पिछले 6 महीनों में सरकारी खजाने में हुआ 32.29 अरब डॉलर का इजाफा, RBI ने जारी किए आंकड़े

foreign exchange reserves

foreign exchange reserves

विदेशी मुद्रा भंडार (India's foreign exchange reserves) पिछले छह महीने में यानी 31 मार्च, 2021 तक यह बढ़कर 576.98 अरब डॉलर हो गया है.

  • Share this:

नई दिल्ली: भारत का विदेशी मुद्रा भंडार (India's foreign exchange reserves) पिछले कुछ महीनों से लगातार बढ़ रहा है. पिछले छह महीने में यानी 31 मार्च, 2021 तक यह बढ़कर 576.98 अरब डॉलर हो गया है जो पिछले साल सितंबर के अंत में 544.69 अरब डॉलर था. कुल मुद्रा भंडार का अहम हिस्सा यानी विदेशी मुद्रा परिसंपत्ति (FCA), मार्च 2021 के अंत में बढ़कर 536.693 अरब डॉलर हो गयी, जो इससे पहले सितंबर, 2020 में 502.162 अरब डॉलर थी.

आपको बता दें इसी साल 29 जनवरी को समाप्त हुए सप्ताह के दौरान 590.185 अरब डॉलर के रिकॉर्ड स्तर पर आ गया था. भुगतान संतुलन के आधार पर विदेशी मुद्रा भंडार में, अप्रैल-दिसंबर 2020 के दौरान 83.9 अरब डॉलर का इजाफा हुआ, जबकि एक साल पहले की अवधि में यह वृद्धि 40.7 अरब डॉलर थी.

यह भी पढ़ें: Gold Price: 17 मई से खरीदें सस्ता सोना, केंद्र सरकार लेकर आई खास ऑफर, चेक करें कितनी मिलेगी छूट

रिपोर्ट में दी जानकारी
रिपोर्ट में कहा गया है कि मूल्य के संदर्भ में, कुल विदेशी मुद्रा भंडार में सोने की हिस्सेदारी सितंबर 2020 के लगभग 6.69 प्रतिशत से घटकर 31 मार्च, 2021 में 5.87 प्रतिशत रह गई. सोने का भंडार मार्च 2021 के अंत में 33.88 अरब डॉलर था जो सितंबर 2020 में 36.429 अरब डॉलर था.

रिजर्व बैंक ने जारी किए आंकड़े

भारत के विदेशी मुद्रा भंडार ने पिछले वर्ष जून में पहली बार 500 अरब डॉलर को पार किया था. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की तरफ से दी जानकारी के मुताबिक, समीक्षाधीन सप्ताह के दौरान विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियों (FCA) में 4.413 अरब डॉलर की वृद्धि हुई थी. एफसीए में डॉलर समेत यूरो, पाउंड और येन जैसी मुद्राओं को भी शामिल किया जाता है, हालांकि इनके मूल्य की गणना डॉलर के भाव में ही की जाती है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज