लाइव टीवी

लगातार दूसरे साल भी भारतीय लोगों को मिला सबसे सस्ता डेटा, जानिए कितना करना पड़ा खर्च

News18Hindi
Updated: December 2, 2019, 6:17 PM IST
लगातार दूसरे साल भी भारतीय लोगों को मिला सबसे सस्ता डेटा, जानिए कितना करना पड़ा खर्च
सबसे सस्त मोबाइल डेटा ऑफर करने वाला देश है भारत.

लगातार दूसरे साल भी सबसे कम प्रति GB मोबाइल डेटा खर्च (Per GB data Charge) करने वाले देशों में भारत पहले पायदान पर ​काबिज होने में सफल रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 2, 2019, 6:17 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. वित्तीय संकट (Financial Crisis) से गुजर रही देश की प्रमुख टेलिकॉम कंपनियां (Telecom Companies) भले ही कॉल रेट्स और टैरिफ चार्जेज बढ़ाने का ऐलान कर चुकी हैं. लेकिन, भारत लगातार दूसरे साल भी प्रति GB मोबाइल डेटा चार्ज (Per GB data Charge) के मामले में दुनियाभर में शीर्ष पायदान पर ​काबिज होने में सफल रहा है. यह लगातार दूसरा साल है जब प्रति GB मोबाइल डेटा खर्च के मामले में भारत पहले पायदान पर है. इसके पहले साल 2018 में भी भारत दुनिया में सबसे सस्ता मोबाइल डेटा ऑफर करने वाला देश था.

1 GB डेटा के लिए भारत में खर्च करने होते हैं केवल इतने रुपये
दुनियाभर के देशों में ब्रॉडबैंड, TV पैकेज और मोबाइल प्लान्स के बारे में स्टडी करने और उन पर रिपोर्ट बनाने वाली कंपनी cable.co.uk ने साल 2019 के लिए सबसे सस्ता मोबाइल डेटा ऑफर करने वाले देशों की लिस्ट जारी की है. इस लिस्ट में सबसे पहले पायदान पर भारत है. इसके मुताबिक, साल 2019 में भारतीय लोगों को एक जीबी डेटा इस्तेमाल करने के​ लिए औसतन 0.26 डॉलर यानी मात्र 18.64 रुपये ही खर्च करने पड़े हैं. इस बारे में टेलिकॉम मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravishankar Prasad) ने भी ट्विट कर जानकारी दी.

ये भी पढ़ें: नहीं मिलेगी पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से राहत! वित्त मंत्री ने कही ये बात

साल 2019 के लिए भारत के बाद इस लिस्ट में दूसरे पायदान पर रूस है, जहां एक जीबी डेटा के लिए 0.91 डॉलर ही खर्च करना होता है. भारत और रूस ही ऐसे दो देश हैं, जहां 1 जीबी डेटा के लिए 1 डॉलर से भी कम खर्च करना पड़ा है. इस लिस्ट में तीसरे पायदान पर इटली है, जहां 1 जीबी डेटा के लिए लोगों को 1.73 डॉलर खर्च करना पड़ा.



टॉप 15 की लिस्ट में शॉमिल हैं ये देश
इस लिस्ट में टॉप 15 देशों की बात करें तो चौथे पायदान पर नाइजीरिया, पांचवें पायदान पर ऑस्ट्रेलिया, छठे पायदान पर फ्रांस, सातवें पायदान पर ब्राजील, आठवें पायदान पर स्पेन, नौवे पायदान पर यूनाइटेड किंगडम और दसवें पायदान पर जर्मनी है. इसके बाद क्रमश: चीन, कनाडा, अमेरिका, दक्षिण कोरिया और स्विटजरलैंड का नाम शामिल है.

ये भी पढ़ें: PMC बैंक घोटाला: सरकार ने खाताधारकों को दी बड़ी राहत, इन हालात में दोगुनी निकाल सकते हैं राशि

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 2, 2019, 6:05 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर