चीन के साथ सीमा पर तनाव बढ़ने से कमजोर हुआ भारतीय रुपया, आम आदमी पर होगा ये असर

चीन के साथ सीमा पर तनाव बढ़ने से कमजोर हुआ भारतीय रुपया, आम आदमी पर होगा ये असर
डॉलर के मुकाबले रुपये में आज काफी उतार-चढ़ाव देखने को मिला.

लद्दाख में संवेदनशील गलवान घाटी (Galwan Valley) में चीनी सैनिकों के साथ हुई हिंसक झड़प में सोमवार रात भारतीय सेना (Indian Army) का एक अधिकारी और दो जवान शहीद हो गए. इसके बाद आज डॉलर (Dollar) के मुकाबले रुपया (Rupee) 21 पैसे गिरकर 76.24 पर पहुंच गया, जो सोमवार को 76.03 रुपये पर बंद हुआ था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 16, 2020, 10:10 PM IST
  • Share this:
मुंबई. भारत और चीन (India-China) के बीच लद्दाख सीमा (Ladakh Border) पर काफी दिन से तनाव बना हुआ है. तनाव (Tension) कम करने के लिए दोनों देशों के बीच बातचीत भी चल रही है. इसी बीच सोमवार रात पश्चिमी लद्दाख की गलवान घाटी (Galwan Valley) में हुई हिंसक झड़प में भारतीय सेना का एक अधिकारी और दो जवान शहीद हो गए. सीमा पर जारी तनाव के बीच आज यानी मंगलवार को डॉलर (Dollar) के मुकाबले रुपये में तेज गिरावट देखने को मिली. दिन के कारोबार में रुपया (Rupee) कल के मुकाबले 21 पैसे गिरकर 76.24 तक पहुंच गया. रुपया सोमवार को डॉलर के मुकाबले बढ़त के साथ 76.03 पर बंद हुआ था.

रुपये में डॉलर के मुकाबले दिन के कारोबार में रही काफी उठापटक
डॉलर के मुकाबले रुपया मंगलवार को 75.77-76.24 के बीच ट्रेंड कर रहा था. वहीं, शेयर बाजारों (Indian Stock Market) में भी तगड़े इंट्रा-डे मुनाफे के बाद आखिरी समय में कारोबार सपाट रहा. आज रुपया डॉलर के मुकाबले मजबूती के साथ 75.89 पर खुला. इसके बाद ये मजबूत होता हुआ 75.77 पर पहुंच गया. पूंजी बाजार में विदेशी संस्‍थागत निवेशकों (FIIs) ने मुनाफावसूली नहीं की, क्‍योंकि उन्‍होंने सोमवार को 2,960.33 करोड़ रुपये के शेयर बेचे थे.

ये भी पढ़ें- नेपाली अर्थशास्त्री का बड़ा बयान, कहा- भारत पर निर्भर है हमारा देश, चीन कभी नहीं ले सकता उसकी जगह
कोरोना वायरस के कारण निवेशकों की धारणा कमजोर बनी हुई है


दुनियाभर में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामले लगातार बढ़ने के कारण निवेशकों की धारणा कमजोर बनी रही. अब तक दुनियाभर में कोविड-19 महामारी से 80 लाख से ज्‍यादा लोग संक्रमित (Infected) हो चुके हैं. वहीं 4.30 लाख से ज्‍यादा लोगों की गंभीर संक्रमण के कारण मौत हो चुकी है. भारत (Coronavirus in India) में ही संक्रमितों की संख्‍या 3.43 लाख से ज्‍यादा हो चुकी है. स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय (Health Ministry) के मुताबिक, गंभीर संक्रमण से मरने वालों की तादाद 9,900 से ज्‍यादा हो गई है.

ये भी पढ़ें:- LIC पॉलिसी खरीदने के लिए जरूरी बात, 30 जून तक घर बैठे पूरा कर लें ये काम

रुपये में गिरावट का देश और आम भारतीयों पर होगा सीधा असर
रुपये में गिरावट का सीधा असर देश की अर्थव्‍यवस्‍था पर पड़ता है. इससे आम आदमी की मुश्किलें भी बढ़ जाती हैं. दरअसल, भारत अपनी मांग का 80 फीसदी क्रूड ऑयल आयात करता है. वहीं, रोजमर्रा के जीवन में इस्‍तेमाल होने वाली काफी चीजें आयात की जाती हैं. ऐसे में अगर रुपया डॉलर के मुकाबले गिरता है तो आयात महंगा साबित होता है. इससे सरकार को विदेश से सामान मंगाने पर ज्यादा खर्च करना पड़ता है. वहीं, कच्चा तेल महंगा होने से पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ जाते हैं और देश के भीतर सामान के ट्रांसपोर्टेशन का खर्चा भी बढ़ जाता है. इसका असर बाजार में जरूरी सामानों की बढ़ती कीमतों यानी महंगाई के तौर पर नजर आता है.

ये भी पढ़ें:- पेट्रोल के बाद अब महंगा हुआ हवाई जहाज का ईंधन, बढ़ सकते है एयर टिकट के दाम
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading