ अकाउंट्स ऐसे होते हैं जहां मिनिमम बैलेंस मेंटेन करना होता है. जैसे पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) खाते में हर साल न्यूनतम 500 रुपये जमा करने होते हैं. वो कराना ना भूलें, वरना आपका खाता डिएक्टिवेट हो जाएगा.

ये भी पढ़ें: आपके घर के पानी का भी स्टैंडर्ड होगा तय, सरकार जल्द लाने वाली है नया नियम

>> 15 मार्च से पहले जमा कराएं एडवांस टैक्स
इसके अलावा आपको दो बातों का ध्यान रखना है. पहला- आपको अपना एडवांस टैक्स कैलकुलेट करना है और उसको 15 मार्च से पहले हर हाल में जमा करना है. अगर वो 10 हजार रुपये से ज्यादा का है. दूसरा- निवेश से जुड़े सभी दस्तावेज अपने एम्लॉयर को जमा कराना है.

>>  नोटिस का जवाब दें
इनकम टैक्स पोर्टल पर अपने अकाउंट को समय पर चेक करें. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट का कोई नोटिस आया हो तो उसका जवाब दें.

अगर अभी आप इन सारे चेकलिस्ट को तैयार करना शुरू कर देते हैं तो कारोबारी साल खत्म होते-होते तक आपके पास कोई टेंशन नहीं रह जाएगी और आप बेहतर तरीके से अपना टैक्स बचा सकते हैं.

ये भी पढ़ें: ट्रेन से होली पर घर जाते वक्त नहीं होगी आपको ID प्रूफ दिखाने की जरूरत, बदल गया ये नियम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 2, 2020, 11:05 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading