Home /News /business /

चीन को तगड़ा झटका! कोरोना संकट के बीच भारत ने घटा दिया इतना आयात

चीन को तगड़ा झटका! कोरोना संकट के बीच भारत ने घटा दिया इतना आयात

सरकार की इस स्कीम को मिलेगी कामयाबी तो इस क्षेत्र में चीन को पछाड़ देगा भारत

सरकार की इस स्कीम को मिलेगी कामयाबी तो इस क्षेत्र में चीन को पछाड़ देगा भारत

भारत ने सीमा विवाद को लेकर टकराव के बीच चीन (India-China Rift) से 24.51 फीसदी आयात (Import) घटा दिया है. वहीं, केंद्र सरकार ने आत्‍मनिर्भर भारत अभियान और मेक इन इंडिया के तहत घरेलू उत्‍पादन (Domestic Production) बढ़ाकर आयात पर निर्भरता को कम करने की कोशिशें तेज कर दी हैं. कोरोना संकट के बीच भारत ने चीन ही नहीं अमेरिका (US) समेत कई देशों से आयात घटाया है.

अधिक पढ़ें ...
    अनिल कुमार

    नई दिल्‍ली. लद्दाख सीमा विवाद को लेकर बनी टकराव की स्थिति के बीच भारत चीन (India-China Rift) को आर्थिक समेत हर मोर्चे पर तगड़ा जवाब दे रहा है. इसी कड़ी में भारत ने कोरोना काल में भी चीन से 24.51 फीसदी आयात (Import) घटा दिया है. अप्रैल-सितंबर 2020 के दौरान भारत ने चीन से 27377.55 मिलियन डॉलर का ही आयात किया. पिछले साल की इसी अवधि में भारत ने चीन से 36267.41 मिलियन डॉलर मूल्य के सामान का आयात किया था. सितंबर, 2019 की तुलना में सितंबर 2020 में भारत ने 10.15 फीसदी कम यानी 5787.61 मिलियन डॉलर मूल्य का सामान आयात किया. भारत के कुल आयात में चीनी सामानों (Chinese Goods) की हिस्सेदारी 18.41 फीसदी रहती है.

    चीन के अलावा इन देशों से भी कम हुआ आयात
    कोरोना संकट के बीच सरकार की ओर से आत्मनिर्भर भारत अभियान (AatmaNirbhar Bharat) और मेक इन इंडिया (Make in India) को धार देने की कोशिशें तेज हो गई हैं. पिछले साल के मुकाबले अप्रैल-सितंबर 2020 में अमेरिका (US) से 40.67 फीसदी आयात किया गया. वहीं, संयुक्त अरब अमीरात (UAE) से 41.86 फीसदी, हॉन्‍ग कॉन्‍ग (Hong Kong) से 23.81 फीसदी, सऊदी अरब (Saudi Arabia) से 52.33 फीसदी, इराक (Iraq) से 52.02 फीसदी, इंडोनेशिया से 26.92 फीसदी, कोरिया से 41.29 फीसदी, सिंगापुर से 37.53 फीसदी और जर्मनी से 39.58 फीसदी आयात ही किया गया. इसके अलावा जापान (Japan) से 35.21 फीसदी, ऑस्ट्रेलिया से 45.67 फीसदी, स्विट्जरलैंड से 70.92 फीसदी, रूस से 28.70 फीसदी, दक्षिण अफ्रीका से 43.35 फीसदी, ब्रिटेन से 48.34 फीसदी, कुवैत से 61.91 फीसदी कम आयात किया गया.

    ये भी पढ़ें- Gold की कीमतों में आई 5000 रुपये प्रति 10 ग्राम की गिरावट, अगले 48 घंटे में बदल जाएंगे समीकरण



    भारतीय अर्थव्यवस्था के पटरी पर लौटने के संकेत
    कोविड-19 संकट के बीच देश की अर्थव्यवस्था (Indian Economy) के पटरी पर लौटने के संकेत मिल रहे हैं. दरअसल, सितंबर 2020 में भारत ने 27.40 बिलियन डॉलर मूल्य के सामानों का निर्यात (Export) किया, जो सितंबर 2019 की तुलना में 5.27 फीसदी अधिक है. सितंबर 2019 में भारत ने 26.02 बिलियन डॉलर मूल्य के सामानों का निर्यात किया गया था.

    ये भी पढ़ें- किसानों को होगा बड़ा फायदा! अब इन देशों में भी पहुंचेगा भारत का चावल, रेलवे ने चलाई स्‍पेशल मालगाड़ी

    आत्मनिर्भर भारत अभियान का दिखा असर
    कोविड-19 संकट और लॉकडाउन के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने उद्योग जगत और एमएसएमई से आयातित वस्तुओं के देश में ही उत्पादन की अपील की थी. इसका असर अब दिखने लगा है. विभिन्‍न वस्तुओं के आयात में भारी कमी देखने को मिल रही है. सितंबर 2020 में भारत ने 19.60 फीसदी कम यानी 30.31 बिलियन डॉलर का आयात किया, जबकि सितंबर 2019 में भारत ने विभिन्‍न वस्तुओं का 37.69 बिलियन डॉलर का आयात किया था. इसकी वजह से सितंबर में व्यापार घाटा (Trade Deficit) घटकर 2.91 बिलियन डॉलर रह गया, जो सितंबर 2019 में 11.67 बिलियन डॉलर का था. दूसरे शब्‍दों में भारत के व्यापार घाटे में 75.06 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई.

    ये भी पढ़ें- 160 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से चलने वाला मेड इन इंडिया रेल इंजन तैयार, बेहद खास टेक्नोलॉजी का हुआ इस्तेमाल

    ये शीर्ष 5 आयात और निर्यात होने वाले सामान
    वैश्विक व्यापार में भारत अपनी हिस्सेदारी बढ़ाने में जुटा है. सितंबर 2019 के मुकाबले सितंबर 2020 में अनाज के निर्यात में 304.71 फीसदी का इजाफा दर्ज किया गया है. इसके अलावा लौह अयस्क 109.52 फीसदी, चावल 92.44 फीसदी, ऑयल मील्स 43.90 फीसदी और कार्पेट के निर्यात में 42.89 फीसदी बढ़ोतरी दर्ज की गई. वहीं, सिल्वर के आयात में 93.92 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई. इसके अलावा कॉटन कच्चा और वेस्ट 82.02 फीसदी, न्यूज प्रिंट 62.44 फीसदी, सोना 52.85 फीसदी और ट्रांसपोर्ट उपकरणों 47.08 फीसदी कम आयात किया गया.undefined

    Tags: Business news in hindi, India china border dispute, India-China border issue, India-china face-off, India-China Rift, Make in india, Manufacturing and exports

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर