Home /News /business /

अमेरिका के आगे झुका भारत, ईरान से तेल खरीदने में करेगा कमी- रिपोर्ट

अमेरिका के आगे झुका भारत, ईरान से तेल खरीदने में करेगा कमी- रिपोर्ट

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत निक्की हेली

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत निक्की हेली

अमेरिका ने भारत, चीन सहित सभी देशों से ईरान से कच्चे तेल का आयात चार नवंबर तक बंद करने को कहा है. ऐसा न करने पर वहां से तेल मंगाने वाले वाले देशों के खिलाफ उसने आर्थिक प्रतिबंध लगाने की धमकी दी है.

    अमेरिका के दबाव के चलते भारत ईरान से तेल खरीदने में कटौती करने की तैयारी में है. सूत्रों के मुताबिक तेल मंत्रालय ने ऑयल रिफाइनरी से कहा है कि वो मुश्किल दौर के लिए तैयार रहे. इस बात के संकेत मिल रहे हैं कि भारत नवंबर महीने से ईरान से तेल आयात नहीं करेगा या इसमें कमी लाएगा.

    दरअसल अमेरिका ने भारत, चीन सहित सभी देशों से ईरान से कच्चे तेल का आयात चार नवंबर तक बंद करने को कहा है. ऐसा न करने पर वहां से तेल मंगाने वाले वाले देशों के खिलाफ उसने आर्थिक प्रतिबंध लगाने की धमकी दी है.

    भारत ने कहा है कि वो अमेरिका द्वारा लगाए गए बैन को नहीं मानता है और सिर्फ यूएन के प्रतिबंधों का पालन करता है. चीन के बाद भारत, ईरान से सबसे ज्यादा तेल खरीदता है. लेकिन इंडस्ट्रीज से जुड़े सूत्रों ने कहा कि अमेरिकी वित्तीय प्रणाली के संपर्क में आने के लिए भारत को कार्रवाई करने के लिए मजबूर होना पड़ सकता है. बता दें कि चीन के बाद ईरानी तेल का सबसे बड़ा खरीदार भारत है.

    सूत्रों के मुताबिक तेल मंत्रालय ने गुरुवार को  रिफाइनरी कंपनी के साथ एक बैठक की. इसमें ईरान से तेल न खरीदने की स्थिति में विकल्प तलाशने के लिए कहा गया है. मौजूदा हालात पर नज़र रखने वाले एक सूत्र ने कहा, ''भारत ने किसी भी हालात के लिए ऑयल रिफाइनरी कंपनी को तैयार रहने के लिए कहा है. क्योंकि ऐसे हालात बन रहे हैं कि या तो तेल के आयात में कमी आएगी या फिर कोई आयात होगा ही नहीं''

    इससे पहले जब भी प्रतिबंध लगा है भारत ने ईरान से तेल आयात करना बंद नहीं किया है. हालांकि यूरोपीय और अमेरिकी प्रतिबंधों के कारण शिपिंग, बीमा और बैंकिंग के क्षेत्र दिक्कतें आ रही थी इसलिए आयात में थोड़ी कमी जरूर आई थी.

    इस बार हालात थोड़े अलग हैं. सूत्र ने कहा, " एक तरफ भारत, चीन और यूरोप है. जबकि दूसरी तरफ अमेरिका. इस वक्त हम वास्तव में नहीं जानते कि क्या करना है, लेकिन हमें किसी भी स्थिति का सामना करने के लिए खुद को तैयार रखना होगा."

    वाशिंगटन चाहता है कि ईरानी तेल खरीदार नवंबर से आयात बंद करे. जबकि संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत निक्की हेली ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ईरानी तेल पर निर्भरता कम करने के लिए कहा है. हेली इन दिनों दिल्ली में हैं. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मिलने से पहले हेली ने सेक्रेटरी ऑफ स्टेट (विदेश मंत्री) माइक पोम्पियो से बातचीत की थी.

    ये भी पढ़ें:

    मुंबई के रिहायशी इलाके में चार्टर्ड प्लेन क्रैश, राहगीर समेत पांच की मौत

    कारोबारी ने मुंबई के पब में लड़की पर उड़ाए करोड़ों रुपये! फिर चलाई गोली

     

    Tags: Iran oil Imports

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर