लाइव टीवी

खुशखबरी! किसानों की आय दोगुनी करने के लिए मोदी सरकार ने उठाया बड़ा कदम

News18Hindi
Updated: November 3, 2019, 7:29 PM IST
खुशखबरी! किसानों की आय दोगुनी करने के लिए मोदी सरकार ने उठाया बड़ा कदम
2020 तक किसानों की आय दोगुनी करने के लिए सरकार की तैयारी

साल 2020 तक किसानों की आय दोगुना करने के लक्ष्य को पूरा करने के​ लिए जर्मनी से भारत (India and Germany) तकनीक और प्रबंधन विशेषज्ञता की मदद लेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 3, 2019, 7:29 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्र सरकार देश के किसानों की आय दोगुनी (Farmers Income) करने के लिए लगातार कदम उठा रही है. खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने भी इस बात पर कई बार जोर दिया है कि साल 2022 तक किसानों की आय दोगुनी हो जाएगी. अब सरकार इसे अमली जामा पहनाने की हर संभव प्रयास कर रही है. कृषि मंत्रालय 2022 तक​ किसानों की आय दोगुनी करने के लिए सभी तरह की कवायद करना शुरू कर दिया है.

जर्मनी के मंत्री संग नरेंद्र सिंह तोमर ने की बैठक
इसी सिलसिले में जर्मनी ने भारतीय किसानों की आय दोगुनी करने के लिए अपनी तकनीक और प्रबंधन विशेषज्ञता से मदद करने की पेशकश की है. बीते 1 नवंबर को जर्मन की खाद्य और कृ​षि मंत्री जूलिया क्लोकनर (Julia Klokner) ने भारत के कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Toman) के साथ बैठक की है. इस बैठक में जूलिया क्लोकनर ने कहा कि जर्मनी के पास मशीनीकरण और फसल कटाई के बाद से प्रबंधन की विशेषज्ञता है, जो भारत में किसानों की आय दोगुनी करने के लिए अहम भूमिका निभा सकता है.

ये भी पढ़ें: भारतीय जहाजों पर बैन होंगी आलू चिप्स की पैकेट व बोतलें, जानिए क्यों इस दिन से लागू होगा ये नियम

  

उत्पादन पर लागत कम करने की कोशिश
इस बैठक में दोनों मंत्रियों ने कृषि बाजार विकास सहयोग से संबंधित संयुक्त​ घोषणापत्र पर हस्ताक्षर भी किया. बैठक के दौरान नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि भारत ने 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य रखा है. उन्होंने कहा, 'किसानों की आय दोगुनी करने के लिए उत्पादन में वृ​द्धि करने के साथ—साथ लागत कम करने, प्रतिस्पर्धी बाजार बनाने और कृषि के लिए मूल्य श्रृंखला को मजबूत करने पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है.'
Loading...



2020 तक कृषि उत्पादों का नियार्त 60 अरब डॉलर तक पहुंचाने का लक्ष्य
उन्होंने कहा कि भारत ने कृषि नियार्त नीति 2018 के अंतर्गत अपने कृषि उत्पादों का निर्यात 2022 तक दोगुना करते हुए 60 अरब डॉलर तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा है. दोनों मंत्रियों ने कहा कि दोनों देशों ​के लिए कृषि प्राथमिक क्षेत्र है. उन्होंने मशीनीकरण, फसल कटाई के बाद प्रबंधन, आपूर्ति श्रृंखला, बाजार तक पहुंच, निर्यात, खाद्य सुरक्षा, प्रयोगशालाओं की स्थापना में सहयोग, खाद्य जांच कार्यशाला आदि विषयों पर भी विचार-विमर्श किया.

ये भी पढ़ें: खुशखबरी! अब बिना लाइन में लगे घर बैठे ऐस लाइफ सर्टिफिकेट जमा कर सकते हैं पेंशनभोगी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 3, 2019, 5:51 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...