Home /News /business /

india exported 16 lakh tonnes wheat to several countries since ban dggt nodvkj

Indian Wheat Export: कई देशों को रोटी खिला रहा भारत, बैन के बाद भी 16 लाख टन गेहूं निर्यात

भारत गेहूं का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक है

भारत गेहूं का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक है

डीजीएफटी (DGFT) ने बैन के आदेश के बाद वैध लेटर ऑफ क्रेडिट वाले निर्यातकों को 16 लाख टन गेहूं के लिए रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (RC) जारी किया है.

नई दिल्ली. वाणिज्य मंत्रालय के तहत आने वाले डायरेक्टरेट जनरल ऑफ फॉरेन ट्रेड यानी डीजीएफटी (DGFT) ने 13 मई, 2022 को गेहूं के निर्यात पर रोक लगाने का फैसला किया था. हालांकि गेहूं निर्यात पर पाबंदियां लगाने के बाद भी भारत जरूरतमंद देशों को इनकी आपूर्ति कर रहा है.

डीजीएफटी ने निर्यात पर रोक के आदेश के बाद 16 लाख टन गेहूं के निर्यात के लिए रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (Registration Certificates) जारी किए हैं. एक अधिकारी ने यह जानकारी देते हुए कहा कि जिन निर्यातकों के पास रोक के आदेश से पहले की तारीख के वैध एल/सी थे, उन्हें गेहूं के निर्यात की अनुमति दी गई है. सरकार उन निर्यातकों को गेहूं निर्यात की अनुमति दे रही है जिनके पास 13 मई से पहले के अपरिवर्तनीय एल/सी (Irrevocable Letters of Credit) हैं. ऐसे निर्यातक जिनके पास वैध एल/सी है उन्हें अपनी खेप के निर्यात के लिए रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट हासिल करने के लिए डीजीएफटी के क्षेत्रीय अधिकारियों के पास रजिस्ट्रेशन कराना होता है.

गेहूं की आपूर्ति में रूस-यूक्रेन का हिस्सा करीब 25 फीसदी
रूस-यूक्रेन युद्ध की वजह से वैश्विक बाजारों में गेहूं की आपूर्ति बुरी तरह प्रभावित हुई है. दोनों ही देश गेहूं के बड़े उत्पादकों में हैं. वैश्विक स्तर पर गेहूं की आपूर्ति में रूस-यूक्रेन का हिस्सा करीब 25 फीसदी का है.

अब तक 16 लाख टन के लिए रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट जारी
अधिकारी ने बताया कि अब तक करीब 16 लाख टन गेहूं निर्यात के लिए आरसी जारी किया गया है. अधिकारी ने कहा कि रूस ने तुर्की के रास्ते गेहूं का निर्यात शुरू कर दिया है. इससे वैश्विक बाजारों में इसकी कीमतों में स्थिरता आने की उम्मीद है.

FY22 में भारत का गेहूं निर्यात 2.05 अरब डॉलर का रहा
वित्त वर्ष 2021-22 में मूल्य के हिसाब से भारत का गेहूं निर्यात 2.05 अरब डॉलर का रहा था. बीते वित्त वर्ष में भारत के कुल निर्यात में बांग्लादेश की हिस्सेदारी करीब 50 फीसदी थी.

ये भी पढ़ें- Business Idea: काले गेहूं से कर सकते हैं बंपर कमाई, जानिए कैसे होती है इसकी खेती

भारत गेहूं का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक 
बीते वित्त वर्ष में भारत से गेहूं खरीदने वाले टॉप 10 देशों में बांग्लादेश, नेपाल, संयुक्त अरब अमीरात, श्रीलंका, यमन, अफगानिस्तान, कतर, इंडोनेशिया, ओमान और मलेशिया शामिल हैं. भारत गेहूं का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक है लेकिन वैश्विक गेहूं निर्यात में भारत की हिस्सेदारी 1 फीसदी से भी कम है. साल 2020 में दुनिया में गेहूं के कुल उत्पादन में भारत का हिस्सा 14 फीसदी रहा था. भारत सालाना करीब 10.75 करोड़ टन गेहूं का उत्पादन करता है.

Tags: Export, Wheat

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर