आर्थिक सुस्ती के बीच इंडस्ट्रियल आउटपुट को झटका, सितंबर में कोर सेक्टर का उत्पादन 5.2 फीसदी रहा

बुनियादी उद्योगों का उत्पादन 5.2% घटा
बुनियादी उद्योगों का उत्पादन 5.2% घटा

आंकड़ों के अुनसार, सितंबर माह में कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, सीमेंट, इस्पात और बिजली क्षेत्र का उत्पादन घट गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 31, 2019, 9:30 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश के अहम उद्योगों की वृद्धि दर (8 Core Sector Growth) में भी भारी गिरावट आई है. आठ बुनियादी उद्योगों का उत्पादन सितंबर में 5.2 प्रतिशत घट गया है. बुनियादी क्षेत्र के आठ उद्योगों में से सात के उत्पादन में सितंबर में गिरावट आई है. गुरुवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार सितंबर, 2018 में बुनियादी उद्योगों का उत्पादन 4.3 प्रतिशत बढ़ा था.

उर्वरक क्षेत्र का उत्पादन बढ़ा
आंकड़ों के अनुसार समीक्षाधीन महीने में कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, सीमेंट, इस्पात और बिजली क्षेत्र का उत्पादन घट गया. वहीं इस दौरान उर्वरक क्षेत्र का उत्पादन 5.4 प्रतिशत बढ़ा. इसके पहले अगस्त माह में भी कोयला, क्रूड ऑयल, प्राकृतिक गैस, सीमेंट और बिजली क्षेत्रों में अगस्त में निगेटिव ग्रोथ दर्ज की गई थी. अगस्त माह में कोयला क्षेत्र में यह नकारात्मक वृद्धि 8.6 फीसद, क्रूड ऑयल सेक्टर में 5.4 फीसद, प्राकृतिक गैस सेक्टर में 3.9 फीसद, सीमेंट सेक्टर में 4.9 फीसद और इलेक्ट्रिसिटी सेक्टर में 2.9 फीसद पर रही.

ये भी पढ़ें: Whatsapp से जासूसी मामले पर सरकार सख्त, 4 दिन में मांगा जबाव
इंडस्ट्रियल आउटपुट में इन 8 सेक्टर्स का 40 फीसदी योगदान


चालू वित्त वर्ष की अप्रैल से सितंबर की अवधि में बुनियादी उद्योगों की वृद्धि दर घटकर 1.3 प्रतिशत रह गई. इससे पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में यह 5.5 प्रतिशत रही थी. पिछले साल अगस्त में इन आठ बुनियादी क्षेत्रों के उत्पादन में 4.7 फीसद की वृद्धि दर्ज की गई थी. इन आठ सेक्टर्स की देश के कुल इंडस्ट्रियल आउटपुट (Industrial Output में करीब 40 फीसद का योगदान होता है.


ये भी पढ़ें: इन वजहों से सोना आज इतना हुआ महंगा, जानिए 10 ग्राम का भाव
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज