देश के सबसे बड़े बैंक ने चीन से इम्पोर्ट कम करने का बताया ये तरीका!

देश के सबसे बड़े बैंक ने चीन से इम्पोर्ट कम करने का बताया ये तरीका!
एसबीआई ने बताया चीन से कैसे होगा आयात कम

SBI ने एक रिपोर्ट में कहा है कि चीन ने भारत में महंगे और सस्ते दोनों तरह के इम्पोर्ट में अपनी पैठ बना ली है. रिपोर्ट के मुताबिक, 59 चीनी ऐप (59 Chinese apps) को बैन करने के सरकार के फैसले से घरेलू आईटी सेक्टर (IT Sector) को अपनी क्षमताएं विकसित करने का मौका मिलेगा.

  • Share this:
मुंबई. भारत और चीन में सीमा विवाद के बीच देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने चीन से इम्पोर्ट करने का तरीका बताया है. एसबीआई (SBI) कहना है कि चीन से इम्पोर्ट कम करने के लिए भारत को काफी सोचसमझकर आगे बढ़ने की जरूरत है. SBI ने एक रिपोर्ट में कहा है कि चीन ने भारत में महंगे और सस्ते दोनों तरह के इम्पोर्ट में अपनी पैठ बना ली है. रिपोर्ट के मुताबिक, 59 चीनी ऐप (59 Chinese apps) को बैन करने के सरकार के फैसले से घरेलू आईटी सेक्टर (IT Sector) को अपनी क्षमताएं विकसित करने का मौका मिलेगा.

एसबीआई ने अपनी रिसर्च रिपोर्ट ईकोरैप (Ecowrap) में कहा है कि चीन ने भारत में महंगे और सस्ते दोनों तरह के इम्पोर्ट पर धीरे-धीरे अपनी मजबूत पैठ बना ली है. इसलिए हमें चीन पर इम्पोर्ट निर्भरता कम करने के लिए सोच-समझकर फैसला लेना होगा और हम अचानक इम्पोर्ट बंद नहीं कर सकते हैं. रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन ने भारत में सभी कैटेगरी के इम्पोर्ट में अपनी पकड़ मजबूत कर रही है. वह भारत को सस्ते विनिर्माण से लेकर महंगे कैपिटल और इलेक्ट्रिकल गुड्स तक का निर्यात कर रहा है.

यह भी पढ़ें- रोजमर्रा के सामानों पर अब MRP समेत 6 बातों को मोटे अक्षरों में लिखना अनिवार्य, नहीं तो सरकार लेगी सख्त एक्शन



चीन से ऐसे होगा मुकाबला
रिपोर्ट में कहा गया है कि सर्विसेज और मर्केंडाइज ट्रेड एक्सपोर्ट के आंकड़ों से पता चलता है कि भारत सर्विसेज के मोर्चे पर चीन का मुकाबला कर सकता है. टेलिकम्युनिकेशंस, कम्प्यूटर और इनफॉर्मेशन सर्विसेज में भारत का एक्सपोर्ट चीन से कहीं ज्यादा है. हालांकि चीन इसमें भी तेजी बढ़ रहा है और भारत को यहां अपनी रफ्तार बढ़ाने की जरूरत है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि सीमा पर टकराव के बाद अब चीन से आयात पर प्रतिबंध लगाने के बारे में व्यापक माहौल बना है. उसमें कहा गया है, भारत को कुछ ऐसे उत्पादों के आयात पर निश्चित तौर पर रोक लगाना चाहिये, जिनमें भारत के पास चीन की तुलना में बेहतर स्थिति है और जो घरेलू लघु, सूक्ष्म एवं मध्यम उपक्रमों (एमएसएमई) की मदद कर सकें. रिपोर्ट के अनुसार, भारत बहुत सारे उत्पादों के लिये चीन पर निर्भर है.

यह भी पढ़ें- LIC Mutual Fund में पैसा लगाना हुआ अब और आसान, घर बैठे eKYC कर लगा सकेंगे पैसा

उदाहरण के लिये, 1996-97 में 22 ऐसी श्रेणियां थीं, जिनमें भारत ने चीन से कुछ भी आयात नहीं किया था, लेकिन 2019-20 में इनका आयात का मूल्य लगभग 50 करोड़ डॉलर पर पहुंच गया. सुरक्षा कारणों से सरकार द्वारा चीन के 59 ऐप पर प्रतिबंध को लेकर रिपोर्ट में कहा गया है, यह स्थानीय प्रौद्योगिकी कंपनियों को ऐप विकसित करने के मौके प्रदान करता है, जो उनसे मुकाबला कर सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading