GDP ग्रोथ पर पूर्व पीएम मनमोहन सिंह के बयान को सरकार ने किया खारिज, कहीं ये बातें

News18Hindi
Updated: September 3, 2019, 7:12 PM IST
GDP ग्रोथ पर पूर्व पीएम मनमोहन सिंह के बयान को सरकार ने किया खारिज, कहीं ये बातें
GDP ग्रोथ पर पूर्व पीएम मनमोहन सिंह के बयान को सरकार ने किया खारिज, कहीं ये बातें

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की ओर से अर्थव्यवस्था (Indian GDP) को लेकर लगाए आरोपों को सरकार ने सिरे से खारिज कर दिया है. सरकार ने कहा है कि पूर्व पीएम मनमोहन सिंह (Former Prime Minister Manmohan Singh) का विश्लेषण समर्थन करने के लायक नहीं है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 3, 2019, 7:12 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की ओर से अर्थव्यवस्था (Indian GDP) को लेकर लगाए आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए कहा है कि पूर्व पीएम मनमोहन सिंह (Former Prime Minister Manmohan Singh) के विश्लेषण का समर्थन नहीं करते हैं. पूर्व पीएम की टिप्पणी पर पूछे गए सवाल के जवाब में केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावेड़कर  ने यह बात कही है. उन्होंने कहा कि जिस समय मनमोहन सिंह की सरकार का कार्यकाल पूरा हुआ, उस समय देश की अर्थव्यवस्था 11वें स्थान पर थी, लेकिन अब देश दुनिया की तीन सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की तरफ आगे बढ़ रहा है.

पूर्व प्रधानमंत्री ने क्या कहा-पूर्व प्रधानमंत्री ने एक बयान में कहा था कि पहली तिमाही में 5 फीसदी की जीडीपी वृद्धि दर दर्शाती है कि हम आर्थिक नरमी के एक लंबे दौर में फंए गए हैं.

ये भी पढ़ें-10 सरकारी बैंकों का विलय: इस बैंक को लेकर हुआ बड़ा ऐलान, आप पर होगा ये असर



सरकार ने दी सफाई- केंद्रीय मंत्री ने कहा, 'एक जिम्मेदार सरकार होने के नाते हम इस मुद्दे पर ध्यान दे रहे हैं. जीएसटी की प्रक्रिया के दौरान भी हमने यह देखा था. जीएसटी काउंसिल हर महीने मीटिंग करती है और जरूरी फैसले लेती है और यह ठीक ढंग से चल रहा है. जनता की सहयोगी सरकार इसी तरह से काम करती हैं. हम पूरी तरह से आश्वस्त हैं कि देश की अर्थव्यस्था फिर से चमकेगी और अच्छा प्रदर्शन करेगी.



>> भारत का सकल घरेलू उत्पाद यानी जीडीपी वित्त वर्ष 2019-20 की पहली तिमाही में बीते वर्ष की इसी अवधि की तुलना में कमज़ोर रहा है.
Loading...

>> साल 2019-20 की पहली तिमाही के आंकड़े जारी किये गए हैं. जिनके अनुसार आर्थिक विकास दर 5 फीसदी रह गई है. बीते वित्तीय वर्ष की इसी तिमाही के दौरान विकास दर 8 प्रतिशत थी. वहीं पिछले वित्तीय साल की आख़िरी तिमाही में ये विकास दर 5.8 फीसदी थी.

ये भी पढ़ें-SBI ग्राहकों को देगी ये नई सर्विस, फ्री मिलेगा 2 लाख का बीमा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 3, 2019, 6:30 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...