इस भारतीय बिजनसमैन ने बढ़ाई अब चीन की टेंशन, China को लगाया 3000 करोड़ का भारी झटका

इस भारतीय बिजनसमैन ने बढ़ाई अब चीन की टेंशन, China को लगाया 3000 करोड़ का चूना

#BoycottChina की मुहिम अब रंग लाने लगी है. देश के बड़े-बड़े बिजनसमैन भी इस मुहिम से जुड़ने लगे हैं. बता दें कि विभिन्न क्षेत्रों में कारोबार करने वाली कंपनी JSW ग्रुप ने सीमा पर जारी तनाव के बीच चीन से 40 करोड़ डॉलर (करीब 3000 करोड़) के आयात को अगले 24 महीने में खत्म करने का फैसला किया है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. भारत और चीन के बीच गलवान घाटी में छिड़ी जंग (India-china clash) चीन को बहुत महंगी पड़ने वाली है. #BoycottChina की मुहिम अब रंग लाने लगी है. देश के बड़े-बड़े बिजनसमैन भी इस मुहिम से जुड़ने लगे हैं. बता दें कि विभिन्न क्षेत्रों में कारोबार करने वाली कंपनी JSW ग्रुप ने सीमा पर जारी तनाव के बीच चीन से 40 करोड़ डॉलर (करीब 3000 करोड़) के आयात को अगले 24 महीने में खत्म करने का फैसला किया है.

    मैनेजिंग डायरेक्टर ने ट्वीट कर दी जानकारी
    ग्रुप की सहयोगी इकाई JSW सीमेंट के मैनेजिंग डायरेक्टर पार्थ जिंदल ने कहा कि उन्होंने गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुए हालिया टकराव के कारण यह फैसला लिया है. 14 अरब डॉलर की कंपनी JSW ग्रुप का स्वामित्व पार्थ के पिता सज्जन जिंदल के पास है. यह ग्रुप इस्पात, ऊर्जा, सीमेंट और बुनियादी संरचना जैसे मुख्य क्षेत्रों में कारोबार करती है.

    ये भी पढ़ें:- अब मिलेगा सिर्फ कंफर्म टिकट, इन रूट पर चलेंगी प्राइवेट ट्रेनें, जानें सबकुछ



    सालाना 40 करोड़ डॉलर का चाइनीज आयात बंद
    पार्थ ने एक ट्वीट में कहा कि JSW ग्रुप चीन से सालाना 40 करोड़ डॉलर का आयात करता है. अब इसे बंद करने का फैसला किया गया है. उन्होंने #BoycottChina के साथ कहा कि चीन के सौनिकों द्वारा हमारे जवानों पर अकारण किया गया हमला आंखें खोलने वाला है और स्पष्ट कार्रवाई की जरूरत बताता है. हम (जेएसडब्ल्यू समूह) चीन से सालाना 40 करोड़ डॉलर का शुद्ध आयात करते हैं. हम इसे अगले 24 महीने में शून्य पर लाने का संकल्प लेते हैं. कंपनी के एक अधिकारी ने अनुमान लगाया कि कंपनी के इस्पात और ऊर्जा व्यवसाय के लिये 70-80 प्रतिशत आयात होता है, जिसमें मशीनरी और रख रखाव के उपकरण शामिल हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.