चीन से भारत शिफ्ट होने लगीं कंपनियां! जर्मन कंपनी ने यूपी में लगाईं 2 जूता फैक्ट्रियां, हजारों लोगों को मिलेगा रोजगार

जर्मनी की फुटवेयर कंपनी वॉन वेलेक्‍स ने चीन से कारोबार समेटकर यूपी के आगरा में दो यूनिट्स शुरू कर दी हैं.
जर्मनी की फुटवेयर कंपनी वॉन वेलेक्‍स ने चीन से कारोबार समेटकर यूपी के आगरा में दो यूनिट्स शुरू कर दी हैं.

जर्मनी (Germany) की फुटवेयर कंपनी वॉन वेलेक्‍स (Von Wellex) ने उत्‍तर प्रदेश के आगरा (Agra) में जूते बनाने की दो यूनिट शुरू कर दी हैं. इनमें हर साल 50 लाख जोड़ी जूतों का प्रोडक्‍शन (Shoes Production) होगा. कंपनी उत्‍तर प्रदेश में तीन प्रोजेक्‍ट्स पर 300 करोड़ रुपये के निवेश की योजना (Investment Plan) पर काम कर रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 5, 2020, 6:51 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कोरोना संकट और लद्दाख सीमा विवाद को लेकर टकराव के बीच जर्मनी (Germany) की फुटवियर कंपनी वॉन वेलेक्स (Von Wellx) ने चीन (China) को तगड़ा झटका दिया है. वॉन वेलेक्‍स ने चीन से अपना कारोबार समेटकर भारत में उत्‍तर प्रदेश के आगरा (Agra) में अपनी दो जूता बनाने की यूनिट्स (Shoes Manufacturing Units) शुरू कर दी हैं. यूपी के अपर मुख्य सचिव (इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर एंड इंडस्‍ट्रीयल डेवलपमेंट) आलोक कुमार ने दोनों यूनिट्स का वर्चुअल उद्घाटन किया. इन यूनिट्स में 10,000 से ज्‍यादा लोगों को रोजगार (Employment) मिलने की उम्‍मीद है. अभी तक 2,000 लोगों को इन यूनिट्स में रोजगार मिल चुका है.

10 हजार से ज्‍यादा लोगों को रोजगार देगी वॉन वेलेक्‍स
वॉन वेलेक्‍स उत्‍तर प्रदेश में तीन परियोजनाओं पर करीब 300 करोड़ रुपये निवेश करने की योजना पर काम कर रही है. कंपनी का दावा है कि इससे 10 हजार लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा. आलोक कुमार ने कहा कि ये यूनिट्स सालाना 50 लाख जोड़ी जूतों का उत्पादन करेंगी. यूनिट्स की स्थापना आगरा के एक्सपोर्ट प्रमोशन इंडस्ट्रियल पार्क में भारत के इयाट्रिक इंडस्ट्रीज ग्रुप के साथ साझेदारी में की गई है. आलोक कुमार ने कहा कि सीएम योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व के कारण यह संभव हो सका है.

ये भी पढ़ें- बैंक ग्राहकों के लिए बड़ी खबर! लॉकडाउन में समय पर चुकाई थी EMI, आज से कैशबैक आना हुआ शुरू
जेवर और मथुरा में मैन्‍युफैक्‍चरिंग यूनिट्स हैं प्रस्‍तावित


आलोक कुमार ने कहा कि कोविड-19 के बाद के समय में यह एक अहम उपलब्धि है, जिसमें मात्र 5 महीने के भीतर निवेश-प्रस्ताव पर अमल किया गया और उत्पादन भी शुरू कर दिया गया है. वॉन वेलेक्‍स 10,000 वर्गमीटर क्षेत्रफल में जेवर (यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण) में दिसंबर, 2020 तक एक नई प्रोडक्‍शन यूनिट शुरू कर सकती है. वहीं, मथुरा के कोसी-कोटवान में 7.5 एकड़ में एक और मैन्‍युफैक्‍चरिंग यूनिट प्रस्तावित है. सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (MSME) राज्यमंत्री उदयभान सिंह ने कहा, 'खास बात यह है कि अब ग्‍लोबल कंपनियों ने चीन छोड़कर भारत आना शुरू कर दिया है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज