लाइव टीवी

भारत-चीन के बीच बिजनेस और इन्वेस्टमेंट मुद्दों पर बनी सहमति, होगा बड़ा फायदा

News18Hindi
Updated: October 12, 2019, 6:36 PM IST
भारत-चीन के बीच बिजनेस और इन्वेस्टमेंट मुद्दों पर बनी सहमति, होगा बड़ा फायदा
विदेश सचिव विजय गोखले ने बताया है कि राष्ट्रपति शी ने कहा कि चीन व्यापार घाटा कम करने के लिए ठोस कदम उठाने की खातिर तैयार है.

विदेश सचिव विजय गोखले ने बताया है कि राष्ट्रपति शी ने कहा कि चीन व्यापार घाटा कम करने के लिए ठोस कदम उठाने की खातिर तैयार है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 12, 2019, 6:36 PM IST
  • Share this:
चेन्नई. शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (China President xi Iinping)  के बीच हुई शिखर वार्ता में बिजनेस और इन्वेस्टमेंट (India China Trade Deficit) से जुड़े मुद्दों पर नया मैकेनिज्म सेट करने पर सहमति बन गई है. दोनों नेताओं ने तमिलनाडु के कोवलम स्थित ताज फिशरमैन कोव रिजॉर्ट में वन-टू-वन मीटिंग की. इसके बाद मोदी और जिनपिंग के बीच प्रतिनिधि स्तर पर चर्चा हुई. इसमें विदेश मंत्री एस जयशंकर और एनएसए अजीत डोभाल भी मौजूद रहे. चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग पीएम मोदी के साथ शिखर वार्ता के लिए शुक्रवार को करीब 24 घंटे के भारत दौरे पर आए. इसकी शुरुआत तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई से करीब 50 किलोमीटर दूर स्थित मामल्लापुरम में हुई. दोनों की इस प्रकार की पहली वार्ता पिछले साल वुहान में हुई थी. इसके बाद शनिवार दोपहर को चीनी राष्ट्रपति नेपाल के लिए रवाना हो गए.

व्यापार घाटा कम करने के लिए उठाए जाएंगे ठोस कदम- विदेश सचिव विजय गोखले ने बताया है कि राष्ट्रपति शी ने कहा कि चीन व्यापार घाटा कम करने के लिए ठोस कदम उठाने की खातिर तैयार है.

>> उन्होंने यह भी बताया कि दोनों देशों ने इस बात पर सहमति जताई कि व्यापार और निवेश संबंधी मुद्दों के लिए एक नयी प्रणाली स्थापित की जाएगी. चीन के राष्ट्रपति ने रक्षा सहयोग बढ़ाने की जरूरत के बारे में बात की.

ये भी पढ़ें-किसानों को बड़ा तोहफा देने जा रही सरकार, कमाई बढ़ने के साथ मिलेंगे ये लाभ

चीन, शी जिनपिंग, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भारत, तमिलनाडु, चेन्नई, जम्मू-कश्मीर, आर्टिकल 370, पाकिस्तान China, Xi Jinping, Prime Minister Narendra Modi, India, Tamil Nadu, Chennai, Jammu and Kashmir, Article 370, Pakistan

 

इन मुद्दों पर बनी सहमति
Loading...

>> विदेश सचिव विजय गोखले ने बताया कि दोनों नेताओं के बीच करीब छह घंटे तक बात हुई. चीन व्यापार घाटा कम करने के लिए कड़े कदम उठाने वाला है.

>> वह कारोबारी रिश्ते कायम करने के लिए गंभीर है. जिनपिंग और मोदी के बीच मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में भी साझेदारी और मार्केट में नौकरियां पैदा करने पर बात हुई.

>> जिनपिंग ने रक्षा क्षेत्र में संबंध बढ़ाने पर भी बात की. इससे दोनों देशों की सेनाओं के बीच विश्वास बढ़ेगा. रक्षा मंत्री जल्द ही चीन का दौरा करेंगे. इसका ऐलान किया जाएगा.

>> अगले साल चीन-भारत के बीच रिश्तों के 70 साल पूरे हो जाएंगे. इस मौके पर हम 70 तरह के कार्यक्रम करने पर विचार कर रहे हैं. हर हफ्ते भारत या चीन में इससे जुड़ा एक कार्यक्रम किया जाएगा.

भारत-चीन ने पर्यटन को बढ़ावा देने पर जोर दिया

>> गोखले के मुताबिक, प्रधानमंत्री मोदी ने दोनों देशों को पर्यटन पर जोर देने का प्रस्ताव रखा है. भारत की स्वतंत्रता के 75वें साल में हम अपने टूरिज्म के अपने पुराने स्तर को बढ़ाने की तरफ देखना होगा.

>> मोदी और जिनपिंग के बीच कैलाश मानसरोवर यात्रा पर भी बातचीत हुई. जिनपिंग ने इस पर सहमति जताई. प्रधानमंत्री ने तमिलनाडु और फुचियान प्रांत के बीच संबंध बढ़ाने पर भी जोर दिया. फुचियान में हाल ही में तमिल कलाकृतियां खोजी गई थीं.



>> इसके अलावा एक मंदिर भी खोजा गया. प्रधानमंत्री दक्षिण भारत और चीन के बीच रिश्ते आगे बढ़ाने के लिए इससे अहम माना. जैसे बौद्ध धर्म चीन और उत्तर भारत के लिए संबंधों की अहम वजह रहा.

>> विदेश सचिव ने कहा कि जिनपिंग ने अनौपचारिक बैठक के लिए प्रधानमंत्री मोदी को फिर से चीन आने का न्योता दिया है.

>> इसका समय बाद में तय किया जाएगा. मोदी ने न्योता स्वीकार किया है. दोनों नेताओं ने कूटनीतिक संचार बढ़ाने पर जोर दिया है.

>> इसके अलावा दोनों नेताओं के बीच व्यापार, निवेश और सेवाओं पर चर्चा के लिए नया मैकेनिज्म तैयार करने पर बात हुई.

>> चीन और भारत के बीच पीपुल-टू-पीपुल रिलेशन बढ़ाने पर जोर दिया गया. ताकि सीधे तौर पर दोनों देश के नागरिकों को फायदा पहुंचाया जा सके.

ये भी पढ़ें-यहां देखें भारत के 10 सबसे अमीरों की लिस्ट, जानिए उनकी कमाई के बारे में...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चीन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 12, 2019, 4:49 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...